spot_img
शुक्रवार, मई 14, 2021
spot_imgspot_img
spot_img

jamshedpur-brutal-murder-कदमा में 4 लोगों की हत्या करने के बाद रात भर हत्यारा शवों के साथ सोता रहा, सुबह में टीचर आयी तो मारकर बॉक्स पलंग में डाल दिया, अर्धनग्न थी लाश, चप्पल आंगन में था, सबकी हत्या के बाद अपने एक साथी के परिवार को खाने पर बुलाया, फिर साथी व उसके साले को हथौड़े से मारकर किया घायल, सबको हथौड़े से मारकर की है हत्या, सुनिये जमशेदपुर एसएसपी क्या कहते है, एक क्लिक में जाने पूरे हत्याकांड की सनसनीखेज कहानी सुनिये-video

Advertisement
Advertisement
पति दीपक कुमार और उनकी पत्नी.

जमशेदपुर : जमशेदपुर के कदमा में टाटा स्टील के फायर ब्रिगेड के कर्मचारी दीपक कुमार द्वारा अपनी ही पत्नी, 7 साल और 14 साल के दो बच्चे और एक ट्यूशन टीचर की हत्या की तफ्तीश चल रही है. हत्यारोपी फरार है. घटना के बाद पुलिस की फोरेंसिक टीम सात घंटे तक सबूतों की खोजती रही. फोरेंसिक जांच के बाद पुलिस के हाथ कई सारे सुराग लगे है. जांच के बाद एसएसपी डॉ एम तमिल वाणन ने बताया कि पत्नी वीना और बेटी दीया और शानवी की हत्या देर रात ही हत्या कर दी गई थी. हत्या करने के बाद आरोपी दीपक रात भर शव के साथ ही सोया रहा. पत्नी और बच्चो के शव के आसपास चीटियां चल रही थी. सोमवार की सुबह 11 बजे जब ट्यूशन टीचर रिंकी घोष आई तो दीपक ने उसकी भी हत्या कर दी. हत्या के बाद शव को पलंग के बॉक्स में डाल दिया. उसका चप्पल एक आंगन में और एक घर के कमरे में मिली. दोपहर 2 बजे उसने अपने दोस्त रोशन को फोन कर खाने पर बुलाया और उस पर भी जानलेवा हमला किया. किसी तरह रोशन ने अपनी जान बचाई. तीन बजे उसका आखिरी लोकेशन बिष्टुपुर स्थित रमाडा होटल के पास मिला है. (नीचे पूरी खबर पढ़ें, कैसे हुई हत्या की वारदात, एसएसपी का बयान-video)

Advertisement
Advertisement
ट्यूशन टीचर जिसकी हत्या की गयी.

अर्धनग्न अवस्था में मिला ट्यूशन टीचर का शव
एसएसपी ने बताया कि ट्यूशन टीचर रिंकी का शव अर्धनग्न अवस्था में पलंग के बॉक्स में पाया गया. उसका एक चप्पल बाहर और एक कमरे के अंदर था. उसके हाथ बांधे गए थे. आशंका जताई जा रही है कि उसके साथ दुष्कर्म भी किया गया हो. हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही यह साफ हो पाएगा. पुलिस ने हथौड़ा भी बरामद कर लिया है, फिलहाल दीपक फरार है उसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी की जा रही है.(नीचे पूरी खबर पढ़ें, कैसे हुई हत्या की वारदात, एसएसपी का बयान-video)

Advertisement
दीपक कुमार, उसकी दोनों बेटियां और पत्नी एक साथ.

रोशन के साले पर भी हथौड़े से किया वार, किसी तरह बचाई जान
घटना के जानकारी देते हुए रोशन की पत्नी आराध्या ने बताया कि दीपक ने रोशन को फोन कर खाने पर बुलाया था. उसने 2 से 3 बार फोन भी किया. वो अपने पति रोशन, एक साल की बेटी और अपने भाई अंकित के साथ लगभग 2 बजे दीपक के घर पहुंची. घर पहुंचने के बाद दीपक ने अपना एक कमरा बंद किया हुआ था. उसने दूसरे कमरे में बिठाया. भाई अंकित सोफे पर बैठा था. वो अपने पति के साथ बच्ची को लेकर बाथरूम में गई थी. जब वापस कमरे पर आई तो देखा कि दीपक उसके भाई अंकित पर हथौड़े से वार कर रहा था. जब रोशन उसे बचाने गए तो दीपक उस पर भी वार करने लगा. किसी तरह वह अपनी बच्ची को लेकर जान बचाकर बाहर भागी और आसपास के लोगों से मदद मांगी. इसी बीच दीपक अपना एक बैग उठाकर बुलेट लेकर वहां से चला गया. वे लोग इलाज के लिए टीएमएच पहुंचे जहां अंकित की स्थिति गंभीर बनी हुई है. (नीचे पूरी खबर पढ़ें, कैसे हुई हत्या की वारदात, एसएसपी का बयान-video)

Advertisement

बहन को ढूंढता हुआ दीपक के घर पहुंचा और उसे कमरे में मृत पाया
ट्यूशन टीचर रिंकी घोष के भाई तन्मय घोष ने बताया कि उनकी बहन दीपक के बच्चो को पढ़ने जाती थी. वह 1 बजे तक घर आ जाती थी. लगभग 3 बजे तक वह वापस घर नहीं आई तो वे लोग उसे ढूंढने निकले. इस बीच रोशन का फोन आया कि दीपक ने कुछ कांड किया है. इसके बाद वह अस्पताल गया. अस्पताल में रोशन से मिला और फिर दीपक के घर पहुंचे तो घर के बाहर ताला लगा था. बाहर वीना के भाई विनोद खड़े थे. उनसे पूछने पर उन्होंने बताया कि घर में कुछ झगड़ा हुआ था. थोड़ी देर बाद रोशन ने उन्हें फोन कर जानकारी दी कि दीपक ने उसके साथ मारपीट की है. घर की जांच करने पर देखा कि उसके बहन की स्कूटी घर के अंदर रखी हुई है. ताला तोड़कर घर में घुसे तो देखा की वीना और उसकी 7 साल की बेटी मृत अवस्था में पड़ी हुई थी. उसके अंदर वाले कमरे में बड़ी बेटी थी पर रिंकी का अता पता नहीं था. दूसरे कमरे में जांच की तो देखा की रिंकी का शव पलंग के बॉक्स में रखा हुआ था. (नीचे पूरी खबर पढ़ें, कैसे हुई हत्या की वारदात, एसएसपी का बयान-video)

Advertisement
जमशेदपुर के एसएसपी डॉ एम तमिल वाणनन.

सुबह ससुराल से सारे गहने ले गया था दीपक
दीपक के साले विनोद ने बताया कि बहन वीना ने चोरी के डर से सारे गहने मायके में रखवा रखे थे. सोमवार सुबह दीपक ससुराल आया और कहा कि उसे लोन लेना है गहनों की जरूरत है, वह गहने ले गए. बाद में उन्हें जानकारी हुई की उसने पत्नी और बच्चों की हत्या कर दी है. उन्होंने बताया कि पिछले एक हफ्ते से उसने काम से छुट्टी ले रखी थी.(नीचे पूरी खबर पढ़ें, कैसे हुई हत्या की वारदात)

Advertisement
शवों को बरामद कर ले जाती पुलिस.

टाटा स्टील से एक सप्ताह से ली थी छुट्टी, बहन, भाई किसी से नहीं थे रिश्ते ठीक
टाटा स्टील के फायर ब्रिगेड में दीपक कुमार काम करता था. वह एक सप्ताह से छुट्टी पर था. वह ड्यूटी नहीं जा रहा था. छुट्टी क्यों ली थी, यह साफ नहीं है. दूसरी ओर, उनके पारिवारिक संबंध भी ठीक नहीं थे. दीपक का बहन और भाई से भी अनबन था. उसके पिता का निधन हो चुका था. पिता की ही वह नौकरी करता था.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

spot_imgspot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!