tata-steel-bonus-agreement-टाटा स्टील का बोनस 3 लाख तक पहुंचा, टाटा के वीपी एचआरएम व टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष का अंतिम था बोनस समझौता, मैनेजमेंट ने कहा-काफी विपरित परिस्थितियों में भी दिया बोनस, यूनियन के सत्ता पक्ष ने कहा-बेहतर हुआ बोनस, विपक्ष ने भी कहा-बेहतर समझौता, जानें किसने क्या कहा-किसको मिला कितना बोनस-देखिये-video

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : टाटा स्टील का बोनस 3 लाख रुपये तक पहुंच चुका है. 3 लाख 1 हजार 402 रुपये तक का बोनस अधिकतम मिलने वाला है जबकि 1 लाख 10 हजार रुपये लगभग औसतन बोनस की राशि मिलेगा. एनएस ग्रेड का अधिकतम राशि 84 हजार रुपये तक मिला है जबकि 26 हजार 839 रुपये एनएस का न्यूनतम बोनस मिला है. बताया जाता है कि पूरे टाटा स्टील में दो लोगों को 3 लाख 1 हजार 402 रुपये बोनस मिलने वाला है. इस तरह बोनस समझौता को लेकर चर्चा शुरू हो गया है. इस बीच नयी जानकारी यह है कि बोनस समझौता जो इस साल हुआ है, वह टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद के लिए अंतिम समझौता है जबकि टाटा स्टील के वीपी एचआरएम सुरेश दत्त त्रिपाठी का भी यह अंतिम समझौता है. वे दोनों अगले साल तक रिटायर हो जायेंगे, जिसके बाद समझौता वे दोनों नहीं कर सकेंगे. अगर अध्यक्ष आर रवि प्रसाद को-ऑप्सन से आते है तब जाकर फिर से अध्यक्ष बन सकते है.

Advertisement
Advertisement
टाटा वर्कर्स यूनियन के महासचिव सतीश सिंह.

मैनेमजेंट ने कहा-समझौता का पूरा ख्याल रखा
टाटा स्टील की ओर से बोनस को लेकर जारी प्रेस रिलीज में कहा गया है कि टाटा स्टील ने कर्मचारियों को पूर्ण बोनस भुगतान कोविड-19 के दौरान किया है, जो यह दिखाता है कि तीन बोनस समझौता की प्रतिबद्धता के तहत मैनेजमेंट पूरी तरह तटस्थ है और पारस्परिक तौर पर समझौता हुआ है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
टाटा वर्कर्स यूनियन के डिप्टी प्रेसिडेंट अरविंद पांडेय.

टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद समेत अन्य ने कहा-यह बेहतर समझौता, विपक्ष के नेता संजीव चौधरी टुनु ने कहा बेहतर है
टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद ने कहा है कि यह समझौता काफी बेहतर हुआ है. इस समझौता के तहत हम लोगों ने कर्मचारियों को ज्यादा से ज्यादा लाभ दिलाने की कोशिश की है. इस कारण यह सबसे बेस्ट समझौता हुआ है. विपरित परिस्थितियों में मैनेजमेंट और यूनियन ने काफी बेहतर समझौता हुआ है. दूसरी ओर, विपक्ष के नेता संजीव चौधरी टुनु ने कहा है कि समझौता फार्मूला के आधार पर हुआ है. ऐेस में समझौता बेहतर ही है.

Advertisement
टाटा वर्कर्स यूनियन के सहायक सचिव नितेश राज.

टाटा स्टील के कर्मचारियों के साथ यूनियन के लोगों को मिलेगा बेहतर बोनस

Advertisement

टाटा स्टील के कर्मचारियों के साथ यूनियन के पदाधिकारियों को भी बोनस मिलेगा. बोनस के तहत यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद को 1 लाख 70 हजार रुपये तक बोनस मिलेगा तो उपाध्यक्ष शहनवाज आलम को भी 1 लाख 70 हजार रुपये तक बोनस मिलेगा. महामंत्री सतीश सिंह को 1 लाख 15 हजार रुपये, डिप्टी प्रेसिडेंट अरविंद पांडेय को करीब 1 लाख 10 हजार रुपये, कोषाध्यक्ष प्रभात लाल को करीब 1 लाख रुपये, उपाध्यक्ष शत्रुघ्न राय को 1 लाख 12 हजार रुपये, सहायक सचिव नितेश राज करीब 1 लाख रुपये, सहायक सचिव धर्मेंद्र उपाध्याय 1 लाख 25 हजार रुपये, उपाध्यक्ष हरिशंकर सिंह, 1 लाख 40 हजार रुपये, उपाध्यक्ष भगवान सिंह को करीब 1 लाख रुपये, सहायक सचिव कमलेश सिंह को 1 लाख रुपये मिले है.

Advertisement

कब-कब हुआ बोनस समझौता :
वित्तीय वर्ष-कब हुआ बोनस

2006-2007-5 सितंबर 2007
2007-2008-5 सितंबर 2008
2009-2010-11 सितंबर 2010
2010-2011-21 सितंबर 2011
2011-2012-12 अक्तूबर 2013
2012-2013-23 सितंबर 2013
2013-2014-7 सितंबर 2014
2014-2015-7 अक्तूबर 2015
2015-2016-19 सितंबर 2016
2016-2017-31 अगस्त 2017
2017-2018-22 अगस्त 2018
2018-209-9 सितंबर 2019
2019-2020-14 अक्तूबर 2020 को मिलेगा पैसा, समझौता 14 सितंबर 2020

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement