adityapur-police-in-action-आदित्यपुर के नये थानेदार एक्शन में, भांजी लाठियां, लगायी उत्पाती युवकों की क्लास, सडकों पर दिखा पुलिस का खौफ, यक्ष प्रश्न-क्या वाकई में आदित्यपुर थाना अपराध मुक्त होगा !

राशिफल

आदित्यपुर : लगातार आदित्यपुर थाना क्षेत्र (सरायकेला-खरसावां जिला) में अपराधियों के बढ़ते हौसले और एक के बाद एक हत्याओं के बाद सुर्खियों में आए आदित्यपुर थाना के नए थाना इंचार्ज राजन कुमार पदभार संभालते ही एक्शन में आ गए हैं. थाना प्रभारी राजन कुमार ने सुबह से लेकर देर रात तक सड़क पर खुद मोर्चा संभाल रखा है. डीआईजी की ओर से अपराध नियंत्रण को लेकर मिले अतिरिक्त फोर्स के साथ थाना इंचार्ज क्षेत्र के हर संवेदनशील इलाकों में खुद गश्ती करते देखे जा रहे हैं. यहां तक कि जरूरत पड़ने पर लाठियां भी भांज रहे हैं. थानेदार के इस एक्शन को देख बेवजह सड़क पर घूमने वालों में हड़कंप मचा हुआ है. थाना प्रभारी राजन कुमार ने बताया, कि क्षेत्र को अपराध मुक्त बनाना उनकी पहली प्राथमिकता है. आदित्यपुर थाना क्षेत्र में अपराध करने की मंशा रखने वाले अपराधी सावधान रहें. अब सीधा एक्शन होगा. उन्होंने अपराधियों को सख्त संदेश देते हुए कहा है, कि या तो इलाका छोड़ दें, या हथियार डाल दें. पकड़े जाने पर कोई सुनवाई नहीं होगी. आदित्यपुर थाना प्रभारी राजन कुमार सुबह से लेकर देर रात तक आशियाना चौक, इमली चौक, मुस्लिम बस्ती, अलकतरा ड्रम बस्ती, आकाशवाणी चौक, पान दुकान चौक, हरिओम नगर, एस टाईप चौक, मांझी टोला, सालडीह बस्ती आदि संवेदनशील इलाकों में गश्त करते नजर आए. इस दौरान आकाशवाणी चौक के पास ऑटो के कारण लगने वाले जाम, इमली चौक के समीप बेवजह घूमते पाए गए युवकों, मुस्लिम बस्ती के समीप संदिग्ध जान पड़े युवकों की जमकर क्लास लगाई. उन्होंने सख्त लहजे में ऑटो चालकों एवं वहां मौजूद ट्रैफिक पुलिस कर्मियों को हिदायत देते हुए कहा है, कि दोबारा यदि जाम की स्थिति बनी और लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ा तो सख्त कार्रवाई की जाएगी. इस क्रम में थाना प्रभारी थाना रोड में लगने वाले जाम को लेकर भी खासे नाराज नजर आए. उन्होंने सब्जी विक्रेताओं को सख्त हिदायत देते हुए कहा है, कि अगर उनके कारण जाम की स्थिति बनेगी तो परेशानियों का सामना करना पड़ेगा. थानेदार के इस रूप को देखकर शुरुआती दौर में बेवजह सड़कों पर घूमने वाले युवाओं में जहां खौफ नजर आया, वहीं लोगों ने राहत की सांस ली है. अब सवाल यह उठता है, कि थाना प्रभारी का यह रूप कब तक कायम रहता है, इस पर लोगों की निगाहें टिकी है. क्या वाकई में आदित्यपुर थाना अपराध मुक्त होगा ! क्या अपराधी थानेदार की नसीहत स्वीकार करेंगे ! इस पर हमारी भी नजर बनी रहेगी.

Must Read

Related Articles