spot_img
गुरूवार, मई 13, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

tata-steel-mining-limited-टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड अपनी फेरो क्रोम क्षमता को दोगुना करेगी, स्टेनलेस स्टील के क्षेत्र में टाटा स्टील की धाक और दमदार बढ़ेगी

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : टाटा स्टील लिमिटेड की 100 प्रतिशत सहायक कंपनी ‘टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड-टीएसएमएल’ (जिसे पहले टीएस एलॉयज लिमिटेड के नाम से जाना जाता था) भारत में 4 लाख 50 हजार टन प्रति वर्ष की अपनी वर्तमान फेरो क्रोम विनिर्माण क्षमता को निकट भविष्य में 9 लाख टन प्रति वर्ष तक बढ़ाने की योजना बना रही है. टीएसएमएल ने 2020 की खनिज नीलामियों में तीन क्रोमाइट खानों का अधिग्रहण किया था, जिनके नाम सुकिंदा क्रोमाइट माइन, सरूआबिल क्रोमाइट माइन और कमरदा क्रोमाइट माइंस हैं. इनके लिए 50 साल के लिए लीज दिए गए हैं. ये खदानें अब 1.5 मिलियन टन से अधिक की वार्षिक क्षमता के साथ चालू हो गई हैं, जिससे कंपनी भारत में क्रोम अयस्क खनन में सबसे बड़ी खिलाड़ी बन गई है. क्षमता वृद्धि की इस पहल के पीछे विचार फेरो क्रोम बनाने के लिए क्रोमाइट अयस्क का इष्टतम उपयोग करना है, ताकि स्टेनलेस स्टील निर्माण के व्यवसाय में संलग्न भारतीय और वैश्विक ग्राहकों के अपने बढ़ते आधार को पर्याप्त आपूर्ति की जा सके. टाटा स्टील के वीपी रॉ मैटेरियल और टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड के चेयरमैन डीबी सुंदर रामम ने कहा कि हम भारत में क्रोम अयस्क उपलब्धता की अच्छी गुणवत्ता का भरपूर लाभ उठाते हुए अपनी फेरो क्रोम विनिर्माण क्षमता को बढ़ाने के लिए ऑर्गेनिक और गैर-आर्गेनिक, दोनों तरीके अपनायेंगे. यह टीएसएमएल को भारत में शीर्ष फेरो क्रोम खिलाड़ी तो बनाएगा ही, साथ ही हमें वैश्विक स्तर पर शीर्ष-पांच में जगह प्रदान करेगा. मूल्यवर्धन पर ध्यान केंद्रित करने और क्रोम अयस्क को फेरो क्रोम में बदलने के लिए यह विवेकपूर्ण कदम है. आपको बता दें कि टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड (टीएसएमएल, जिसे पहले टीएस एलॉयज के नाम से जाना जाता था) टाटा स्टील लिमिटेड की 100 प्रतिशत सहायक कंपनी है और इसका मुख्यालय ओड़िशा के भुवनेश्वर में है. कंपनी फेरो एलॉयज बिजनेस के अलावा कॉमर्शियल माइनिंग के अवसरों को विकसित करने के लिए काम कर रही है. ओड़िशा के अथागढ़ और गोपालपुर में फेरो क्रोम प्लांट होने के अलावा, कंपनी के पास राज्य के जाजपुर जिले में तीन क्रोमाइट खदानें हैं, जैसे कि सुकिंदा क्रोमाइट माइन, कमरदा क्रोमाइट माइन और सरूआबिल क्रोमाइट माइन. टाटा स्टील माइनिंग लिमिटेड फेडरेशन ऑफ इंडियन मिनरल इंडस्ट्रीज (एफआईएमआई) का सदस्य भी है.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!