spot_imgspot_img
spot_img

tata-steel-two-new-initiative-टाटा स्टील ने दो नये मुकाम हासिल किये, 1. टाटा स्टील ने सप्लाइ चेन को लेकर मित्सुई ओएसके लाइंस के साथ किया एमओयू, हरित क्रांति की ओर बढ़ेगा कदम, 2. कोरोना से लड़ाई के लिए टाटा स्टील के वेस्ट बोकारो डिवीजन ने अत्याधुनिक प्रेशर स्विंग एडसोर्शन ऑक्सीजन प्लांट किया स्थापित

जमशेदपुर/बोकारो : देश की अग्रणी स्टील निर्माता कंपनी टाटा स्टील ने अपनी सफलता के लिए दो नये मुकाम हासिल किये है. मंगलवार को इसकी जानकारी अधिकारिक तौर पर कंपनी की ओर से दी गयी. आपूर्ति श्रृंखला (सप्लाई चेन) में ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन को कम करने के अपने व्यापक सस्टेनेबिलिटी उद्देश्य और इस दिशा में अपने प्रयासों के अनुरूप, टाटा स्टील ने मित्सुई ओएसके लाइंस (एमओएल) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किया. मित्सुई एक वैश्विक समुद्री परिवहन समूह है, जो पर्यावरण-स्नेही शिपिंग समाधान विकसित कर इन्हें लागू करने का काम करेगा. टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट सप्लाइ चेन पीयूष गुप्ता ने कहा कि इस समझौता का उद्देश्य स्टील के उत्पादन के लिए कच्चे माल के समुद्री परिवहन के दौरान ग्रीनहाउस गैस (जीएचजी) उत्सर्जन को कम करना है. प्रारंभिक चरण में यह साझेदारी विभिन्न प्रकार के टेक्नोलॉजियों से होने वाले पर्यावरणीय लाभ और वाणिज्य व परिचालन से संबंधित इसकी व्यवहार्यता का पता लगाएगी. इसमें एक हार्ड सेल “विंड चैलेंजर“ शामिल होगा, जो पवन ऊर्जा का उपयोग कर उत्सर्जन को कम करेगा. एमओएल ने संयुक्त रूप से क्रॉस-इंडस्ट्रियल पार्टनर्स के साथ इस टेक्नोलॉजी का अध्ययन किया है और विंड चैलेंजर से लैस पहला पोत 2022 में संचालन शुरू करने के लिए तैयार है. आरएम प्रोक्योरमेंट चीफ ग्रुप शिपिंग व डायरेक्टर रंजन सिन्हा ने इस समझौते पर कहा कि ’रिस्पॉन्सिबल स्टील‘ के सदस्य के रूप में टाटा स्टील अपनी शिपिंग गतिविधियों को जिम्मेदार पर्यावरणीय व्यवहार के साथ जोड़ने के लिए प्रतिबद्ध है. हम सस्टेनेबल शिपिंग की दिशा में अपने प्रयासों के तहत एक प्रतिष्ठित वैश्विक समुद्री परिवहन कंपनी ’एमओएल’ के साथ हाथ मिला कर बेहद प्रसन्न हैं. तोशियाकी तनाका, सीनियर मैनेजिंग एक्जीक्यूटिव ऑफिसर व चीफ, इन्वायर्नमेंट ऐंड सस्टेनेबिलिटी ऑफिसर, एमओएल ने कहा कि हाल ही में एमओएल ग्रुप के पर्यावरण विजन 2.1 को लागू किया है, जिसमें हमने घोषणा की है कि एमओएल ग्रुप 2050 तक ‘नेट जीरो जीएचजी’ उत्सर्जन हासिल करने के लिए पूरे ग्रुप में एक ठोस प्रयास करेगा. विज़न 2.1 का लक्ष्य हासिल करने के लिए एक लंबा रास्ता तय करना होगा और हम मानते हैं कि एक अच्छे भागीदार के साथ मिल कर काम करना अपने आप में महत्वपूर्ण है. एक प्रमुख वैश्विक स्टील कंपनी टाटा स्टील के साथ यह साझेदारी विजन 2.1 के लक्ष्यों को चुनौती देने के लिए एमओएल को प्रोत्साहित करेगी. हमें यह अवसर मिला है, जिसे पा कर हम बहुत खुश हैं. (नीचे पढ़े पूरी खबर टाटा स्टील के बोकारो में क्या नयी सुविधा शुरू हुई)

बोकारो में उदघाटन के मौके पर मौजूद गणमान्य लोग.

टाटा स्टील के वेस्ट बोकारो डिवीजन ने अत्याधुनिक प्रेशर स्विंग एडसोर्शन ऑक्सीजन प्लांट किया स्थापित
कोविड-19 का मुकाबला करने और भविष्य के लिए तैयार होने के अपने प्रयासों में, टाटा स्टील के वेस्ट बोकारो डिवीजन ने टाटा सेंट्रल अस्पताल, वेस्ट बोकारो में अत्याधुनिक प्रेशर स्विंग एडसोर्शन ऑक्सीजन प्लांट स्थापित किया है. वीपी सीएस चाणक्य चौधरी ने इस अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद थे जबकि यहां टाटा स्टील मेडिकल सर्विसेज के जीएम डॉ सुधीर राय, मेडिकल सर्विसेज के सलाहकार डॉ राजन चौधरी, चीफ सीएसआर सौरव रॉय, और वेस्ट बोकारो के जीएम मनीष मिश्रा मौजूद थे और इसका उदघाटन किया गया. टाटा स्टील फाउंडेशन द्वारा स्थापित पीएसए ऑक्सीजन प्लांट 726 वर्ग फुट क्षेत्र में फैला हुआ है और इसकी क्षमता 833 लीटर प्रति मिनट है. ऑक्सीजन प्लांट के बगल में ऑक्सीजन मैनिफोल्ड, भरे और खाली ऑक्सीजन सिलेंडर रखने के लिए भंडारण क्षेत्र है. पीएसए ऑक्सीजन प्लांट न केवल टाटा सेंट्रल अस्पताल को मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति के मामले में पूरी तरह से आत्मनिर्भर अस्पताल बन गया है साथ हीं जरूरत के के दौरान अस्पताल के अंदर सभी 50 बिस्तरों को निरंतर ऑक्सीजन सहायता प्रदान करके चिकित्सा की आधारभूत सुविधा को भी बेहतर करेगा. टाटा सेंट्रल अस्पताल और टाटा स्टील फाउंडेशन के सहयोग से वेस्ट बोकारो में कोविड-19 से मुक़ाबले के लिए निरंतर कार्य कर रहा है और समुदाय की सेवा के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है. इस वर्ष मई में वेस्ट बोकारो में झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने 80 बेड वाले कोविड केयर सेंटर का उद्घाटन किया था. एक पूर्ण ऑक्सीजन संयंत्र की स्थापना के अलावा, टाटा स्टील कोविड केयर सपोर्ट के माध्यम से महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. अब तक वेस्ट बोकारो और उसके आसपास के 33,000 से अधिक लोगों को टीका लगाया जा चुका है और आने वाले दिनों में टाटा स्टील फाउंडेशन डिविजन के परिधीय गांवों के लोगो के घरों तक टीकाकरण प्रदान करेगा. झारखंड में कोविड-19 से संबंधित मुद्दों पर 1,83,000 से अधिक लोगों की सलाह दी गई है, समुदाय के बीच अब तक 34000 से अधिक खाद्य पैकेट वितरित किए गए है. साथ हीं समुदाय के बीच वितरित 18000 मास्क और कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए अब तक 35 लाख रैट किट वितरित किए जा चुके हैं. इस अवसर पर चीफ सीबी वेस्ट बोकारो बीवी सुधीर कुमार, चीफ सीइपी पीके श्रीवास्तव, सीएमओ टाटा सेंट्रल अस्पताल डॉ आशीष कुमार रॉय, हेड सीइपी राजेश कुमार, आरसीएमएस के अध्यक्ष महेश प्रसाद और यूनियन के सचिव कैलाश गोप उपस्थित थे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!