tata-power-भारतीय स्वास्थ्य क्षेत्र का सबसे बड़ा कारपोर्ट सोलराइज़ करेगी टाटा पावर, कोलकाता में बनाया जाएगा 335 केडब्ल्यूपी क्षमता का पश्चिम बंगाल का सबसे बड़ा कारपोर्ट

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : भारत की सबसे बड़ी बिजली कंपनी टाटा पावर ने भारतीय स्वास्थ्य क्षेत्र का सबसे बड़ा कारपोर्ट शुरू करने के लिए अपोलो ग्लेनेगल्स हॉस्पिटल के साथ बिजली खरीद करार किया है। यह पश्चिम बंगाल क्षेत्र का सबसे बड़ा कारपोर्ट होगा। परियोजना की क्षमता 335 केडब्ल्यूपी होगी, यहां पर अस्पताल के लिए करीबन 4.26 लाख यूनिट्स बिजली का निर्माण किए जाने और इससे हर साल कार्बन उत्सर्जन में 80,000 ग्राम्स की कटौती होने की अपेक्षा है। इस परियोजना में जटिल स्तर की ईपीसी विशेषज्ञता और विशेष योजना लेआउट की आवश्यकता है, जिसके लिए टाटा पावर ने उच्च स्तरीय अभियांत्रिकी रचना का निर्माण किया है जो टीम को संरचना को कुशलता पूर्वक असेम्बल करने में सक्षम करती है। साथ ही, टाटा पावर की आधुनिक प्रौद्योगिकी और सरल नियोजन से परियोजना को सुचारू रूप से क्रियान्वित करने में मदद मिलेगी। टाटा पावर द्वारा आज तक कई नामचीन परियोजनाओं का निर्माण किया गया है जिन्हें उद्यम क्षेत्र के मानदंड माना जाता है। कोचीन अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर कारपोर्ट परियोजना, मुंबई में सीसीआई के क्रिकेट स्टेडियम पर रूफटॉप इंस्टालेशन, डेल इंडिया के लिए वर्टीकल सोलर फार्म परियोजना और नयी दिल्ली में इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में रूफटॉप इंस्टालेशन यह टाटा पावर की बड़ी परियोजनाओं के कुछ उदाहरण हैं। टाटा पावर द्वारा बनायीं गयी हर एक परियोजना में हरित और शुद्ध ऊर्जा को बढ़ावा दिया जाता है और टाटा पावर के खुश ग्राहकों को दी जाने वाली सेवाओं और ग्राहकों की संतुष्टि के क्षितिज का भी विस्तार किया जाता है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply