tata-motors-bonus-टाटा मोटर्स में बोनस के साथ स्थायीकरण होगा, मैनेजमेंट के साथ यूनियन करेगी वार्ता, ऑफिस बियररों की बैठक में कई मुद्दों पर चर्चा, 50 साल के ऊपर वालों को ड्यूटी की मिलेगी गारंटी

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : टाटा मोटर्स के जमशेदपुर प्लांट में बोनस को लेकर वार्ता शुरू हो गयी. टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन कार्यालय में पदाधिकारियों की बैठक हुई. इस बैठक में अध्यक्ष गुरमीत सिंह, महामंत्री आरके सिंह एवं सलाहकार प्रवीण सिंह उपस्थित हुए. बैठक की अध्यक्षता अध्यक्ष गुरमीत सिंह तोते ने किया. विषय प्रवेश कराते हुए महामंत्री ने बताया कि आज की बैठक में वार्षिक बोनस, अस्थाई कर्मियों का स्थायीकरण और अन्य मुद्दा पर चर्चा की जाएगी. बारी बारी से सब लोग अपना विचार दें., अमूमन ज्यादातर पदाधिकारियों ने शीर्ष नेतृत्व पर विश्वास जताया और पूर्व की भांति अच्छा बोनस कराने की आग्रह किया. साथ ही साथ इस इस बात का भी उल्लेख सभी ने किया कि वर्तमान परिस्थिति और उद्योग जगत के लिए खासकर ऑटोमोबाइल के लिए बहुत विपरीत है. ऐसे विपरीत समय की गंभीरता को हम लोगों के साथ-साथ सभी कर्मचारी भी समझ रहे हैं. फिर भी यह विश्वास है कि जो भी बेहतर से बेहतर निर्णय होगा मजदूर हित में हमारे शीर्ष नेतृत्व लेंगे. बाइ-सिक्स कर्मचारियों का भी समझौता में ध्यान रखा जाएगा. मनोज कुमार सिंह ने मजदूरों का प्रमोशन लंबित होने की चर्चा की और आग्रह किया कि प्रमोशन जल्द से जल्द दिया जाए. अपने संबोधन में सलाहकार प्रवीण सिंह ने कहा कि यूनियन बहुत अच्छी काम कर रही है. पिछला बोनस समझौता और वेतन समझौता आदर्श रहा है. आप लोग मजदूर हित के कार्यों को मूर्त रूप देते रहें. आज के दिन में टाटा मोटर्स वर्कर्स यूनियन जमशेदपुर में उदाहरण के रूप में गिना जाता है. महामंत्री आरके सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि बोनस और स्थायीकरण और दोनों सही समय पर होना यह महत्वपूर्ण है इसलिए बहुत जल्द एक दिन के अंतराल में ही हम लोग प्रबंधन को पत्र देंगे और बोनस की वार्ता का आगाज करेंगे. श्री सिंह ने सभी से अपील की है कि हम लोगों पर विश्वास किया है. यथासंभव बेहतर से बेहतर परिणाम लाने का प्रयास रहेगा. साथ ही साथ हम लोगों को अस्थाई कर्माचारी, जो 55 साल के हो गए हैं, उन्हें भी बराबर ड्यूटी मिले, इस संबंध में प्रबंधन से बात हुई है और कुछ लोगों का मेडिकल भी शुरू हुआ है. उनका मेडिकल सही तरीका से हो, इसके लिए ध्यान देना है. सभी ऑफिस बियरर एवं कमेटी मेंबर को निर्देश दिया गया कि अपने-अपने डिवीजन में 55 साल से अधिक उम्र वाले अस्थायी कर्मचारी का ड्यूटी पर ध्यान दें. अध्यक्ष गुरमीत सिंह ने अपने संबोधन में कहा कि परिस्थितियां बहुत विपरीत है, फिर भी हम लोग इसमें बेहतर जो भी बन पड़ेगा उसके लिए कार्य करेंगे. सबका विश्वास, आम मजदूरों का विश्वास हम सब में ऊर्जा भरता है और यह ऊर्जा बेहतर परिणाम देगा. अंत में धन्यवाद ज्ञापन अनिल शर्मा ने किया. बैठक का संचालन प्रकाश विश्वकर्मा ने किया. बैठक में बीके शर्मा, अनिल शर्मा, एचएस सैनी, अजय भगत, मोहम्मद अमानुद्दीन, मनोज कुमार, प्रवीण कुमार, मनोज कुमार सिंह, एसएन सिंह, पीके दास, पीके मोहंती, सिंटू कुमार, आरआर दुबे, पवन कुमार सिंह, अमित कुमार सिंह, रवि जायसवाल शामिल हुए.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement