spot_imgspot_img
spot_img

adityapur-police-action-आदित्यपुर में बंदी के वक्त बार खोलकर शराब पिलाने वाले मैनेजर को पुलिस ने भेजा जेल, देर रात हुई कार्रवाई

सरायकेला : सरायकेला- खरसावां जिले के आदित्यपुर थाना क्षेत्र स्थित उमेश इंक्लेब में संचालित हो रहे द लॉर्ड ऑफ ड्रिंक बार के मैनेजर अशोक दास को आदित्यपुर पुलिस ने सोमवार देर रात गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. पुलिस ने बार से हुक्का में मिलाने वाले कई तरह के फ्लेवर के पैकेट, सिगरेट, हुक्का पिलानेवाले जार, पाईप व अन्य संदिग्ध सामान बरामद किए हैं. इससे साफ हो गया है, कि उक्त बार में अवैध तरीके से हुक्का बार संचालित हो रहा था. विदित रहे कि रविवार को उक्त बार में अवैध तरीके से हुक्का बार संचालित होने की खबरे सोषल मीडिया के माध्यम से जिले के एसपी को मिली थी. जिसके बाद सोमवार को जिले के एसपी के निर्देश पर हेड क्वारर्टर डीएसपी ने उक्त बार में गम्हरिया थाना प्रभारी के साथ दबिश दी थी, और बार के मैनेजर से पूछताछ के बाद सीसीटीवी जप्त करने का आदेश दिया था. जहां सीसीटीवी फुटेज की जांच में साफ हो गया कि उक्त बार में युवाओं को हुक्का परोसा जा रहा था.  वहीं जांच के बाद एसपी के निर्देश पर बार के मैनेजेर को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू किया गया, जिसके बाद मैनेजर के स्वीकारोक्ति बयान पर उमेश इंक्लेब के पीछे स्टॉफ के क्वार्टर में छापेमारी करने पर सभी संदिग्ध सामान बरामद किए गए. वैसे आदित्यपुर थाना प्रभारी को इस छापेमारी से दूर रखा गया. बताया जाता है, कि वे छुट्टी पर हैं. बहरहाल इस छापेमारी से साफ हो गया है, कि आदित्यपुर को नशे के कारोबारियों ने पूरी तरह से अपनी गिरफ्त में ले लिया है. पहले से ही ब्राउन शुगर के लिए कुख्यात आदित्यपुर में पहली बार हुक्का बार संचालित होने का मामला प्रकाश में आया है. वहीं सूत्र बताते हैं कि यहां युवतियों को एक रूपए प्रति पैग के हिसाब से शराब परोसे जाते थे. हालांकि इसमें कितनी सच्चाई है, ये तो पुलिया तफ्तीश के बाद ही पता चल सकेगा. वैसे इसमें कोई दो राय नहीं है. कि हुक्का बार के जरिए आदित्यपुर के युवाओं को नशे के गर्त में झोंकने की पूरी तैयारी की जा रही थी. इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि इस बार के विषय में स्थानीय थाना को जानकारी नहीं होगी. जबकि उमेश इंक्लेव के तीसरे माले पर एक अस्पताल भी है. और इस बिल्डिंग के पीछे कई रसूखदार लोग भी रहते हैं. बताया जा रहा है, कि इस बार का मालिक कोई दीपक चौधरी है. फिलहाल जिले के एसपी के निर्देश पर KOPTA अधिनियम 2021 की धारा 188, 269 और 271 के साथ आपदा अधिनियम के तहत मामला दर्ज करते हुए मामले की तफ्तीश जारी है. बताया जाता है, कि दीपक चौधरी स्मार्ट विलेज के एमडी भी है.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!