JAMSHEDPUR : कदमा जुस्को स्कूल में कुडी मोहंती ऑडिटोरियम समर्पित, अग्निकांड में मारी गयी बेटी के नाम पर निरुप व रुपा मोहंती ने दिया यादगार दान

Advertisement
Advertisement
दिवंगत बेटी की पेंटिंग का अनावरण करते टाटा स्टील के एमडी टीवी नरेंद्रन, पिता निरुप मोहंती व मां रुपा मोहंती के साथ दादी.

जमशेदपुर : टाटा स्टील की शत-प्रतिशत सब्सिडियरी वाली कंपनी जुस्को के जेम्स फाउंडेशन द्वारा संचालित कदमा जुस्को स्कूल में नया कुडी मोहंती ऑडिटोरियम को गुरुवार को समर्पित किया गया. एक भव्य समारोह के दौरान टाटा स्टील के एमडी टीवी नरेंद्रन ने इसको समर्पित किया. इस भव्य ऑडिटोरियम को टाटा स्टील के पूर्व एचआर अधिकारी और झामुमो से एक बार लोकसभा चुनाव लड़ चुके कारपोरेट हस्ती निरुप मोहंती और उनकी पत्नी रुपा मोहंती ने अपने खर्च पर तैयार किया है. कुडी मोहंती निरुप मोहंती और रुपा मोहंती की बेटी थी, जो टाटा स्टील में संस्थापक दिवस के मौके पर हुए अग्निकांड में मारी गयी थी. कुडी मोहंती की याद में दंपत्ति ने इस ऑडिटोरियम को तैयार किया है.

Advertisement
Advertisement
बने भव्य ऑडिटोरियम में मौजूद अतिथिगण.

इसको समर्पित करने के बाद टाटा स्टील के एमडी टीवी नरेंद्रन ने निरुप मोहंती और रुपा मोहंती को जिंदादिल जोड़ा बताया और कहा कि अपनी बेटी को याद करने का इससे बेहतर तरीका नहीं होता. इस ऑडिटोरियम में बच्चों के सपने उड़ान लेंगे और बच्चे यहां तैयार होंगे और इससे ज्यादा यादगार लम्हा कोई नहीं हो सकता है. इस मौके पर जेम्स फाउंडेशन की चेयरपर्सन सह जुस्को के एमडी तरुण डागा, रुचि नरेंद्रन को इसकी चाभी को समर्पित किया गया. इस मौके पर रुपा मोहंती और निरुप मोहंती ने अपनी दिवंगत बेटी को याद किया. इस मौके पर निरुप मोहंती की मां भी मौजूद थी.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
बेटी की याद में गाना प्रस्तुत करती मां रुपा मोहंती लाल साड़ी में सबके किनारे और अन्य.

कार्यक्रम में टाटा स्टील के पूर्व एमडी डॉ जेजे इरानी, डेजी इरानी, टाटा पिगमेंट के एमडी शुभंजीत चौधरी, तार कंपनी के एमडी निरजकांत समेत तमाम कंपनियों के एमडी, टाटा स्टील के वीपी एचआरएम सुरेश दत्त त्रिपाठी समेत कई अन्य लोग मौजूद थे. इस मौके पर निरुप मोहंती व रुपा मोहंती ने अपने अनुभव को साझा किया और अपनी बेटी के साथ गुजारे भावुक पल को याद किया और कहा कि वे लोग चाहते है कि उनकी जैसी बेटियां और बेटे इस ऑडिटोरियम का आनंद लेते रहे और इसमें अपने सपने को उड़ान दे सके.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement