क्राइमjamshedpur-kadma-murder-case : बेटी, पत्नी और ट्यूशन टीचर की हत्या मामले में...
spot_img

jamshedpur-kadma-murder-case : बेटी, पत्नी और ट्यूशन टीचर की हत्या मामले में पुलिस ने न्यायलय में सबमिट की 250 पन्नो की चार्जशीट, अभियुक्त दीपक ने हत्याकांड को कैसे दिया था अंजाम, पढ़िए पूरी कहानी

राशिफल

फाइल फोटो.

जमशेदपुर : जमशेदपुर के कदमा थाना अंतर्गत तीस्ता रोड स्थित क्वार्टर नंबर 98, 99 में दो बेटी, पत्नी और ट्यूशन टीचर की हत्या कर दुष्कर्म करने के मामले में पुलिस ने बुधवार को न्यायलय में घटना के 93 दिन बाद न्यायलय में चार्जशीट दाखिल कर दिया है. हत्या करने वाले दीपक के खिलाफ पुलिस ने 250 से ज्यादा पन्नो की चार्जशीट दाखिल की है जिसमे दीपक के खिलाफ घटना की पूरी जानकारी मौजूद है. वहीं पुलिस अभी फोरेंसिक से रिपोर्ट आने के बाद पुलिस सप्लीमेंट्री चार्जशीट दाखिल करेगी. पुलिस मामले का स्पीड ट्रायल करवाकर आरोपी दीपक को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने के लिए प्रयासरत है. (हत्याकांड को कैसे दिया था अंजाम, नीचे भी पढ़ें)

ऐसे दिया था घटना को अंजाम
दीपक बचपन से ही अय्याश किस्म का था. साल 2004 में उसकी शादी वीना से हुई थी. बचपन से ही प्रभु उसके साथ रहा करता था. साल 2012 में उसने टाटा स्टील में ज्वाइन किया. इसके बाद उसने 40 लाख में सोपोडेरा वाला घर बेच दिया. 20 लाख खुद रखे और 20 लाख रुपए भाई को दे दिया. 2019 में उसने प्रभु से 17 लाख रुपए में एक हाइवा लिया और साथ ही एक लाख रुपए में बाइक भी ली. बाद में उसे जानकारी हुई की हाइवा का 5 लाख रुपए का रोड टैक्स बकाया है. उसे प्रभु ने ठग दिया है. हालांकि हाइवा को उसने जोजोबेडा प्लांट में चलवा रहा था. बाद में लॉक डाउन के कारण उसका हाइवा नही चल रहा था. रौशन ने उसे बताया कि वह खड़कपुर स्थित एक कंपनी में हाइवा चले देगा. पर इस बीच रौशन ने उसे हिसाब नही दिया. बाद में उसने टाटा स्टील कॉ ऑपरेटिव सोसाइटी ने 4.5 लाख और बाकि 1.5 लाख रुपए का लोन लिया. उसकी सैलरी 34 हजार थी पर लोन के वजह से उसे मात्रा 8 हजार रूपए मिलते थे. इसी लिए वह परेशान रहा करता था. उसने घटना से 1 हफ्ते पहले से प्लानिंग कर रखी थी की रौशन को खाने पर बुलाकर उसे मरेगा और फिर टीचर की स्कूटी लेकर देर शाम प्रभु के साथ शराब पीने के दौरान उसकी हत्या करेगा. उसके पहले वह परिवार की हत्या करेगा. घटना की सुबह 5 बजे  पत्नी उठी थी. उसके साथ थोड़ी देर बात की, रोज की तरह फ्रिज में पानी रखा और लगभग 8 बजे पत्नी की हत्या की. हत्या करने के बाद पलंग पर सोई हुई बड़ी बेटी की हत्या की और फिर छोटी बेटी की हत्या कर दी. हत्या करने के बाद वह नहाया और फिर नहाने के बाद ससुराल जाकर वहां से गहने लिए. कदमा बाजार जाकर गहने बेचकर घर आया. इतने में टीचर घर आई. उसने चाकू की नोक पर टीचर से उसकी स्कूटी मांगी पर टीचर ने माना कर दिया. टीचर भागते हुए उस कमरे में गई जहां पत्नी का शव पड़ा था. उसने शव देख लिए. इसलिए पहले उसका हाथ और मुंह बंधा और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी. इस छीना झपटी में टीचर का कपड़ा इधर उधर हो गया जिससे उसकी नियत बिगड़ गई और टीचर के मारने के बाद उसके साथ दुष्कर्म किया. दुष्कर्म करने के बाद शव को बेड के अंदर डाल दिया. थोड़ी देर बाद रौशन घर आया पीआर उसके साथ उसकी पत्नी और साला को देखकर उसे लगा की उसक प्लान बेकार हो गया. इसलिए पहले उसने साले अंकित को मारने की सोची. उसने घर में म्यूजिक सिस्टम का साउंड हाई कर दिया और घर पर अंकित पर वह किया. रौशन पर भी वार किया पर रौशन की पत्नी आराध्या बाहर चली गई तो उसका प्लान फेल हो गया. किसी तरह इलाज करवाने का बहाना बनाकर वह वहां से भागा. आदित्यपुर, राजनगर और फिर वहां से राउरकेला पहुंचा. राउरकेला में उसकी बाइक पंचर हो गई तो वह बाइक को एक पंचर दुकान में छोड़कर वहां से कैब बुक किया और पूरी चला गया. पूरी में 13 और 14 अप्रैल को रुकने के बाद 15 अप्रैल को वह दूसरी कैब बुक कर रांची गया. रांची में शॉपिंग की ओर फिर वहां से धनबाद पहुंच गया. धनबाद में एक रात रुकने के बाद वह 16 की सुबह हीरापुर स्थित एचडीएफसी बैंक में भाई के अकाउंट में रुपए जमा करने पहुंचा पर यहां उसने मैनेजर से झगड़ा कर लिया जिसके बाद उसे पुलिस ने पकड़ लिए.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

Must Read

Related Articles

Floating Button Get News On WhatsApp
Don`t copy text!