spot_img

jamshedpur-cyber-crime-भालुबासा की महिला को बीएसएनएल के नाम पर ठगा, साइबर ठगी का इस तरह का दूसरा मामला, नागपुर से जमशेदपुर आये केमिस्ट से भी साइबर ठगों ने उड़ाये पैसे

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर में इन दिनों फोन नंबर के केवाईसी करने के नाम पर साइबर ठगी के मामले बढ़ते ही जा रहे है. लगातार खबरों के माध्यम से लोगों तक जागरूकता फैलाई जाती है, अखबारों में अक्सर इससे बचने के उपाय बताए जाते है, यहां तक कि मोबाइल ऑपरेटर भी अपने ग्राहकों को मैसेज के माध्यम से ये बताते है कि उनकी ओर से कोई भी जानकारी नहीं मांगी जाती. बावजूद इसके शहर के लोग ठगी का शिकार हो जाते है. ताजा मामला सीतारामडेरा के भालूबासा का है जहां शर्मिला शक्रवर्ती से 1.02 लाख की ठगी कर ली गई. इस मामले में शर्मिला ने बिष्टुपुर थाने में लिखित शिकायत की है. शिकायत के अनुसार 26 जून को दोपहर उनके मोबाइल नंबर पर मैसेज आया जिसमें बीएसएनएल मोबाइल सिम का केवाइसी नहीं होने के कारण नंबर 24 घंटे के भीतर सिम कार्ड बंद होने की जानकारी दी गई. नंबर चालू रखने के लिए कस्टमर केयर के नंबर फोन करें. उसी दिन दिए गए मोबाइल नंबर से मोबाइल नंबर 6295518332 और 6202253785 पर फोन कॉल किए तो फोन रिसीव करने वाले ने खुद को बीएसएनएल का कर्मचारी बताया और बताया कि केवाईसी नहीं होने के कारण मोबाइल नंबर बंद कर दिया जाएगा. उसने गूगल प्ले स्टोर से टीम व्यूअर क्विक स्पोर्ट एप डाउनलोड करने को कहा. इसे बाद 10 रुपये का पेमेंट डेबिट कार्ड से पेमेंट करने को कहा. कहने के अनुसार उन्होंने ऐसा किया तो उनके खाते से रुपए की निकासी कर ली गई.
केमिस्ट के खाते से अवैध निकासी

इधर साइबर ठगों ने नागपुर निवासी विकास दुबे के खाते से 18,799 रुपए की अवैध निकासी कर ली. विकास नागपुर के एक कंपनी में केमिस्ट का काम करते है. फिलहाल वह काम के सिलसिले में जमशेदपुर आए है. यहां उन्होंने गूगल से एक कंपनी का नंबर निकला. नंबर पर फोन करने पर सामने वाले ने उनके मोबाइल पर एक एप डाउनलोड करवाया. जिसके बाद उनके खाते से कुल 18,799 रुपए की अवैध निकासी कर ली गई.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!