jamshedpur-criminal-arrested-by-bokaro-police-जमशेदपुर में सुधीर दुबे का नाम आगे कर अपना गैंग कदमा से चला रहा राजीव राम, कदमा से बोकारो पुलिस ने फरार भानु मांझी के साथी को किया गिरफ्तार, पिस्तौल समेत कई हथियार बरामद, कई नयी जानकारी का खुलासा

राशिफल

लाल टी शर्ट में राजीव राम.

जमशेदपुर : जमशेदपुर में गैंगस्टर अखिलेश सिंह के विरोधी गैंग सुधीर दुबे के नाम को आगे कर एक नया गैंग कदमा के रहने वाले जेल में बंद अपराधी राजीव राम चला रहा है. वह अपराधियों का नया गैंग तैयार कर रंगदारी वसूल रहा है. इसका खुलासा भानु मांझी ने किया था, जिसकी पुष्टि उसके एक और साथी आकाश सिंहदेव की गिरफ्तारी के बाद हुई. मंगलवार को बोकारो के माराफारी थाना की पुलिस ने कदमा भाटिया बस्ती में छापामारी कर आकाश सिंह को पिस्तौल के साथ गिरफ्तार कर लिया. आकाश सिंहदेश उर्फ डियो से पुलिस को कई महत्वपूर्ण जानकारी मिली है. जमशेदपुर और बोकारो की पुलिस ने संयुक्त रुप से उससे गहन पूछताछ की है, जिसमें यह बातें सामने आयी है कि बोकारो के व्यापारी राजू गुप्ता की हत्या और व्यापारी सुरेश पर फायरिंग करने में वह और शहनवाज खुद शामिल था. इसके अलावा भानु मांझी ने इस कांड को अंजाम दिया था. उन सारे लोगों को पैसे और हथियार राजीव राम ही उपलब्ध कराया था. अब पुलिस राजीव राम को रिमांड पर ले सकती है. कदमा भाटिया बस्ती निवासी भानु मांझी को रविवार को पुलिस ने गिरफ्तार किया था, जिसके बाद उसके साथी आकाश सिंह की तलाश पुलिस को थी. आकाश सिंहदेव के पास से पिस्तौल भी बरामद किया जा चुका है. पुलिस उसको बोकारो ले गयी है, जहां पुलिस इसका खुलासा करेगी. भानु और आकाश ने पुलिस को बताया है कि वह राजीव राम के कहने पर अपने मित्र शुभम मित्रा की स्कूटी से आकाश सिंहदेव के साथ बैग में पिस्तौल, कट्टा और गोली लेकर बोकारो चास स्थित अपनी बहनह के घर पांच सितंबर को पहुंचा था. मिठाई देने के बाद वह वहां से निकल गया था. चास के हाइवे पर धनबाद और चास की ओर जाने वाले चौराहे पर होटल में खाना खाया और दूसरे दिन बोकारो स्टेशन पहुंचा. राजीव राम ने वाट्सएप पर जानकारी दी कि स्कूटी की तस्वीर शहनवाज को भेज दिया है, जहां से स्कूटी देकर शहनवाज निकल गया. शहनवाज और आमिर अंसारी ने दूर से गुप्ता स्टोर को दिखाया, जहां दो लोग बैठे थे. इसी बीच वह दुकान में घुसा, जहां दो लोग दुकान पर थे जबकि ग्राहकों की भी भीड़ थी. उन लोगों ने पहले पिस्तौल निकाला और गोली चला दी, जिसके बाद हाथापायी हो गयी. लोगों ने उनका पीछा कर दिया था, लेकिन वे लोग भागने में कामयाब हो गये. भागने के दौरान ही पिस्तौल, हेलमेट, आकाश का कट्टा और बैग वहीं गिर गया. किसी तरह वे ल ोग स्कूटी से सवार होकर सीधे जमशेदपुर भाग गये.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

Must Read

Related Articles