spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
180,744,346
Confirmed
Updated on Friday, 25 June 2021, 05:40:08 IST 5:40 AM
All countries
163,677,613
Recovered
Updated on Friday, 25 June 2021, 05:40:08 IST 5:40 AM
All countries
3,915,333
Deaths
Updated on Friday, 25 June 2021, 05:40:08 IST 5:40 AM
spot_img

tata-steel-agm-टाटा स्टील का एजीएम 30 जून को, सौरभ अग्रवाल को फिर से डायरेक्टर बनाया जायेगा, शेयरधारकों को इस बार मिलेगा रिकॉर्ड 25 रुपये का डिविडेंड, कंपनी का लेखा-जोखा शेयरधारकों को किया पेश, कंपनी ने कर्मचारियों पर पिछले साल के वनस्पत 800 करोड़ से अधिक की राशि खर्च की, 124 करोड़ से ज्यादा सीएसआर पर किया खर्च, जानें क्या है पूरा लेखा-जोखा

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : टाटा स्टील की वार्षिक आमसभा (एजीएम) 30 जून को आहूत की गयी है. मुंबई के मातोश्री भवन में इसका आयोजन होगा. कोविड को देखते हुए इसको वर्चुअल तरीरके से ही बुलाया गया है. इसके तहत टाटा स्टील के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में शामिल सौरभ अग्रवाल का कार्यकाल पूरा हो रहा है, जिनको फिर से डायरेक्टर बनाया जायेगा और उनको फिर से जगह देने के लिए आमसभा में मंजूरी ली जायेगी. इसके अलावा शेयरधारकों को इस बार दिये जाने वाले रिकॉर्ड 25 रुपये प्रति शेयर का डिविडेंड को भी मंजूरी दी जायेगी. अब तक कंपनी के डिविडेंड को 15 रुपये तक ही रखा गया था, लेकिन इस बार 25 रुपये प्रति शेयर दिया जा रहा है. इसको लेकर वार्षिक रिपोर्ट जारी की गयी है, जिसके तहत कर्मचारियों और कंपनी की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी दी गयी है. वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी के कर्मचारियों की उत्पादकता बढ़कर 745 टन प्रति कर्मचारी प्रति वर्ष हो चुका है जबकि लॉस टाइम इंज्यूरी (एलटीआइ) भी घटकर 95 हो गया है, जो 127 हो चुका है. टाटा स्टील का वार्षिक टर्नओवर 64869 करोड़ रुपये हो चुका है जो पहले 60436 करोड़ रुपये हो गया था. सारे देनदारियों के बाद और एक्सेपसनल आइटम को छोड़कर कंपनी का मुनाफा 10834 करोड़ रुपये हो गया है, जो पिछले साल 84447 करो रुपये था. कंपनी की ओर से जारी वार्षिक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी के पास 209 सब्सिडियरी, 49 एसोसिएट कंपनी और 28 ज्वाइंट वेंचर की कंपनी हो चुकी है. वार्षिक रिपोर्ट में यह भी बताया या है कि टाटा स्टील के जमशेदपुर प्लांट में कुल 10.19 मिलियन टन का प्रोडक्शन हुआ है जो कोरोना काल के बीच हुआ है. इस दौरान कंपनी ने कहा है कि कम खर्च पर बेहतर स्टील बनाने का अपने सफर को जारी रखेगा. कर्मचारियों पर किये गये खर्च का भी ब्योरा दिया गया है. इसके तहत टाटा स्टील के अकेले भारत के प्लांट में 5199 करोड़ रुपये इस साल खर्च किये है जबकि पिछले साल 5037 करोड़ रुपये खर्च किये है. टाटा स्टील के बेनीफिट पर सारे समूह की कंपनियों पर कुल 19909 करोड़ रुपये खर्च किये गये है जो पिछले साल तक 19152 करोड़ रुपये था यानी 4 फीसदी की बढ़ोत्तरी कंपनी ने की है और यह राशि 800 करोड़ से ज्यादा इस साल खर्च पिछले साल के वनस्पत किये गये है. टाटा स्टील ने सीएसआर के तहत 124.80 करोड़ रुपये खर्च करने की भी जानकारी अपने शेयरधारकों को दी है.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!