[email protected]टीआरएफ अपनी डायमंड जुबली मना रही है, भव्य आयोजन में कंपनी के विकास यात्रा को किया गया नमन

राशिफल

जमशेदपुर : टाटा स्टील की सहयोगी कंपनी टीआरएफ लिमिटेड (जिसे पहले टाटा रॉबिन्स फ्रेजर लिमिटेड के नाम से जाना जाता था) ने अपने निगमन के 60 साल पूरे होने का जश्न मनाया. इस अवसर का जश्न मनाने के लिए, कंपनी परिसर में 5 दिसंबर को एक समारोह आयोजित किया गया जिसमें कंपनी के सभी कर्मचारियों, यूनियन के अधिकारियों और पूर्व कर्मचारियों ने भाग लिया. इस अवसर पर टाटा स्टील लिमिटेड के वाइस प्रेसिडेंट (टीक्यूएम और ईएंडपी) अवनीश गुप्ता ने टीआरएफ को 60 साल पूरा करने के उपलक्ष्य में बधाई दी.  उन्होंने कहा कि टीआरएफ इंफ्रास्ट्रक्चर और इंजीनियरिंग परियोजनाओं में भारत की विकास गाथा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है, जिसके लिए ईको-सिस्टम में पर्याप्त गुंजाइश है. उन्होंने टीआरएफ इंजीनियरों द्वारा किए गए अभिनव कार्यों की सराहना की. (नीचे पढ़ें पूरी खबर)

उनका मानना है कि या तो तकनीक खरीदकर या कर्मचारियों की अनंत क्षमता का उपयोग करके सुधार लाया जा सकता है जो किसी संगठन के लिए अधिक महत्वपूर्ण है.  उन्होंने महसूस किया कि हमें क्वालिटी सर्किल, स्मॉल ग्रुप एक्टिविटी, टीक्यूएम और लोगों की सहभागिता के माध्यम से सुधार लाने पर अपना ध्यान केंद्रित करना जारी रखना चाहिए. इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि यूनियन के अध्यक्ष राकेश्वर पांडेय ने कहा कि यह टीआरएफ के लिए एक ऐतिहासिक क्षण है. उन्होंने उच्चतम स्तर की गुणवत्ता बनाए रखने और सुरक्षा से कोई समझौता नहीं करने पर जोर दिया. कंपनी के प्रबंध निदेशक उमेश कुमार सिंह ने इस उपलब्धि को हासिल करने वाले कंपनी से जुड़े सभी लोगों के समर्पण और कड़ी मेहनत की सराहना की और कर्मचारियों को कंपनी की डायमंड जुबिली पर बधाई देते हुए उनकी सफलता की कामना की. उन्होंने आगे कुछ चुनौतियों के बारे में भी उल्लेख किया जैसे कौशल उन्नयन और उत्पादकता वृद्धि आदि.  (नीचे भी पढ़ें)

उन्होंने उच्चतम स्तर की सुरक्षा और नैतिक मानकों को बनाए रखने पर जोर दिया. इस अवसर पर कंपनी के कुछ पूर्व कर्मचारियों ने भी अपने अनुभव साझा किए. गणमान्य अतिथियों द्वारा टीआरएम के इक्विपमेंट और कोल हैंडलिंग प्लांट के रखरखाव पर एक पुस्तिका जारी की गई. जिन कर्मचारियों ने कंपनी में 40 से अधिक वर्षों की सेवा पूरी की थी, उन्हें लांग सर्विस अवार्ड प्रदान किया गया. समारोह का समापन टीआरएफ लेबर यूनियन के महासचिव श्री एम एच हिरामानेक के धन्यवाद ज्ञापन के साथ हुआ. हीरक जयंती वर्ष का जश्न मनाने के लिए अगले कुछ महीनों की अवधि में खेल और सांस्कृतिक कार्यक्रमों की एक श्रृंखला की योजना बनाई जा रही है. 1962 में हुई थी कंपनी की स्थापनाटीआरएफ लिमिटेड की स्थापना 1962 में बल्क मटेरियल हैंडलिंग के क्षेत्र में बिजली, इस्पात, खनन और बंदरगाह उद्योग की जरूरतों को पूरा करने के लिए की गई थी, जो हमारे देश के विकास के लिए प्रमुख उद्योग है. वर्षों से, टीआरएफ लिमिटेड बल्क मटेरियल हैंडलिंग इक्विपमेंट्स एंड सिस्टम्स का प्रमुख और सबसे विश्वसनीय निर्माता बन गया है, जिसने अपने ग्राहकों और अन्य हितधारकों से विश्वास और प्रशंसा अर्जित की है.

Must Read

Related Articles