spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
242,972,896
Confirmed
Updated on October 21, 2021 7:50 PM
All countries
218,499,201
Recovered
Updated on October 21, 2021 7:50 PM
All countries
4,940,793
Deaths
Updated on October 21, 2021 7:50 PM
spot_img

jharkhand-lockdown-extention-झारखंड में जारी रहेगा लॉकडाउन, 4 मई से 17 मई तक तीसरे चरण का लॉकडाउन रहेगा, कोई राहत नहीं मिलेगा, जानिये क्यों और क्या लॉकडाउन बढ़ाने का कारण

Advertisement
Advertisement
इंडसइंड बैंक के लोगों द्वारा दिया गया टेस्टिंग किट.

रांची : झारखंड सरकार ने फैसला लिया है कि झारखंड में लॉकडाउन को पूर्ण रुप से जारी रखा जायेगा. 4 मई से 17 मई तक के लिए यह तीसरे चरण का लॉकडाउन बना रहेगा. खुद राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इसकी जानकारी ट्विटर पर साझा की है. ट्विटर पर दी गयी जानकारी में उन्होंने कहा है कि अगले दो सप्ताह तक लॉकडाउन लागू ही रहेगा. केंद्र सरकार द्वारा लॉकडाउन में छूट को लेकर दिये गये नये निर्देश झारखंड में लागू नहीं किये जायेंगे. इस तरह यह तय हो गया है कि किसी भी हाल में किसी तरह की रियायत लॉकडाउन में नहीं दिया जायेगा. झारखंड के रेड जोन हो या ग्रीन जोन या ओरेंज जोन, कहीं भी कोई रियायत नहीं दी गयी है. आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने लॉकडाउन में छूट देने की बात कहीं थी. रेड जोन, ग्रीन जोन और ओरेंज जोन के लिए अलग-अलग नियम लगाये थे, लेकिन झारखंड सरकार ने इस नियम को मानने से इनकार कर दिया है. बताया जाता है कि राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने संयुक्त रुप से हर जिले से रिपोर्ट ली थी. हर जिले के उपायुक्त ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि यह परेशानी की स्थिति हो जायेगी क्योंकि अभी टेस्टिंग भी काफी कम हो रही है और बाहर से मजदूर और छात्र से लेकर रोगी तक आ रहे है. ऐसे में कौन पोजिटिव है और कौन नेगेटिव यह पता ही नहीं चल पाया है. पहले टेस्ट को तेज किया जायेगा, उसके बाद ही लॉकडाउन में किसी तरह की छूट दी जा सकती है. इस तरह झारखंड में 17 मई तक हर जिले में लॉकडाउन को जारी रखा जायेगा. इसके लिए सभी जिले के उपायुक्त को भी आदेश दे दिया गया है. झारखंड में लॉकडाउन वैसे ही रहेगा, जितना रहता था और वहीं नियम लागू रहेगा, जो अब तक लागू रहेगा.

Advertisement
Advertisement

झारखंड सरकार ने क्यों लिया है फैसला
झारखंड सरकार ने यह फैसला इसलिए लिया क्योंकि टेस्टिंग किट का अभाव राज्य में है. टेस्टिंग किट के अभाव के कारण टेस्ट काफी कम हो रहा है. जो टेस्ट हो रहा है, वह रांची के रिम्स, रांची के पास स्थित इटकी आरोग्यशाला, जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल और धनबाद का पीएमसीएच में अभी जांच चल रही है. यह सारी व्यवस्था भी करीब 15 दिनों पहले ही पूरी तरह से शुरू हुई है यानी कुछेक हजार टेस्ट ही हुए है. जितने ज्यादा टेस्ट हो रहे है, उतने ज्यादा पोजिटिव भी मिल रहा है. वैसे ऊपर से कई तरह के पर्व त्योहार भी है, जिस कारण हालात और खतरनाक हो सकते है. वैसे भी इलाज के संसाधन का अभाव पहले से ही झारखंड झेल रहा है, इस कारण सरकार ने यह फैसला लिया है कि लॉकडाउन को बनाये रखा जायेगा ताकि संक्रमण के फैलाव को रोका जा सके.

Advertisement

कई कारपोरेट व बैंकिंग संस्थानों ने उपलब्ध कराया टेस्टिंग किट
मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से रविवार को राजधानी रांची के कांके रोड स्थित मुख्यमंत्री आवास में इंडसइंड बैंक रांची एवं भारत फाइनेंशियल इंक्लूजन लिमिटेड के कर्मियों ने मिलकर कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने हेतु राज्य सरकार को 4 हजार रैपिड टेस्टिंग किट सहयोग किया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि कोविड-19 की इस लड़ाई में आपसी सहयोग महत्वपूर्ण है. मुख्यमंत्री ने सभी स्वयंसेवी संस्थान एवं सक्षम लोगों को भी आगे आने की अपील की. इस अवसर पर इंडसइंड बैंक रांची के रीजनल मैनेजर राजकुमार कमल, फाइनेंशियल इंक्लूजन लिमिटेड रांची के आशीष कुमार दुबे, मनीष झा एवं उत्कर्ष उपस्थित थे.

Advertisement
[metaslider id=15963 cssclass=””]

Advertisement
Advertisement
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM
IMG-20200108-WA0007-808x566
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM (1)
WhatsApp_Image_2020-03-18_at_12.03.14_PM_1024x512
previous arrow
next arrow

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!