jamshedpur-company-good-news-तार कंपनी कर्मियों को इनसेंटिव, जेम्को में मिला प्रोत्साहन राशि, टीएसडीपीएल में नये फार्मूला पर अटका बोनस

Advertisement
Advertisement

तार कंपनी कर्मियों को इनसेंटिव, जेम्को में मिला प्रोत्साहन राशि

Advertisement
Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : टाटा स्टील की अनुषंगी इकाई तार कम्पनी आइएसडब्ल्यूपी के कर्मचारियों को तीन माह का इनसेंटिव और जेम्को कर्मचारियों को प्रोत्साहन राशि भेज दिया गया है। आइएसडब्ल्यूपी के वायर मिल के कर्मचारियों को जून, जुलाई और अगस्त माह का करीब 12 हजार रुपया और रॉड मिल के कर्मचारियों को जुलाई और अगस्त माह का इनसेंटिव के रूप में 9 से 10 हजार रुपया बैंक खाते में भेज दिया गया हस।

Advertisement

जेम्को में मिला प्रोत्साहन भत्ता

Advertisement

जेम्को कंपनी में इंसेटिव बोनस की जगह कर्मचारियों को प्रोत्साहन राशि दिया जाता है। जेम्को में कोरोना की वजह से कर्मचारियों को जून, जुलाई और अगस्त तीन महीने से प्रोत्साहन राशि नहीं मिला था। गुरुवार को दोनों ही कंपनियों के कर्मचारियों के बैंक खाते में प्रबंधन की तरफ से इनसेंटिव और प्रोत्साहन भत्ता भेज दिया गया।

Advertisement

टीएसपीडीएल प्रबन्धन ने दिया नये फॉर्मूले का प्रस्ताव, यूनियन ने फिर कहा पुराना और नया दोनो फार्मूला पर राशि बताये

Advertisement

जमशेदपुर टीएसडीपीएल में बोनस वार्ता फार्मूला पर अटक गया है। प्रबन्धन ने नये फॉर्मूले पर बोनस देने का प्रस्ताव दिया तो यूनियन ने फिर कहा नया और पुराना दोनो पर पहले बोनस की राशि बताये। गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से प्रबन्धन यूनियन की बैठक हुई जिसमें प्रबंधन की तरफ से प्रस्ताव दिया गया कि पुराना फॉर्मूले का टर्म भी खत्म हो गया है और नए फॉर्मूले से बोनस करना चाहिए। प्रबन्धन के नये फॉर्मूले को लेकर यूनियन अध्यक्ष राकेश्वर पांडेय ने बताया कि इस पर विस्तार से चर्चा की आवश्यकता है। उन्होंने कहा बोनस पर नए और पुराने दोनो फॉर्मूले पर स्टडी करने के बाद ही निर्णय लिया जा सकता है।

Advertisement

बैठक में ये थे उपस्थित

Advertisement

बैठक में प्रबन्धन की तरफ से वरीय महाप्रबंधक एचआरआईआर अंनत रामकृष्ण, चीफ एचआर आईआर शुभमय मजूमदार, मुकुंद, हेड शेखर झा, यूनियन की तरफ से अध्यक्ष राकेश्वर पांडेय, महामंत्री अमन सिंह, दिनेश कुमार, सचिदानन्द सिंह, संजीव सिंह, त्रिदेव, एस राणा समेत सभी पदाधिकारी उपस्थित थे।

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply