tata-steel-bonus-payment-टाटा स्टील के कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, जाकर चेक कीजिये आपके एकाउंट, वेतन के साथ आने लगेगा बोनस, 14 अक्तूबर तक सबको मिल जायेगा बोनस, कंपनी ने जारी किया सर्कुलर, जानिये टाटा स्टील के कर्मचारियों को कैसे मिलेगा बोनस, इएसएस या रिटायर कर्मचारी को कैसे मिलेगा बोनस की राशि

राशिफल

बोनस समौता का फाइल फोटो.

जमशेदपुर : टाटा स्टील में बोनस के भुगतान की प्रक्रिया अब शुरू होने वाली है. इसको लेकर कंपनी के फाइनांस एंड एकाउंट डिवीजन द्वारा आम कर्मचारियों के बोनस भुगतान को लेकर प्रक्रिया अपनायी गयी है, जिसकी सारी जानकारी सभी डिवीजनल व डिपार्टमेंटल हेड को भेजा गया है. इसके तहत टाटा स्टील के वैसे कर्माचरी जो जमशेदपुर के स्टील प्लांट के साथ ट्यूब डिवीजन, ग्रोथ शॉप, टाटा स्टील कलिंगानगर, मार्केटिंग व सेल्स डिवीजन, सीआरसी वेस्ट, सीआरइ ऑफिस रांची, सीआरइ ऑफिस भुवनेश्वर, सीआरइ ऑफिस दिल्ली, माइंस, कोलियरी, एफएएंडएम डिवीजन, हेड ऑफिस में 30 दिन से ज्यादा जो भी व्यक्ति वित्तीय वर्ष 2019-2020 में काम किये है, उनको बोनस की राशि मिलेगी. जो लोग मारपीट, पिटाई, चोरी, गलत तरीके से काम करने और फर्जीवाड़ा के आरोपी कर्मचारी, जो बर्खास्त हो चुके है, उनको किसी तरह का बोनस की राशइ नहीं मिलेगी. कंपनी की ओर से जारी किये गये फार्मूला के मुताबिक, कोई भी कर्मचारी जो बोनस का हकदार होगा उसको बोनस की राशि की गणना इस तरह होगी, जो फार्मूला है. फार्मूला के तहत कुल बोनस की राशि वित्तीय वर्ष 2019-2020 का (235.54 करोड़ रुपये) को पहले कुल बोनसेबल राशि जो दिया जाना है यानी 1825.37 करोड़ से भाग (divide) दिया जायेगा, जिसका जो राशि आयेगी, उसको एक कर्मचारी का कुल बोनसेबुल राशि यानी बेसिक और डीए को जोड़कर जितना वित्तीय वर्ष 2019-2020 में आता है और पूर्व के एरियर की राशि के साथ जितना पैसा होगा, उसको गुणा (multiplication) वह बोनस की राशि है. मैनेजमेंट की ओर से जारी सर्कुलर में ककहा गया है कि कर्मचारी को सरकार के बोनस एक्ट 2015 से ज्यादा की राशइ नहीं दी जायेगी. जो कर्मचारी आइएल 6 स्तर पर प्रोमोशन ले चुके है, उनको कर्मचारी रहते, अगर काम किये होंगे, उतने समय तक का बोनस जोड़कर दे दिया जायेगा. ऐसे आइएल 6 स्तर के अधिकारी को रिटायरमेंट फंड में इसकी राशि को जोड़ दी जायेगी. यह तय किया गया है कि जो बोनस की राशइ होगा, उसका राउंड ऑफ किया जायेगा यानी किसी कर्मचारी का पैसे में 49 पैसे आता है, तो उसको 50 पैसा माना जायेगा और अगर 50 पैसे से ऊपर राशि होगी तो उसको एक रुपये के तौर पर माना जायेगा. कर्मचारियों को वेतन के साथ ही बोनस की राशि भी भेज दी जायेगी. जो कर्मचारी इएसएस या कंपनी से रिटायर हो चुके है, उनके बैंक एकाउंट में पैसे भेज दिये जायेंगे. इएसएस या अन्य योजना से कंपनी से अलग होने वाले कर्मचारी अगर क्वार्टर खाली नहीं किये है तो भी उनको बोनस की राशि मिलेगी. हालांकि, इसमें कुछ अपवाद केस में नहीं भी मिल सकता है. वैसे कर्मचारी जो इएसएस या अन्य योजना के अलावा भी कंपनी से अलग हो चुके है, उनको उसी शर्त पर सीधे उनके बैंक एकाउंट में तब दिया जायेगा जब किसी कर्मचारी के परिजन की मौत हो चुकी हो या फिर उक्त कर्मचारी ने अपा एकाउंट बदल दिया हो. सारे कर्मचारी को 14 अक्तूबर तक बोनस की राशि भेज दी जायेगी. बोनस पर आयकर की कटौती भी होगी, जो प्रति कर्मचारी के वेतन और अन्य मद में जितना राशि कटौती की बनती है, वह कटौती की जायेगी और अगर कोई ब काया है तो उसकी वसूली के बाद इसका भुगतान कर दिया जायेगा.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

Must Read

Related Articles