adityapur-big-news-आदित्यपुर में पुलिस पदाधिकारी ही करा रहा था गौ-तस्करी, पुलिस पदाधिकारी, होमगार्ड का जवान समेत पांच को गौतस्करी में भेजा जेल

Advertisement
Advertisement

आदित्यपुर : सरायकेला- खरसावां जिले के आदित्यपुर थाना अन्तर्गत गम्हरिया प्रखंड कार्यालय के समीप शुक्रवार को गौ रक्षकों द्वारा दबोचे गए मवेशियों से भरे ट्रक मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. आपको बता दें कि शुक्रवार देर रात मवेशियों से भरे ट्रक को गम्हरिया प्रखंड कार्यालय के समीप रोककर एक पिकअप वैन में अनलोड किया जा रहा था. जिसे देख गौ रक्षकों को शंका हुई और उन्होंने बीच सड़क पर हंगामा शुरू कर दिया. हालांकि पुलिस की सक्रियता के कारण आक्रोशित गौ रक्षकों को शांत कराते हुए ट्रक पर लदे सभी मवेशियों को सुरक्षित कलियाडीह गौशाला भिजवा दिया गया. (नीचे पूरी खबरें पढ़े)

Advertisement
Advertisement
Advertisement

बताया जा रहा है कि रामगढ़ के रजरप्पा थाना पुलिस ने तस्करी के लिए ले जा रहे मवेशियों को पकड़ा था, जिसे चाकुलिया गौशाला भिजवाया गया था. इसी बीच गम्हरिया प्रखंड कार्यालय के समीप ट्रक से एक पिकअप वैन में चार मवेशियों को अनलोड किया जा रहा था. जिसके बाद गौ रक्षकों ने हंगामा शुरू कर दिया. वैसे गौ रक्षकों के दबाव के बाद पिकअप वैन में लदे मवेशियों को आदित्यपुर थाना पुलिस ने जब्त कर लिया. जहां सरायकेला एसडीपीओ के निर्देश पर जांच शुरू हुई, जिसमें चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. जांच में जिला पुलिस ने पाया कि ट्रक से जिन चार मवेशियों को अनलोड किया जा रहा था उसे चाईबासा भिजवाने की योजना थी. जिसके पीछे रामगढ़ पुलिस के एक एएसआई, एक होमगार्ड और तीन चौकीदारों की संलिप्तता पायी गयी, जिसे सरायकेला पुलिस ने गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. वैसे पुलिस यह पता लगाने में जुट गयी है कि आखिर अतिरिक्त मवेशियों को ट्रक में कैसे लोड किया गया और इसके पीछे की मंशा क्या थी. वैसे इस चौंकाने वाले खुलासे के बाद हर कोई हैरान है, कि आखिर जिनके कंधों पर गौ तस्करी रोकने की जिम्मेवारी है वही तस्करी में शामिल है. निश्चित तौर पर राज्य पुलिस के लिए यह एक चिंता का विषय है. फिलहाल सरायकेला पुलिस के इस खुलासे ने सबको सकते में डाल दिया है. वहीं गौ रक्षक भी हैरान हैं.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply