spot_img
शुक्रवार, मई 14, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

jamshedpur-lockdown-झारखंड में बढ़ रहा संक्रमण, 1 अगस्त से ”जमशेदपुर, रांची, धनबाद” में लग सकता है ”लॉकडाउन”, क्या कहा स्वास्थ्य सचिव व आपदा सचिव ने प्रेस कांफ्रेंस में जानें

Advertisement
Advertisement

रांची/जमशेदपुर : झारखंड में तेजी से संक्रमण बढ़ता नजर आ रहा है. स्थिति नियंत्रण के बाहर है. हालात यह है कि झारखंड के पूरे राज्य में तो लॉकडाउन नहीं लगने वाला है, लेकिन जमशेदपुर (पूर्वी सिंहभूम), सरायकेला-खरसावां जिला, रांची और धनबाद जिले में लॉकडाउन लगाने पर राज्य सरकार विचार कर रही है. बताया जाता है कि 1 अगस्त से यह लॉकडाउन लग सकता है. दरअसल, जिला प्रशासन हो या टाटा स्टील समेत तमाम कंपनियों की क्षमता काफी खराब हो चुका है. बेड की कमी है. चिकित्सकों की कमी है. स्वास्थ्य कर्मियों की स्थिति खराब है. पूरी मशीनरी से जुड़े लोग भी संक्रमित हो रहे है, इस कारण हालात बेकाबू हो रहे है. इस कारण उपरोक्त जिलों में अब लॉकडाउन को ही सरकार विकल्प के तौर पर देख रही है, जिसको लेकर गंभीरता से सरकार विचार कर रही है. दस दिनों का यह लॉकडाउन 1 अगस्त से लग सकता है.

Advertisement
Advertisement

रांची में स्वास्थ्य सचिव डॉ नीतिन मदन कुलकर्णी और आपदा प्रबंधन सचिव डॉ अमिताभ कौशल का संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस
रांची में झारखंड के स्वास्थ्य सचिव डॉ नीतिन मदन कुलकर्णी और आपता प्रबंधन सचिव डॉ अमिताभ कौशल ने संयुक्त रुप से संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया. इन लोगों ने माना है कि रांची, धनबाद और जमशेदपुर में स्थिति खतरनाक है और कोरोना के लगातार मरीज बढ़ रहे है. इन लोगों ने कहा कि झाऱखंड में कोरोना संक्रमण का दायरा बढ़ गया है. इसके लिए लोगों को सावधानियां बरतनी होगी. कोविड- 19 के गाइडलाइन को पालन करते हुए मास्क पहना और सामाजिक दूरी बनाए रखना होगा, तभी हम इस लड़ाई में सफलता हासिल कर सकते है. आपदा सचिव ने कहा कि झारखंड राज्य में 263 ट्रेनें आई जिसके बाद राज्य में मूवमेंट बढ़ा और संक्रमितों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है. झारखंड में आने वाले लोगों को 14 दिन का पृथकवास (क्वारंटीन) में रहना पड़ेगा. राज्य के 65 फीसदी मामले बिहार व बंगाल के आए है. राज्य में मूवमेंट खत्म होने के बाद भी संक्रमण का मामला बढ़ता ही जा रहा है, जो चिंता का विषय है. इसके लिए सरकार ठोस कदम उठा रही है. इसके लिए आम जनता को भी उतना ही सहयोग करना होगा. राज्य में अब तक 8 लाख 18 हजार लोग आए जिनमें से पांच लाख 44 हजार प्र‌वासी मजदूर है. राज्य में 6 हजार चार सौ टेस्ट किए जा रहे है. श्री कुलकर्णी ने कहा कि जरुरत पड़ी टेस्ट की संख्या हर दिन 11 हजार तक की जा सकती है. झारखंड में रांची, जमशेदपुर और धनबाद हाट स्पॉट बनता जा रहा है. लोगों को सचेत रहने की जरूरत है. राज्य का रिकवरी रेट 43. 68 प्रतिशत है. विगत दिनों इस आंकडें में इजाफा हुआ था लेकिन हाल के दिनों संक्रमण व मौत के मामलों ने स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ा दी है. उन्होंने लोगो से अपील की है कि सककारी नियमों का पालन करते हुए अपना बचाव करें और दूसरे को भी सुझाव दे ताकि अपने मिशन पर कामयाब हो सके.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!