spot_img

tata-workers-union-टाटा वर्कर्स यूनियन के ज्वाइंट कमेटी की ”तकनीकी” गलतियों में होगा सुधार, अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु का दो टूक जवाब, कहा-कमेटी की सूची फाइनल है, अब कोई बदलाव नहीं होगा, जातिवाद बरदाश्त नहीं, मजदूरों की सिर्फ एक जाति है ”मजदूर”, फिर भी चेक कर लें, सबको सम्मान मिला-exclusive-जानिये अध्यक्ष टुन्नु ने कमेटी को लेकर क्या कहा

राशिफल

टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु.

जमशेदपुर : टाटा वर्कर्स यूनियन में दमदार तरीके से चुनाव जीतकर आये यूनियन के अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु, महामंत्री सतीश सिंह और डिप्टी प्रेसिडेंट शैलेश सिंह की पूरी कमेटी ने कामकाज तेज कर दिया है. इस कड़ी में यूनियन के अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु ने ज्वाइंट कमेटी के सारे सदस्यों और जेडीसी के चेयरमैन की पूरी सूची जारी कर दी है. इस सूची में शामिल नामों का विरोध डिप्टी प्रेसिडेंट शैलेश सिंह ने किया है. इस विरोध के बीच अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु ने पहली बार ज्वाइंट कमेटी को लेकर अपना बयान दिया है. http://www.sharpbharat.com से बातचीत करते हुए संजीव चौधरी टुन्नु ने कहा है कि यह आरोप सरासर गलत है कि किसी से बातचीत नहीं हुई है. उन्होंने बताया कि महामंत्री और डिप्टी प्रेसिडेंट के साथ बातचीत हुई है. सभी लोगों से नाम का सुझाव लिया गया है. इन सारे सुझावों में से अधिकांश के नाम को एडजस्ट किया गया है. सभी का सुझाव अध्यक्ष मान ही लें और उसी सूची को ही जारी कर दें, यह संभव नहीं होता है. हमने अपने विवेक का इस्तेमाल करते हुए अधिकांश जगह पर सारे लोगों को एडजस्ट किया है, योग्य लोगों को जगह दी है. फिर भी असहमति और असंतुष्टि बनी रहती है, वह है, क्योंकि सबको जगह नहीं दिया जा सकता है और सबको खुश नहीं कर सकते है. जहां तक पीएफ ट्रस्टी की बात है तो एकही सीट को बदला गया है, जिसमें हमने अपने लोगों को जगह दी है. अध्यक्ष होकर हम एक व्यक्ति को भी नहीं रख सकते है क्या. तीन लोग तो पहले से जो थे, उनको बरकरार रखा गया है. जहां तक जातिवाद का आरोप लगाया गया है, यह आरोप सरासर गलत है. टाटा वर्कर्स यूनियन और टाटा स्टील मैनेजमेंट की नजर में सबका एक जाति होता है, वह है मजदूर की जाति, इसके अलावा कोई जाति नहीं है. जाति की राजनीति करना हमको पसंद नहीं है और बरदाश्त भी नहीं है. संजीव चौधरी टुन्नु ने कहा कि अगर जातिगत तरीके से भी देखना है तो उसको भी देख लिया जाये, जिसमें जवाब मिल जायेगा. सबसे अहम जेडब्ल्यूसी की कमेटी होती है, जिसमें देख लिया जाये, कितना लोगों को जगह दिया गया है और सबको जगह दी गयी है, कोई आरोप लगाने के लिए आरोप लगाये तो उसका कोई इलाज नहीं है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग सत्ता में हमेशा से मलाई खाते रहे है, उनकी दाल यहां गल नहीं रही है, इस कारण वे लोग बेवजह यूनियन को अशांत करने की कोशिश कर रहे है, ऐसे लोगों को हम कतई बरदाश्त नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि अध्यक्ष के पद पर हम है. अपने अधिकार क्षेत्र का इस्तेमाल करने का भी लोग विरोध कर रहे है, जो गलत है. बताइये कि क्या ये अध्यक्ष का अधिकार क्षेत्र नहीं है. हमने सुझाव ले लिया था, सुझाव को शत-प्रतिशत अमल ही कर दिया जाये, यह कैसे संभव है. वैसे कोई विरोध नहीं है, सारे लोग एक साथ है.
कुछ तकनीकी बदलाव जरूर होगा

अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु ने कहा कि कुछ तकनीकी खराबी थी, जिसको बदलाव किया जायेगा. उन्होंने बताया कि एक जगह पर एसके पांडेय के नाम पर कंफ्यूजन है क्योंकि एक संजय पांडेय है और एक एसके पांडेय भी है, इस कारण इस कंफ्यूजन को दूर किया जायेगा. कुछेक जगह में फायर ब्रिगेड के कमेटी मेंबर को सेफ्टी में दे दिया गया है जबकि सिक्यूरिटी और सेफ्टी में होना चाहिए था. ऐसे बदलाव हो सकता है, लेकिन अब और कोई बदलाव नाम को लेकर नहीं होने जा रहा है. जो सूची तैयार कर ली गयी है, वहीं फाइनल सूची है. (टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष का किसने किया स्वागत, देखें)

टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष का स्वागत करते यूनियन के कमेटी मेंबर.

कमेटी मेंबरों ने किया अध्यक्ष-महामंत्री का स्वागत
टाटा वर्कर्स यूनियन के कमेटी मेंबरों ने अध्यक्ष संजीव चौधरी टुन्नु और महामंत्री सतीश सिंह का स्वागत किया. कोल्ड रोलिंग मिल (सीआरएम) के जेडीसी चेयरमैन अश्विनी माथन ने टाटा वर्कर्स यूनियन के अध्यक्ष संजीव चौधरी और महामंत्री सतीश सिंह से मिलकर जेडीसी का चेयरमैन बनाने के लिए आभार प्रकट किया और सीआरएम के कर्मचारियों के कई लंबित मामले पर बातचीत भी की. इस दौरान सीआरएम से चुनाव जीतकर आने वाले सहायक सचिव नितेश राज, कमेटी मेंबर सरोज पांडेय, संदीप बेहरा समेत अन्य लोग उपस्थित थे.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!