spot_imgspot_img
spot_img

tata-steel-product-counterfeit-टाटा स्टील के टाटा वायरॉन का नकली प्रोडक्ट आंध्र प्रदेश में बेचा जा रहा था, पुलिस के सहयोग से की गयी छापामारी

पुलिस की मदद से की गयी छापामारी.

जमशेदपुर/नेल्लोर : टाटा स्टील के टाटा वायरॉन के चेन लिंक फेंस (बाड़) और कांटेदार तार एक अनोखे तरीके से पैक किये जाते हैं और सभी मौलिक उत्पादों को अधिकृत डीलरों और वितरकों द्वारा इसी पैकेजिंग के साथ बेचा जाता है. आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले में कई स्थानों पर टाटा वायरॉन चेन लिंक फेंस और कांटेदार तार उत्पादों को गैर-मानक पैकेजिंग में बेच रहा था. इसकी सूचना मिलने के बाद टाटा स्टील ने वेदयापलेम पुलिस स्टेशन, वी सांताराम पुलिस स्टेशन और सिदापुरम पुलिस स्टेशन की मदद से एक साथ चार ऐसे स्थानों पर संयुक्त छापेमारी की. जहां तक चेन लिंक फेंस की बात है, तो पुलिस द्वारा जब्त माल की कुल कीमत करीब 5 लाख रुपये और कंटीले तारों के मामले में 1.54 लाख आंकी गई है. अनुमानतः नकली चेन लिंक फेंस और कंटीले तारों का वार्षिक कारोबार क्रमशः 5.76 करोड़ रुपये और 1.8 करोड़ रुपये है. (नीचे पूरी खबर पढ़ें)

बना जा रहे थे टाटा के नकली प्रोडक्ट.


टाटा वायरॉन के नाम का अनाधिकृत इस्तेमाल टाटा स्टील के बौद्धिक संपदा अधिकारों का उल्लंघन है. ये डीलर और निर्माता घटिया गुणवत्ता वाले नकली चेन लिंक फेंस और कांटेदार तार का धंधा कर रहे थे. वे इसे टाटा वायरॉन के उत्पाद के रूप में उपभोक्ताओं को बेच रहे थे. आंध्र प्रदेश पुलिस के साथ एक ही दिन में कई स्थानों पर संयुक्त छापेमारी कर इन डीलरों के खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया गया. वेदयापलम पुलिस स्टेशन में एसियन वायर इंडस्ट्रीज और श्रीवेंकटेश्वरा वायर प्रोडक्ट जबकि वी सांताराम पुलिस स्टेशन में श्रीलक्ष्मी वायर इंडस्ट्रीज और सिदापुरम में श्रीनिवास इंडस्ट्रीज के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गयी है. टाटा स्टील के उत्पादों में उत्पाद-गुणवत्ता को लेकर उपभोक्ताओं के मन में बड़ा विश्वास है. तार के उत्पादों पर ‘टाटा’ नाम का ऐसा अनधिकृत उपयोग, जो टाटा स्टील उत्पादों की गुणवत्ता मानकों को पूरा नहीं करता है, कंपनी की प्रतिष्ठा को प्रभावित करता है. टाटा स्टील अपने ‘ट्रेडमार्क’ व ’लोगो’ के दुरुपयोग और पूर्व अनुमति के बिना टाटा स्टील तथा टाटा संस के ‘ट्रेडमार्क’ व ’लोगो’ के गैर-कानूनीइस्तेमाल की कड़ी निंदा करता है. टाटा स्टील के मुताबिक, उनकी ब्रांड प्रतिष्ठा और विश्वास की रक्षा करने के लिए कंपनी की ब्रांड प्रोटेक्शन टीम उन प्रतिष्ठानों के खिलाफ निरंतर निगरानी और कार्रवाई करती है, जो जालसाजी समेत हमारे बौद्धिक संपदा अधिकारों का उल्लंघन कर रहे हैं. टाटा स्टील ऐसी हर गैर-कानूनी गतिविधियों पर निगरानी और इनके खिलाफ कार्रवाई जारी रखेगी, जो कंपनी की संपत्ति और कंपनी ब्रांड को प्रभावित कर रहे हैं.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!