spot_img

tata-steel-celebrates-sir-dorabji-tata-birth-anniversary-टाटा स्टील ने मनाया सर दोराबजी टाटा का 161 वां जन्मदिन, टाटा स्टील के एमडी ने कहा-हर चुनौतियों के बाद कैसे मजबूत होती है यह सीख देती है सर दोराबजी की जिंदगी, टाटा स्टील के पूर्व एमडी डॉ जेजे इरानी ने लिया हिस्सा, कहा-

राशिफल

जमशेदपुर : टाटा स्टील द्वारा सर दोराबजी टाटा का 161 वां जन्मदिवस मनाया गया. कोरोना के संक्रमण को देखते हुए वर्चुअल तरीके से इसका आयोजन किया गया. इस मौके पर टाटा स्टील के एमडी टीवी नरेंद्रन मुख्य अतिथि थे जबकि टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद विशिष्ट अतिथि के रुप में मौजूद थे. इस मौके पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर टाटा स्टील के पूर्व एमडी डॉ जेजे इरानी ने भी हिस्सा लिया. इस मौके पर टाटा स्टील के एमडी सह सीइओ टीवी नरेंद्रन ने कहा कि सर दोराबजी टाटा की जिंदगी चुनौतियों से भरा था. किस तरह चुनौतियों से लड़ना है और कठिन समय में किस तरह के फैसले लिये जाने है, इसकी सीख उनकी जीवनी से मिलती है. एक कंपनी को किस तरह द्वितीय विश्व युद्ध और प्लेग जैसी बीमारियों के बाद उत्पन्न हुए हालात के वक्त संभाला जा सकता है, इसकी भी सीख सर दोराबजी टाटा की जिंदगी से मिलता है और यह भी ज्ञान मिलता है कि हर चुनौतियों से निबटने के बाद जीत मिलती है और निखरकर आदमी सामने आता है. टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष आर रवि प्रसाद ने अपने संबोधन में कहा कि एक स्टील प्लांट का निर्माण सर दोराबजी टाटा ने कराया और आज सौ साल के बाद भी यह तटस्थ है.

उनके ही सीखाये हुए मार्गों का अनुसरण करते हुए टाटा स्टील और जमशेदपुर आगे बढ़ा है और यहां की व्यवस्था निखरी है. सम्मानित अतिथि टाटा स्टील के पूर्व एमडी डॉ जेजे इरानी ने कहा कि सर दोराबजी टाटा को वे एक अमल में लाने वाला व्यक्ति के र ुप में देखते है, जिसने अपने पिता के सपने को साकार किया. योजना बनाने के बाद जमशेदजी नसरवानजी टाटा का निधन हो गया था, जिसके बाद उनके सपने को सर दोराबजी टाटा ने साकार किया. अगर सर दोराबजी टाटा की मेहनत और कमिटमेंट नहीं होता तो शायद आज यह जमशेदपुर और टाटा स्टील का प्लांट भी नहीं होता. यहां सुंदर पार्क और शहर के तमाम चीजें यह गवाही देते है कि सर दोराबजी टाटा की क्या सोच थी. टाटा स्टील द्वारा इस मौके पर कई कार्यक्रमों का ऑनलाइन तरीके से आयोजन किया गया. इस मौके पर टाटा स्टील की ओर से ऑनलाइन प्रोग्राम ए मोमेंट टू रिम्मबर आयोजित किया गया, जिसमें महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना जैसे क्रिकेटरों के जीवन और उनके परिश्रम के बारे में बताया गया था.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!