spot_img

tata-steel-proud-moment-टाटा स्टील इंडिया ने वर्क प्लेस इक्वालिटी इंडेक्स-2021 में जीता ’गोल्ड’ एम्प्लॉयर का खिताब, गोल्डबैज और‘टॉप इम्प्लॉयर ऑफ 2021’ के खिताब से सम्मानित, समलैंगिकों के लिए बेहतर अवसर प्रदान करने के लिए देश भर में अलग पहचान टाटा स्टील की बनी, 2025 तक लैंगिक समानता वाली बन जायेगी टाटा स्टील

राशिफल

जमशेदपुर : आईडब्ल्यूईआई (इंडिया वर्क प्लेस इक्वालिटी इंडेक्स) के‘टॉप इम्प्लॉयर 2021’ में एलजीबीटी+ समावेशन में पथ प्रदर्शक कंपनी टाटा स्टील को ’गोल्ड’ इम्प्लॉयर (नियोक्ता) के रूप में सम्मानित किया गया. यह ’गोल्ड’मानक पुष्टि करता है कि नियोक्ताओं ने एलजीबीटी समावेशन के प्रतिदीर्घकालिक और गहन प्रतिबद्धता का प्रदर्शन करते हुए अपनी नीतियों, भर्ती अभ्यासों, बाहरी संचार में एलजीबीटी समावेशन को सफलतापूर्वक शामिल किया है. टाटा स्टील एचआरएम की वाइस प्रेसिडेंट अत्रेयी सान्याल ने इस पुरस्कार पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, “ यह पुरस्कार हमारे लिए बड़े ही सम्मान की बात है और इस यात्रा में हम प्रत्येक स्टेक होल्डर के योगदान को अभिस्वीकार करते हैं. टाटा स्टील ने हमेशा विविध और समावेशी संस्कृति निर्मित करने के लिए अग्रणी पहल की है. हमारा लक्ष्य 2025 तक 25 प्रतिशत डायवर्सिटी हासिल करना है और हम अपने एलजीबीटी कर्मचारियों के लिए एक समावेशी वातावरण बनाने की दिशा में सक्रिय रूप से कदम उठा रहे हैं, जैसे एलजीबीटी+ भागीदारों के लिए समान लाभ, ट्रांसजेंडर कर्मचारियों के लिए स्वास्थ्य सेवा और लिंग परिवर्तन का समर्थन, लैंगिक रूप से तटस्थ पैरेंटल लीव आदि. निकट भविष्य में, टाटा स्टील एलजीबीटी+ समुदाय से अधिक से अधिक प्रतिभाओं को सामने लाने की दिशा में सक्रिय रूप से काम करेगी और आगे का रास्ता तैयार करेगी. नीतियां बनाते समय हमने समुदाय और सभी स्टेक होल्डरों के साथ मिलकर काम किया है. हर कदम पर समावेशन की जड़ को मजबूत करने के लिए हम अपनी सभी प्रक्रियाओं, नीतियों, डिजिटल, भौतिक और कानूनी बुनियादी ढांचे का लगातार गहनता से मूल्यांकन कर रहे हैं. नियोक्ताओं के कार्यस्थल में समलैंगिक महिला-पुरुष, द्वि और ट्रांस (एलजीबीटी+) के समावेशन पर नियोक्ताओं की प्रगति को मापने के लिए‘आईडब्ल्यूईआई’भारत का पहला व्यापक बेंचमार्किंग टूल है. इसका सूचकांक नीतियां व लाभ, कर्मचारी जीवन चक्र, कर्मचारी नेटवर्क समूह, सहयोगी व रोल मॉडल, वरीय लीडरशिप, मॉनिटरिंग, खरीद, सामुदायिक जुड़ाव और अतिरिक्त कार्य जैसे नौ क्षेत्रों को मापता है. यह दूसरी वार्षिक आईडब्ल्यूईआई टॉप इम्प्लॉयर सूची है, जिसमें 72 संस्थान शामिल हैं. गोल्ड कैटेगरी में कुल 26, सिल्वर कैटेगरी में 18 और ब्रॉन्ज कैटेगरी में 13 फर्मों को सम्मानित किया गया. टाटा स्टील ने बाधाओं से निपटने के लिए चेतना के साथ काम किया है और एलजीबीटी+ भागीदारों के लिए समान लाभ जैसी अग्रणी पहल के माध्यम से एलजीबीटी+ कार्यबल के लिए एक समान और समावेशी कार्यस्थल बनाने में अपनी प्रतिबद्धता का प्रदर्शन किया है, जो सिर्फ चिकित्सा लाभों तक ही सीमित नहीं है, बल्कि इससे कहीं आगे बढ़कर है और इसमें ज्वाइंट हाउस पॉइंट, हनीमून पैकेज, एलजीबीटी+ कर्मचारियों के लिए स्वास्थ्य सेवा व लिंग परिवर्तन का समर्थन, लिंग तटस्थ पैरेंटल लीव जैसे लाभ शामिल हैं. यही नहीं, यह एलजीबीटी+ प्रतिभा के लिए अवसरों को बढ़ाने हेतू सक्रिय रूप से ठोस हस्तक्षेप किये हैं, जैसे वेस्ट बोकारो में ट्रांसजेंडर ट्रेनीज के लिए भर्ती अभियान, एशिया के सबसे बड़े एलजीबीटी+ जॉबफेयर‘राईज’में भागीदारी, कर्मचारियों एवं वेंडर भागीदारों के बीच पूर्वाग्रह व लैंगिक रूढ़ीवादिता को दूर करने के लिए हस्तक्षेप, कंपनी का कर्मचारी संसाधन समूह‘विंग्स’, एलजीबीटी कार्यबल व सहयोगियों को जोड़ने के लिए ऑनलाइन सुरक्षित स्थान‘इन्द्रधनुष’की शुरूआत आदि. टाटा स्टील ने अपने सीएसआर हस्तक्षेपों के माध्यम से जमीनी स्तर पर एलजीबीटी+ समुदाय के साथ जुड़ने के लिए सक्रिय रूप से कदम उठाए हैं, जैसे कि फोटो आईडी ड्राइव के माध्यम से अपनी पहचान बनाने में सक्षम करने के लिए अभियान और लॉकडाउन के दौरान समुदाय को राहत देने और उनका कल्याण सुनिश्चित करने की पहल‘थॉट फॉर फूड आदि.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!