tata-cummins-issue-टाटा कमिंस में गरमा रहा है माहौल, इंटक ने मुद्दा बनाया, राष्ट्रीय स्तर से लेकर सड़क पर आंदोलन की तैयारी, जमशेदपुर कांग्रेस अध्यक्ष विजय खां ने बोला कंपनी पर जुबानी हमला, कहा-”मुर्गी चोरी पर फांसी की सजा” दे दी गयी है, बरखास्तगी का फैसला वापस लें

Advertisement
Advertisement
स्वर्गीय राजेंद्र सिंह के साथ उनके बेटे और टाटा कमिंस यूनियन अध्यक्ष अनूप सिंह.

जमशेदपुर : टाटा कमिंस में अरुण सिंह समेत अन्य यूनियन नेताओं को बरखास्त करने का मुद्दा गरमा गया है. इसको लेकर राष्ट्रीय मजदूर संगठन इंटक ने आंदोलन का रुख अख्तियार कर लिया है. इंटक के पूर्व राष्ट्रीय महासचिव स्वर्गीय राजेंद्र सिंह के पुत्र अनूप सिंह यहां के यूनियन के अध्यक्ष है, जिनके आग्रह पर भी प्रबंधन कोई सकारात्मक कदम नहीं उठा रही है. इसको देखते हुए अब नया दबाव बनाया जा रहा है. इसके तहत कांग्रेस के जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष और इंटक के राष्ट्रीय संगठन सचिव विजय खां ने एक पत्र टाटा कमिंस के प्लांट हेड मनीषा झा को लिखा है. उन्होंने अपने पत्र में कहा है कि कंपनी द्वारा आयोजित एक भोज में मारपीट हुई थी. एक ही मामले में दो लोगों को दो दिनों के लिए सस्पेंड कर दिया गया जबकि एक आदमी को बरखास्त कर दिया गया. इससे यह बात साबित हो रही है कि सजा देने में मुंह देखा-देखी की गयी है. टाटा के एथिक्स के खिलाफ यह काम किया गया है. टाटा के एथिक्स के मुताबिक, मान्यता प्राप्त यूनियन के साथ वार्ता कर कोई बेहतर रास्ता निकाला जाता है. लेकिन इस मामले में कर्मचारी और यूनियन के लोग दो से तीन दिनों तक कंपनी प रिसर में ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने साथी की बरखास्तगी के खिलाफ बैठे रहे थे. इसके बावजूद यूनियन अध्यक्ष अनूप सिंह ने आग्रह किया कि यूनियन के आग्रह को मानें और फैसला पर पुर्नविचार करें, लेकिन ऐसा नहीं किया गया. इसको अनसुना कर दिया गया. इससे यह प्रतीत होता है कि आपकी प्रबंधन हठधर्मिता पर उतर आयी है. यह कार्रवाई उसी तरह की है कि मुर्गी चोरी की सजा के लिए फांसी पर लटकाने जैसा है. इस कारण प्रबंधन से विजय खां ने अपील की है कि तत्काल बरखास्तगी को वापस लें और औद्योगिक शांति बरकरार रखने में सहयोग करें.

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर कांग्रेस महामंत्री ने दिया बयान
जमशेदपुर जिला महामंत्री चंदन पांडेय ने प्रेस वयान जारी करते हुए बताया कि टाटा कमिंस कम्पनी में प्रबंधन द्वारा मजदूरों एवं यूनियन पदाधिकारी को प्रताड़ित करने और नौकरी से बर्खास्त करने के मामले में होने वाले आंदोलन के विषय में जिला अध्यक्ष विजय खॉ के साथ चर्चा की है. इसमें कोविड-19 के मद्देनजर सरकार के आदेश का अनुपालन करते हुए इस संबंध में एक प्रतिनिधिमण्डल डीएलसी व प्रशासनिक पदाधिकारी से मिलकर कानून की जानकारी प्राप्त करेगा. नियम के आलोक में टाटा कमिंस कम्पनी के विरुद्ध जोरदार एवं ऐतिहासिक आंदोलन इंटक के राष्ट्रीय सचिव, राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर यूनियन के अध्यक्ष सह टाटा कमिंस इंटक के अध्यक्ष अनूप सिंह की अगुवाई में होने वाले आंदोलन को हर हाल में सफल बनाया जाएगा.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply