spot_img
शुक्रवार, अप्रैल 23, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

टाटा वर्कर्स यूनियन में विजेता के तौर पर अध्यक्ष समेत अन्य का स्वागत, बोनस की राशि से कर्मचारी बमबम, जानिये पिछले साल के वनस्पत कैसा रहा बोनस, बोनस कैसे बढ़ता गया, जानिये बोनस का पूरा इतिहास और कीजिये तुलना

Advertisement
Advertisement
टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद, महामंत्री सतीश सिंह और डिप्टी प्रेसिडेंट अरविंद पांडेय प्रेस को बोनस की जानकारी देते हुए.

जमशेदपुर : टाटा वर्कर्स यूनियन में विजेता के तौर पर यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद, महामंत्री सतीश सिंह और डिप्टी प्रेसिडेंट अरविंद पांडेय समेत अन्य पदाधिकारियों का भव्य स्वागत हुआ. बोनस समझौता पर हस्ताक्षर के बाद यूनियन पदाधिकारी बिष्टुपुर स्थित टाटा वर्कर्स यूनियन कार्यालय पहुंचे. यहां कमेटी मेंबरों को बोनस राशि 239.61 करोड़ रुपये दिये जाने की जानकारी दी. कमेटी मेंबरों ने बेहतर बोनस समझौता कराने पर अध्यक्ष, महामंत्री और डिप्टी प्रेसिडेंट समेत अन्य पदाधिकारियों को माला पहनाकर स्वागत किया. पक्ष-विपक्ष सभी ने बोनस समझौता की तारीफ की.
2012 के बाद से बंद है फीसदी के आधार पर बोनस
टाटा स्टील में पहले बेसिक व डीए का 20 फीसदी बोनस मिलता था. 2012 में जब यूनियन अध्यक्ष पीएन सिंह थे, तब मैनेजमेंट व यूनियन की सहमति से तय हुआ कि फीसदी के आधार पर बोनस नहीं दिया जायेगा.

Advertisement
Advertisement

जीएन राय रिटायर, 85 कर्मचारियों दो लाख तक बोनस
सीआरएम में कार्यरत जीएन राय इस बार रिटायर हो गये है. पहले इनको ही सबसे ज्यादा बोनस मिलता था. लेकिन इस बार करीब 80 कर्मचारी वर्कर और सुपरवाइजर को मिलाकर संख्या है, जिसको दो लाख रुपये से अधिक की राशि मिलने जा रही है.

Advertisement

जमशेदपुर में राशि बढ़ी, कर्मचारियों की संख्या घटी.
बोनस पाने वाले कर्मचारियों की संख्या घटती जा रही है. पिछले साल जमशेदपुर में 14,057 कर्मचारी थे, इस बार 13675 कर्मचारी बचे हैं. वर्ष 2016 में 15,575 कर्मचारी थे. इनमें ट्यूब डिवीजन, टी व एनएस ग्रेड के कर्मचारी भी शामिल हैं. हालांकि, कर्मचारियों के बीच बंटने वाले बोनस की राशि इस साल बढ़ गयी है. पिछले साल जमशेदपुर में 106.36 करोड़ रुपये बंटे थे. इस साल 131.22 करोड़ रुपये बंटने हैं. यानी 24.86 करोड़ रुपये ज्यादा बंटेंगे.

Advertisement

कम काम करने वाले को कम बोनस
वित्तीय वर्ष 2018-19 में कम काम करने वाले को कम बोनस मिला है. नयी ज्वाइनिंग के बाद कुछ माह काम करने वाले को अधिकतम करीब 18 हजार रुपये बोनस तय किया गया है. इसके अलावा कम दिनों तक काम करने वाले को 20 हजार रुपये से भी कम बोनस मिला है.

Advertisement

नया फार्मूला से 2020 तक मिलता रहेगा बोनस.
बोनस को लेकर वर्ष 2018 में ही नया फार्मूला तय किया गया था. इसके तहत वित्तीय वर्ष 2018-2019 का बोनस इस साल उसी फार्मूला के तहत मिला है जबकि और एक साल यानी 2019-2020 तक कर्मचारियों को इसी आधार पर बोनस मिलेगा.

Advertisement
टाटा वर्कर्स यूनियन में कमेटी मेंबरों को बोनस समझौता की जानकारी देते हुए अध्यक्ष आर रवि प्रसाद व ग़न्य.

बोनस एक नजर में
आइटम—————-2018—————-2019
न्यूनतम राशि———-26130 रुपये————34764 रुपये
अधिकतम राशि———1,99,723 रुपये———-2,68767
फीसदी का आधार———12.54 फीसदी———-15.86 फीसदी
कुल राशि—————-203.24 करोड़ रुपये—–239.61 करोड़ रुपये
मुनाफा——————6682 करोड़ रुपये———–8207.00 करोड़ रुपये

Advertisement

टाटा स्टील में अब तक बोनस समझौता

Advertisement

वित्तीय वर्ष——बोनस (%)—-राशि (करोड़)——-बढ़ी राशि (करोड़)—–मुनाफा (करोड़)—-मुनाफा %
1990-91——20———-38.6—————160.13————–24.1——————–
1991-92——20———-44.54————–+5.95—————214.16——–20.8
1992-93——20———-50.75————– +6.20—————-127.12——39.92
1993-94——20———–54.00————–+3.25————-180.84——– 29.86
1994-95——20———–66.04————- +12.04———-281.12————23.49
1995-96——20———–76.46————- +10.42———- 465.79—————16.42
1996-97——20———–75.86————–(-).60————469.21————– 16.17
1997-98——-17.5——— 72.83————-(- )3.03———–322.08————22.61
1998-99——–16———–69.61————(-)3.22————-282.23————24.66
1999-2000—–17.5———75.55————-+5.94————-422.59————17.88
2000-01———20———-83.00————-+7.45————-553.44————-15
2001-02———15———-78.00————-(-) 5.00———–204.90———–38.07
2002-03———20———-102.07————+24.07———–1012.31———-10.08
2003-04———20———-102.00————-(-) .07————1746.22———-5.84
2004-05———20———-98.10————– (-) 3.90———–3474.16———-2.82
2005-06———20———-102.01————– +3.90————3506.38——–2.91
2006-07———20———–107.00————- +5.00————4222.15——– 2.53
2007-08———20———–113.00—————+6.00———–4687.03——-2.41
2008-09———18.5———139.00————–+26.00———–5201.74——–2.67
2009-10———-17.5———-14300————-+ 16.00———-5046.80———2.83
2010-11———-18.5———-171.70————+28.70———–6217.69———2.76
2011-12———-17.69———182.47————+10.77————6185.00——-2.95
2012-13———16.01———–180.50————(-) 01.97———5050.64——-3.57
2013-14———-15.69———-193.34————+2.76———–6553.95———2.95
2014-15———–8.53———–154.72———–(-) 38.62———-6439.94———–
2015-16———-8.6————–130————— (-) 24.72———-4901————–
2016-17———11.27————165—————-+35————–3933.17———–
2017-18———-12.54———–203.24————+38.24———-6682.49———–

Advertisement

2018-2019 ———15.86———-239.61————-+36.37————-8207.00———-

Advertisement

किस साल कब हुआ बोनस समझौता
2006-07——- 5 सितंबर 2007
2007-08——-5 सितंबर 2008
2009-10——–11 सितंबर 2010
2010-11———21 सितंबर 2011
2011-12——–12 अक्तूबर 2012
2012-13——–23 सितंबर 2013
2013-14——–7 सितंबर 2014
2014-15———–7 अक्तूबर 2015
2015-16———19 सितंबर 2016
2016-2017——-31 अगस्त 2017
2017-2018——–22 अगस्त 2018

Advertisement

2018-2019————–24 सितंबर 2019

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!