tata-motors-टाटा मोटर्स के कांवाई चालकों का सब्र टूटा, जिला मुख्यालय पहुंचकर किया प्रदर्शन

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : वर्ल्ड क्लास कम्पनी टाटा मोटर्स के कन्वाई चालकों के सब्र का बांध टूटता नजर आने लगा है. एक तो पूर्व से ही ये कन्वाई चालक न्यूनतम मजदूरी की मांग को लेकर टाटा मोटर्स के खिलाफ लगातार आंदोलित रहे हैं. वहीं अब कोरोना काल में इन कन्वाई चालकों के समक्ष भुखमरी की स्थिति आन पड़ी है. जहां लगातार टाटा मोटर्स प्रबंधन से लेकर जिला प्रशासन और श्रम अधीक्षक तक ये कन्वाई चालक लॉकडाउन की अवधि का वेतन दिए जाने की फरियाद लगा चुके हैं, लेकिन अब तक नतीजा सिफर ही रहा है. वहीं कन्वाई चालक आज एक बार फिर से जिला मुख्यालय पहुंचे और अपनी फरियाद जिला मुख्यालय के बाहर लगी शिकायत पेटी में जमा करा दिया है. साथ ही इसकी एक कॉपी जिला पुलिस अधीक्षक को भी सौंपा है. जिसमें इन्होंने जिला प्रशासन और श्रम विभाग पर आरोप लगाते हुए ऐलान किया है, कि अगर भुखमरी के कारण टाटा मोटर्स के कन्वाई चालक, या उसके परिवार का कोई सदस्य आत्महत्या करते हैं, तो इसकी सारी जवाबदेही टाटा मोटर्स, श्रम विभाग के साथ जिला प्रशासन की होगी. निश्चित तौर पर वैश्विक संकट के इस दौर में टाटा मोटर्स जैसी कंपनी के कामगार अगर सड़क पर वेतन की मांग को लेकर आंदोलन करे, तो सवाल उठना लाजिमी है.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply