spot_img

tata-steel-agm-टाटा स्टील की वार्षिक आमसभा में कई मुद्दों पर बनी सहमति, नोएल टाटा समेत कई नये निदेशकों को मंजूरी, कौशिक चटर्जी की हुई पुर्ननियुक्ति, 40 मिलियन टन तक टाटा स्टील का होगा विस्तार, विदेशों की बजाय मेक फॉर इंडिया और मेक फॉर वर्ल्ड के फार्मूला पर काम करेगी कंपनी, टाटा स्टील के चेयरमैन और एमडी ने क्या-कहा, टाटा वर्कर्स यूनियन का कैसे मान बढ़ा, जानें और शेयरधारकों ने क्या दिये सुझाव, जानें विस्तृत रिपोर्ट में

राशिफल

जमशेदपुर : टाटा स्टील की 115 वीं वार्षिक आमसभा (एजीएम) का आयोजन मुंबई के मातोश्री भवन में आयोजित हुआ. इसमें सारे शेयरधारकों को कोरोना को ध्यान में रखते हुए वर्चुअल माध्यम से जोड़ा गया. इस दौरान चेयरमैन एन चंद्रशेखरन, टाटा स्टील के एमडी सह सीइओ टीवी नरेंद्रन, एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर सह सीएफओ कौशिक चटर्जी और चीफ लीगल ऑफिसर कारपोरेट व कंप्लायंस पार्वथीसम कांचीनधम मौजूद थे. पहली बार आमसभा में वाइस चेयरमैन के तौर पर नोएल टाटा शामिल हुए. इस दौरान शेयरधारकों ने 51 रुपये का डिविडेंड देने पर प्रसन्नता जाहिर की गयी. इसके अलावा कंपनी के घाटे और कर्ज को कम करने को लेकर किये जा रहे प्रयासों की सराहना की. इस एजीएम में बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में फिर से सीएफओ सह एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर कौशिक चटर्जी के मनोनयन को मंजूरी दी गयी. वे पहली बार नवंबर 2012 में बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में आये थे. उसके बाद उनको एक्सटेंशन मिलता गया और अभी 8 नवंबर 2022 तक के लिए उनकी नियुक्ति है. अब उनकी नियुक्ति आने वाले और पांच साल के लिए किया गया. वे अभी टाटा स्टील की अनुषंगी कंपनी टाटा मेटालिक्स, टिनप्लेट, टाटा स्टील लांग प्रोडक्ट, टीआरएफ, टाटा स्टील फाउंडेशन, टाटा स्टील यूरोप, टाटा स्टील ग्लोबल प्रोक्योरमेंट, टाटा स्टील यूके लिमिटेड में डायरेक्टर है. इसके अलावा टाटा स्टील के स्टैच्यूरी ऑडिटर की भी नियुक्ति को मंजूरी दी गयी. मेसर्स प्राइस वाटर हाउस एंड कंपनी को फिर से नियुक्ति किया गया. यह नियुक्ति 120 वे एजीएम तक यानी वर्ष 2027 तक के लिए नियुक्ति की गयी है. नये कास्ट ऑडिटर के तौर पर मेसर्स सोम एंड बनर्जी कॉस्ट एकाउंटेंट की नियुक्ति की गयी. इसके अलावा नये डायरेक्टर के तौर पर फरीदा खंबता, नोएल टाटा और डेविड क्रेन पर भी शेयरधारकों ने मंजूरी दी. यहां सारे कारोबार का पूरा ब्योरा रखा गया. इस मीटिंग में कंपनियों के समायोजन को लेकर भी एजीएम में मंजूरी दी गयी. इसके तहत बामनीपाल स्टील और भूषण स्टील के समायोजन, नीलांचल इस्पात निगम के टेकओवर समेत नयी कंपनियों के टेकओवर को भी मंजूरी दी गयी जबकि टाटा स्टील के सारे कंपनियों में समायोजन की प्रक्रिया को भी मंजूरी दी गयी. इस आमसभा के दौरान शेयरहोल्डर ने कोलकाता से सवाल पूछा और कहा कि टाटा स्टील में जो पिछले दिनों हादसा हुआ था, उस हादसे को लेकर क्यूआरटी बनाना चाहिए ताकि इस तरह के हादसे को रोका जा सके.
टाटा वर्कर्स यूनियन का मान एजीएम के दौरान बढ़ाया
टाटा स्टील की वार्षिक आमसभा में टाटा वर्कर्स यूनियन का मान बढ़ा. टाटा स्टील की आमसभा में सबसे पहले यूनियन का जब संबोधन शुरू हुआ तो जमशेदपुर प्लांट की अधीकृत यूनियन टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु समेत अन्य पदाधिकारियों को संबोधित किया गया. इसके बाद सारे प्लांट के यूनियनों के पदाधिकारियों को संबोधित किया गया.
टाटा संस के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने यह भाषण दिया
टाटा संस और टाटा स्टील के चेयरमैन एन चंद्रशेखरन ने अपने संबोधन में कहा कि रुस और यूक्रेन के बीच हो रहे युद्ध के कारण व्यापारिक व्यवधान आ रहे है. यहीं वजह है कि लगातार ऊर्जा की कीमतों समेत अन्य मसलों पर काफी कमी आ रही है और भू-राजनीतिक तनाव काफी ज्यादा बढ़ रहा है. महंगाई भी यहीं वजह है कि बढ़ रहा है. उन्होने बताया कि वैश्विक मुद्रास्फीति 7.5 फीसदी तक बढ़ चुकी है. विकास दर घटकर 2.9 फीसदी रहने की उम्मीद जतायी जा रही है. उन्होंने बताया कि वैश्विक विकास प्रभावित हुआ है, लेकिन भारत मजबूत स्थिति में और सबसे तेजी से बढ़ना वाला लीडर आर्थिक तौर पर रहेगा. भात में मांगों में बढ़ोत्तरी हुई है. भारतीय इस्पात उद्योग दुनिया के लेवल पर आ चुका है. मेक फॉर इंडिया और मेक फॉर वर्ल्ड के फार्मूला के तहत स्टील इंडस्ट्रीज काम कर रही है. टाटा स्टील अपनी दक्षता को बढ़ाना चाहती है. कंपनी के प्रदर्शन पर बोलते हुए चेयरमैन एन चंद्रशेखरन वित्तीय वर्ष 2022 के प्रदर्शन को काफी बेहतर बताया. उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2022 सबसे अच्छे वर्षों में रहा है. अब तक इतिहास में सबसे बेहतर साल रहा है. वित्तीय वर्ष 2022 के दौरान, कंपनी का समेकित राजस्व 56 फीसदी बढ़कर 2,43,959 करोड़ रुपये हो गया. उन्होंने कहा कि टाटा स्टील की उन्नति का साल आने वाला होगा और सबके साथ मिलकर हम लोग आगे निकलेंगे. श्री चंद्रशेखरन ने कहा कि कोरोना की चुनौतियों के बीच मजदूरों ने बेहतर काम किया, जिसके लिए पूरी कंपनी की ओर से सराहना करते है. कलिंगानगर का विस्तार किया जाना है. पिलेट प्लांट का विस्तार होना है.
टाटा स्टील के एमडी ने क्या कहां, जानें, टाटा स्टील के विस्तार की क्या है योजना
टाटा स्टील की वार्षिक आमसभा के दौरान एमडी टीवी नरेंद्रन ने कहा कि सेफ्टी, हेल्थ और इनवायरमेंट पर बेहतर काम कंपनी कर रही है. सीएसआर पर भी काम कररही है. नीलांचल के अधिग्रहण की प्रक्रिया को पूरी कर ली जायेगी. इस दौरान शेयर होल्डरों के लिए ओपेन सेशन का आयोजन किया गया, जिसमें सारे शेयरधारकों ने सवाल पूछे. इस दौरान सवाल पूछने वालों में एचएस पटेल, होमरेरी, असिता पारीख, वैशाली प्रिया, एचबी दत्ता, शरत कुमार, कमल कुमार, यशपाल चोपड़ा, विमल भट्ट, अनिल पारीख, असोक जैन, बिनोद अग्रवाल, नरेंद्र चौहान, बिमल अग्रवाल, चेतन चौथा, हंसमुख बोरा, लेखा शाह, जयदीप बक्शी, झवेरी समेत अन्य लोगों ने सवाल उठाये. इस दौरान चेयरमैन एन चंद्रशेखरन और एमडी टीवी नरेंद्रन ने कहा कि यूरोप में अभी कोई नया निवेश नहीं किया जा रहा है. भारत में ही विस्तार किया जायेगा, जिसके तहत 32 से 40 मिलियन टन तक भारत में विस्तार किया जाना है. हरियाणा में इलेक्ट्रिक फर्नेस बनाया जाना है. इस दौरान एक सवाल के जवाब में चेयरमैन और एमडी ने अग्निपथ योजना की तारीफ की. जमशेदपुर के विस्तार पर फोकस करते हुए कहा कि जमशेदपुर को स्मार्ट सिटी बनाने पर टाटा स्टील और टाटा स्टील यूआइएसएल (पहले जुस्को) संयुक्त रुप से काम कर रही है. इस दौरान चेयरमैन एन चंद्रशेखरन को मिले पद्मभूषण को लेकर शेयरधारकों ने बधाईयां भी दी.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!