spot_img

tata-workers-union-टाटा स्टील में कांट्रैक्ट पर बहाल हो रहे कर्मचारी, यूनियन का सदस्य भी बन जा रहे है, क्या है यह नया समझौता यूनियन ने कर लिया है, ….तो क्या अब स्थायी कर्मचारी भी टाटा स्टील में बहाल नहीं होंगे ? अध्यक्ष से पूछा तो झांकने लगे बगले, बोले मामला देखेंगे, टाटा वर्कर्स यूनियन के कमेटी मेंबरों और कर्मचारियों में नये खुलासे से सनसनी, अध्यक्ष जी-आप इस सवाल से भाग नहीं सकते, कमेटी मीटिंग में उठे सवाल, प्रोमोशन और टीएमएच को लेकर भी गुस्से में कमेटी मेंबर, जानिये क्या-क्या उठे सवाल

राशिफल

जमशेदपुर : टाटा स्टील में कांट्रैक्ट पर कर्मचारियों को बहाल कर लिया गया है. उनको यूनियन का सदस्य भी बना दिया गया है. लेकिन उनकी बहाली कांट्रैक्ट यानी ठेका पर हो रही है और उनको बकायदा कंपनी का पर्सनल नंबर भी दिया जा रहा है और मेडिकल की सुविधा भी दी जा रही है, लेकिन वेतन टाटा स्टील के स्टील वेज या एनएस ग्रेड का नहीं है. ऐसा कई मामले सामने आ चुके है, लेकिन यूनियन इस मसले पर चुप है. टाटा वर्कर्स यूनियन का दो दिनों तक चले कमेटी मीटिंग में ऐसे ही बड़े मुद्दे उठे. आपको बता दें कि यूनियन के अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु है, जो सत्ता पर आसीन है जबकि महामंत्री सतीश सिंह खुद लगातार दूसरी बार महामंत्री है जबकि डिप्टी प्रेसिडेंट शैलेश सिंह काफी अर्से बाद इस पद पर आसीन हो पाये है. जाहिर सी बात है यह बड़ा मामला है क्योंकि सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर क्या टाटा स्टील में स्थायी बहाली नहीं होगी. अगर स्थायी बहाली नहीं होगी तो फिर भविष्य क्या होगा. क्या यूनियन ने ऐसा कोई नया समझौता कर लिया है. अगर कांट्रैक्ट के कर्मचारी है तो फिर उनको यूनियन की सदस्यता कैसे दे दी गयी, ये सारे सवाल जरूर दो दिनों के कमेटी मीटिंग में उठायी गयी है. इस मुद्दे को पहली बार कमेटी मीटिंग में कमेटी मेंबर मनोहर मुखिया ने उठाया, जिसमें इंडो डेनिस टूल रूम (आइडीटीआर) से लोगों को बहाल कर लिया गया, उनकी बहाली प्लेसमेंट के जरिये हुई, लेकिन उनको जो अप्वाइंटमेंट दिया गया है, उसमें लिखा गया है शार्ट टर्म कांट्रैक्ट और फिर उनको यूनियन का सदस्य भी बना दिया गया है जबकि यूनियन का संविधान साफ कहता है कि जो स्थायी कर्मचारी होगा, वहीं सदस्य हो सकता है. ऐसे कर्मचारियों का वेतन काफी कम है. इस पर यूनियन के अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु ने कहा कि इस मसले को देखेंगे और अगर कांट्रैक्ट के कर्मचारी है तो सदस्य नहीं हो सकता है. ये मेरे कार्यकाल का काम नहीं है, फिर भी मामले को देखेंगे. सही जानकारी सदस्यों और कर्मचारियों को दी जायेगी. सुबह 9.30 बजे से दोपहर 3 बजे तक यह कमेटी मीटिंग चली, जिसमें एक सेवानिवृत कमेटी मेंबर को सम्मानित किया गया. प्रधानमंत्री श्रम सम्मान पाने वाले सारे नौ लोगों को यूनियन में सम्मानित भी किया गया. इस दौरान यूनियन के कार का ऑक्सन करने का फैसला लिया गया. कैंसर रेस्ट हाऊस, माइकल जॉन ऑडिटोरियम में दो प्रोजेक्ट लगाने को मंजूरी ली गयी. मंगलवार को 35 लोगों ने मुद्दे उठाये.
कमेटी मीटिंग में ये सारे मुद्दे उठे (नीचे पढ़े पूरे मुद्दे)

  1. जी टाउन क्लब की सुविधा बढ़ाने की जरूरत है
  2. लगातार आउटसोर्सिंग काम का कराया जा रहा है
  3. नन वर्क्स में इंसेंटिव बोनस बेहतर करना होगा
  4. ब्रिज कोर्स में कई लोग फेल हो रहे है
  5. टीएमएच में सिस्टम में सुधार करने की जरूरत है
  6. कंपनी के कैंटीन की सुविधा को बेहतर बनाने की जरूरत है
  7. कोरोना, एलटीसी और बोनस के लिए अधिकांश ने बधाई दिया
  8. मुंबई में गेस्ट हाऊस बनाया जाये, जहां कैंसर के इलाज के लिए लाभ हो सके
  9. टीएमएच में कर्मचारियों का नंबर को स्थायी किया जाये
  10. क्वार्टर के फिक्सअप बंद होने से काफी नाराजगी
  11. बारीडीह डिस्पेंसरी को दुरुस्त करने के लिए मांग हुई
  12. टीएमएच इंक्वायरी का वाट्सएप जारी हो, नंबर नहीं मिल पाता है बुकिंग का
  13. बच्चों का इलाज का टीएमएच में बुकिंग नहीं हो पा रहा है.
  14. न्यू सीरीज के प्रोमोशन दिलाने का मुद्दा उठाया गया जबकि ग्रुप 4 का प्रोमोशन का रास्ता खोलने का मुद्दा उठा
  15. बिष्टुपुर बारी मेंशन को धरोहर है, बाहर के लोग है, कोई पदाधिकारी नहीं है, जिसमें यूनियन के पदाधिकारी को जगह दी जानी चाहिए.
    इन लोगों ने उठाये सवाल : राकेश कुमार सिंह टीएमएच, विकास दास एलडी 3, राजेश कुमार लाइम प्लांट, संजय कुमार सिंह न्यू बार मिल, ब्रतति और मीनू कुमारी टीएमएच, सीएसपी राव एलडी 2, राहुल श्रीवास्तव एलडी 2, प्रदीप कुमार दुबे एसएमडी, छोटेलाल टीएमएच, तरुण कुमार पिलेट प्लांट, अरुण श्रीवास्तव सिंटर प्लांट, अनिल कुमार प्रसाद सिंटर प्लांट, बंशीधर महतो एलडी 3, ब्रजेश सिंह ट्यूब, संजय पांडेय एलडी 2, दीप सिंह पावर सिस्टम, कृष्णा पांडेय सिक्यूरिटी, जफर इकबाल ट्यूब डिवीजन, पीडी खलको लाइम प्लांट, बिमल कुमार पावर सिस्टम, श्यामबाबू एलडी 3, दीवाकर राय पिलेट प्लांट, शिवरंजन एलडी 3, मोहम्मद रफीक एलडी 2, पीके सिंह सिंटर प्लांट, एसके सिंह आरएमएम, सौम्य रंजन दास आरएमएम, सुब्रतो सिन्हा आरएमएम, मनोज मिश्रा ट्यूब, गोपाल कृष्णा सिक्यूरिटी, बिमल कुमार फ्लैट प्रोडक्ट, सुमन कुमार पावर हाउस 3, नीरज नवीन एलडी 3

नीचे पढ़े कुछ लोग, जिन्होंने मुद्दे उठाये :
आरएमएम के सौम्य रंजन दास
* एनएस ग्रेड कर्मचारियों का वार्षिक इंक्रीमेंट 3% से कम हो के 2% से नीचे हो गया है
* डीए प्रति प्वाइंट 12 साल से बढ़ाया नहीं गया है, उसको बढ़ाने की जरूरत है
* शिक्षा भत्ता 600 रुपये प्रति बच्चा मिल रहा है, जबकि स्कूल औसत 2600 रुपये हर महीने ले रहा है. मतलब 2000 प्रति बच्चा अतिरिक्त देना पड़ रहा है, यानि अगर दो बच्चा है से 4000 कर्मचारी को पेट्रोल भत्ते में बढ़ोतरी होना चाहिए क्योंकि पेट्रोल प्रति लीटर करीब 100 रुपये पर पहुंच गया है.
* एससीसी यानी सुपरवाइजर योग्यता प्रमाणपत्र के लिए कोई भत्ता होना चाहिए जिसे कर्मचारी प्रोत्साहन के लिए मिले
* शिफ्ट प्रभारी भत्ता होना चाहिए,
* एचआरए और एक्टिंग आवेदन ऑनलाइन लिया जाना चाहिए
* कंपनी में बेबी क्रेच सुविधाएं चालू होना चाहिए
* दोपहिया गाड़ियों में दो कर्मचारियों के जाने की इजाजत होनी चाहिए.
राहुल श्रीवास्तव एलडी 2
* कोई कर्मचारी ग्रुप-1 के एनएस-3 मे है, तो उस कर्मचारी को ग्रुप-2, एनएस-4 मे जाने के लिए 4 साल का लाकिंग समय है. पर 4 साल होने के बाद एचआर के तरफ से बोला जाता है कि जगह नहीं है
* ग्रुप-2 मे जाने के लिए जो ई-लर्निंग करना पड़ता है, जिसमे अपने विभाग से ज्यादा, दूसरे विभागो की सवाल पूछे जाते हैं. इसमे सुधार होना चाहिए
सुमन कुमार, पावर हाउस 4
* एनएस के प्रोमोशन को लेकर समस्या आ रही है, उसे दूर किया जाये. खासकर ब्लॉक दो से ब्लॉक 3 में जाने के लिए डिप्लोमा की अनिवार्यता को समाप्त किया जाये और ब्लॉक 3 से ब्लॉक 4 में जाने के लिए रास्ता साफ तैयार करने की मांग की
* बारीडीह सुपर डिस्पेंसरी में एक चाइल्ड और गाइनिक और फिजियोथेरेपिस्टका बंदोबस्त होना चाहिए
* कैंटीन में परोसे जाने वाले खाना की गुणवत्ता में सुधार किया जाए.
तरुण कुमार, पिलेट प्लांट
* पुराने ग्रेड के कर्मचारियों की ही तरह एनएस ग्रेड के कर्मचारियों के लिए भी रिटायरमेन्ट के बाद मेडिकल सेवा को बहाल किया जाये.
* मेंटेनेंस ( इलेक्ट्रिकल और मैकेनिकल ) के कर्मचारी उन्हें भी ऑपरेशन की भांति एनएस 12 यानि की ब्लॉक 4 का प्रोविजन किया जाये.
* पुरी गेस्ट हाउस जल्द से जल्द चेंज किया जाए तथा डिमना गेस्ट हाउस में एसी का प्रोविजन हो, साथ ही साथ खाने की भी व्यवस्था की जाए, जिस तरह की पूरी गेस्ट हाउस में है.
पीके सिंह, सिंटर प्लांट
न्यू सीरीज के कर्मचारियों के प्रोमोशन प्रणाली में बदलाव लाने कि आवश्यकता है. वर्तमान में मेंटेनेंस कर्मचारियों के लिए ग्रुप 4 में जगह नही मिलती है, जिसके कारण ग्रुप 3 में कई कुशल कर्मचारी योग्यता रहने के बावजूद प्रोमोशन नही ले पा रहें है. इसके कारण ग्रुप 2 के जो कि ट्रेड अप्रेंटिस का इंट्री लेवल है में ही कई वर्षों तक रहना पड़ता है. ग्रुप 4 का जगह बनने से क्रमशः सभी कर्मचारियों का प्रमोशन का रास्ता प्रशस्त होगा.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!