spot_imgspot_img
spot_img

jamshedpur-tmh-corona-update-जमशेदपुर के लिए अच्छी रिपोर्ट, टीएमएच में सिर्फ 17 ही कोरोना के मरीज भर्ती, ब्लैक फंगस का कोई नया मरीज नहीं, कोविशील्ड के साथ कोवैक्सीन का भी टीका देगा टीएमएच, पेड वैक्सीन सर्विस भी जल्द शुरू होगा, tmh-opd-सेवाएं सोमवार से शुरू होगी, जाने क्या है टीएमएच की कोरोना को लेकर फाइंडिंग, टीएमएच की क्या है सलाह, कोरोना से बचने के लिए क्या खाये, क्या नहीं

जमशेदपुर : कोरोना को लेकर करीब दो माह से परेशान जमशेदपुर के लोगों के लिए अच्छी खबर आयी है. जमशेदपुर में कोरोना सीधे तौर पर ढलान पर है. इसकी पुष्टि टीएमएच और टाटा स्टील के मेडिकल सर्विसेज के सलाहकार और पूर्व जीएम डॉ राजन चौधरी ने की. डॉ राजन चौधरी शुक्रवार को ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने बताया कि टीएमएच में कोरोना के मरीजों के आने का सिलसिला तेजी से घटा है और टीएमएच में अभी सिर्फ 17 कोरोना पोजिटिव मरीज ही भर्ती है. एक सप्ताह में 15 नये मरीज टीएमएच में भर्ती हुए है. हर दिन एक या दो ही भर्ती हो रहे है. पोजिटिविटी रेट भी घटकर 5.01 फीसदी हो गया है, जो पिछले सप्ताह 9.17 फीसदी था. डॉ राजन चौधरी ने बताया कि यह माना जाता है कि अगर 5 फीसदी से नीचे पोजिटिविटी रेट होता है तो बेहतर होता है और उस ओर हम लोग बढ़ चुके है. उन्होंने बताया कि जहां तक मौत का सवाल है तो एक सप्ताह में 5 मौतें हुई है, जिसमें 3 जमशेदपुर, एक सरायकेला-खरसावां और एक अन्य जिले के मरीज शामिल है. उन्होंने यह भी सुखद खबर दिया कि टीएमएच में एक भी कर्मचारी या डॉक्टर कोरोना से संक्रमित नहीं है.
टीकाकरण के कई विकल्पों पर चल रहा काम, पेड टीकाकरण जून के अंत तक संभव
डॉ राजन चौधरी ने बताया कि कोरोना का टीका भी लोगों को दिया जा रहा है. अब तक टीएमएच ने सरकार के साथ मिलकर 80 हजार टीका लोगों को दे चुकी है, जिसकी शुरुआत 16 जनवरी से की गयी थी. अब तक 80 हजार टीका लोगों को दिया जा चुका है. उन्होंने बताया कि अभी एक्सएलआरआइ और केएसएमएस में रोज 1500 से 1700 तक टीका दिया जा रहा है. लोगों का अच्छा रिस्पांस है. लोयोला स्कूल में टाटा स्टील के कर्मचारियों और उनके परिजनों को भी टीका दिया जा रहा है, जिसके प्रति लोगों का रुझान है. अभी चूंकि ज्यादा वैक्सीन उपलब्ध नहीं है, इस कारण पेड सर्विस गैर टाटा स्टील कर्मचारियों के लिए नहीं शुरू की जा सकी है. उन्होंने बताया कि टाटा स्टील के अलावा टिनप्लेट, टीएसडीपीएल, जुस्को, लांग प्रोडक्ट समेत तमाम टाटा स्टील की अनुषंगी कंपनियों के कर्मचारियों और परिजनों को टीका दिया जा रहा है. उन्होंने बताया कि टीकाकरण पहले से ज्यादा किया जा रहा है और पेड सर्विस के लिए टीके मंगाये जा रहे है और उम्मीद है कि जून के अंत तक टीका की नयी खेप भी आ जाये. उन्होंने बताया कि कोवीशिल्ड वैक्सीन अभी दी जा रही है और टीएमएच के पास यह उपलब्ध है और कोवैक्सीन को भी उपलब्ध कराने के लिए पेमेंट शुरू कर दिया गया है. स्पुतनिक के सप्लाइ को लेकर अभी स्थिति साफ नहीं हो पायी है.
दूसरे वेभ के बाद अब तीसरे वेभ की तैयारी जरूरी, जानें क्या करें क्या नहीं करें
डॉ राजन चौधरी ने बताया कि दूसरा वेभ नीचे जा रहा है, लेकिन लोगों को मास्क पहनना नहीं छोड़ना होगा, हाथ धोते रहना होगा, भीड़ वाले एरिया में नहीं जाना चाहिए नहीं तो संक्रमण और फैल सकता है. उन्होंने बताया कि तीसरे वेभ की तैयारी हम लोग कर रहे है. इसके तहत पांच एरिया में काम चल रहा है, जिसके तहत टीएमएच के अंडर में 1000 ऑक्सीजनयुक्त बेड तैयार किया जा रहा है, जो सेकेंड वेभ में करीब 450 था. इसमें बच्चों से लेकर बड़ों तक का इलाज आसानी से हो सके, ऐसी व्यवस्था की जा रही है. मैनपावर का जरूर संकट होता है, जिस कारण मैनपावर को हम लोग बहाल कर रहे है. इसके अलावा वेंटिलेटर, मोनिटर, इंफ्यूजन पंप, एक्सरे मशीन को उपलब्ध कराया जा रहा है. मैनपावर की बहाली एक चुनौती है, लेकिन इसको हम लोग जरूर बहाल किया जा रहा है. तीन से चार सप्ताह में बहाली हो जायेगी. इसके अलावा दवाओं की उपलब्धता को सुनिश्चित करायी जा रही है. जो भी दवाएं दी जानी है, जांच किया जाना है, किस समय में जांच किया जाना है, किस समय में दवाएं दी जानी है, यह अनुभव को लेकर तीसरे वेभ की तैयारी की जा रही है. डीआरडीओ की डीजी दवा मंगायी जा रही है जबकि एक अन्य दवा विदेशों में उपलब्ध है, जिससे ज्यादा इलाज नहीं हो पाता है, इस कारण अभी ज्यादा फैंसी दवाएं नहीं मंगायी जा रही है, जो जान बचाने के लिए जरूरी दवाएं है, उसको मंगाया जा रहा है.
टीएमएच देश के चुनिंदा अस्पताल में शामिल, जहां इतने इलाज हुए, कोरोना का सेकेंड वेभ क्यों इतना घातक हुआ, जानें
डॉ राजन चौधरी ने बताया कि सेकेड वेभ काफी खतरनाक था. पहले तो यूके बेस्ड म्यूटेंट आया जबकि दूसरा इंडियन म्यूटेंट आया, जिसका नाम अब डेल्टा वायरस है, जो तेजी से संक्रमण को फैलाया. उन्होंने बताया कि सांस लेने में दिक्कत कर दिया, जिस कारण सबसे ज्यादा दिक्कतें आयी. उन्होंने बताया कि टीएमएच देश के चुनिंदा अस्पतालों में शुमार है, जहां 7013 एक्टिव कोरोना के केस हैंडल किये गये. उन्होंने बताया कि इसका संक्रमण चूंकि एक से दूसरे में तेजी से फैल गया, इस कारण लोगों को काफी नुकसान झेलना पड़ा और जानें भी गयी.
ब्लैक फंगस के मरीज नये नहीं आये, दवाएं उपलब्ध

डॉ राजन चौधरी ने बताया कि ब्लैक फंगस यानी म्यूकोर माइकोसिस के केस नये नहीं आये है. 12 आये थे, जिसमें से 6 की मौत हो चुकी है और 3 अस्पताल में इलाजरत है और तीन लोग अस्पताल से छुट्टी लेकर चले गये है. दवाएं टीएमएच के पास जरूर उपलब्ध है, जिसकी उपलब्धता के अनुसार काम किया जा रहा है. नये केस अभी जमशेदपुर में नहीं आये है.
80 फीसदी का टीकाकरण होने के बाद सुरक्षित हो सकेगा जमशेदपुर और आसपास
उन्होंने बताया कि 80 फीसदी लोगों का टीकाकरण जब तक हो जायेगा तब तक हम लोग जरूर सुरक्षित हो सकेंगे, लेकिन तब तक यह नहीं कहा जा सकता है कि अभी इम्यूनिटी कितनी बढी है और कितने लोग टीकाकरण हो रहा है, उस पर निर्भर करेगा कि इम्यूनिटी कितने लोगो का बढ़ा है.
ओपीडी सेवा शुरू होगी, कोरोना ठीक होने के बाद भी कई लोग कई परेशानियां झेल रहे है, तीन माह तक आराम करें

उन्होंने बताया कि टीएमएच में सोमवार से ओपीडी की सेवाएं सामान्य हो जायेगी. कोरोना ठीक होने के बाद भी लोगों को सावधानी रखनी है. जिनको डाइबिटीज है, दिल का बीमारी है, उनको जो दवाएं दी गयी है उनका सेवन करते रहे. उसको कभी नहीं छोड़े. उन्होंने बताया कि कोरोना ठीक होने के बावजूद लोगों में काफी परेशानी देखी जा रही है. पोस्ट कोविड का फिजिकल और टेलीफोनिक इलाज चल रहा है. उन्होंने बताया कि टीएमएच फिजिकल के साथ साथ विश्वास एप के जरिये लोग टेलीफोनिक भी बातें कर सकते है ताकि अपनी शंकाओं को चिकित्सक से दूर किया जा सके. अभी तीन माह तक तो कोरोना से ठीक हो चुके लोगों को ज्यादा मेहनत वाला काम नहीं करना चाहिए.
कोरोना को लेकर यह तैयारी आप भी घरों पर करें, खान-पान ऐसा खाये

डॉ राजन चौधरी ने बताया कि कोरोना को लेकर लोगों को मास्क पहनना, हाथ धोते रहना चाहिए और सामाजिक दूरी का पालन करना चाहिए. उन्होंने बताया कि घर में फाइबर वाले खाने खाना चाहिए. फाइबर वाले सब्जिया, हेल्दी खाना खाये. मछलियों में ओमेगा होता है, जिसका संतुलित मात्रा में खाने की जरूरत है. मांसाहारी है तो लोग ऐसा करें. अंडा खाये. दूध, पनीर खाये. मोटापा ज्यादा होने नहीं दें. ज्यादा पानी का सेवन करें. घर को साफ-सूथरा रखने के साथ-साथ आसपास साफ-सूथरा रखें.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!