tata-steel-टाटा स्टील के एमइडी मैकेनिकल का 13 साल बाद आइबी फाइनल, कर्मचारियों को होगा लाभ

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : टाटा स्टील के एमइडी मैकेनिकल विभाग का 13 साल बाद इंसेंटिव बोनस (आइबी) फाइनल हो गया है. आइबी का समझौता हो गया है. इसके तहत तय हुआ है कि डिपार्टमेंटल कंट्रीब्यूशन 87 फीसदी का होगा जबकि 13 फीसदी ऑडिट इंस्पेक्शन कंट्रीब्यूशन तय किया गया है. इस बार इस समझौता में नये विभागों का आइबी को भी जोड़ा गया है, जहां जाकर एमइडी मैकेनिकल विभाग के कर्मचारी काम करते है, उसका भी आइबी को इसमें समाहित किया जायेगा. दरअसल, इस विभाग का आइबी करीब 2007 से पेंडिंग था. इसको लेकर काफी दौर की वार्ता होने के बाद टूट जाती थी, लेकिन अब फाइनल हो गया है. इस विभाग के आइबी को लेकर हुई बैठक के बाद मंगलवार को इसको फाइनल कर दिया गया. मैनजेमेंट ने पहले प्रस्तार दिया था कि डिपार्टमेंटल कंट्रीब्यूशन 85 फीसदी और 15 फीसदी ऑडिट इंस्पेक्शन कंट्रीब्यूशन पर आइबी मिलेगा यानी शत-प्रतिशत परफार्मेंस पर मिलेगा. लेकिन यूनियन ने प्रस्ताव दिया था कि 90 फीसदी डिपार्टमेंट कंट्रीब्यूशन और 10 फीसदी ऑडिट इंस्पेक्शन पर आइबी मिले. लेकिन बीच का रास्ता निकल गया. एमइडी मैकेनिकल के कमेटी मेंबर श्रीनिवास राव ने कहा है कि इससे कर्मचारियों को आइबी में सीधे तौर पर 10 से 12 फीसदी तक का लाभ होने लगेगा. इस समझौता में यूनियन के अध्यक्ष समेत तमाम पदाधिकारियों ने काफी अहम रोल निभाया है और काफी बेहतर समझौता हुआ है. इससे पहले आरओ का लंबित समझौता भी हम लोग यूनियन के पदाधिकारियों के सहयोग से कराने में सफल रहे है.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply