jamshedpur murder case solved – आजादनगर के शब्बीर हत्याकांड का खुलासा, पांच गिरफ्तार, एक आरोपी की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती, आरोपियों के परिजनों ने एसएसपी ऑफिस से जेल भेजे जा रहे आरोपियों को छुड़ाने का किया प्रयास, पुलिस की जीप रोककर किया हंगामा, सिटी एसपी ने मौके को संभाला-देखिये-video

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर के आजादनगर कुली रोड कोयला टाल के बाद 13 जनवरी की रात हुई मोहम्मद शब्बीर अहमद की हत्या के मामले में पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल लोगों को गिरफ्तार कर लिया. गिरफ्तार लोगों में कपाली डांगरडीह निवासी मोहम्मद सद्दाम हुसैन, आजादनगर ओल्ड पुरुलिया रोड निवासी अतालिक अहमद, कपाली अलबेला गार्डेन निवासी सरफराज आलम, मानगो आजादनगर ओल्ड पुरुलिया रोड निवासी सैफ अली साकिर, ओल्ड पुरुलिया रोड निवासी मोहम्मद ताज शामिल है. गिरफ्तार लोगों के बयान पर इस कांड में शामिल स्कार्पियो (संख्या जेएच 05बीवाइ 5021), मोबाइल और 38 हजार रुपये जमा कराया गया है. इस कांड के आरोपी मोहम्मतद ताज के बीमार रहने के कारण टीएमएच में भर्ती कराया गया है. इस मामले में गिरफ्तार मोहम्मद सद्दाम हुसैन के खिलाफ पहले से चांडिल और आजादनगर थाना में कई सारे केस दर्ज हैह. जमशेदपुर के एसएसपी प्रभात कुमार ने बताया कि 12 जनवरी को ओल्ड पुरुलिया रोड बहरा मैदान निवासी मोहम्मद शज्जाद के साथ शहनवाज बच्चा उर्फ छोटू, गुलरेज, सद्दाब, रिंकू, दानिश द्वारा मारपीट किया गया था. इस संबंध में मोहम्मद सज्जाद के आवेदन पर आजादनगर थाना में एफआइआर दायर किया गया था. इसक मामले में मृतक मोहम्मद शब्बीर द्वारा पीड़ित परिवार को कानूनी सहयोग किया जा रहा था. इसके अलावा मोहम्मद शब्बीर का कपाली में जमीन का काोबार भी था, जिसे सारे आरोपी द्वारा काम करने से पहले भी मना किया गया था, लेकिन शब्बीर अहमद द्वारा काम जारी रखा गया था. इस कारण ही उनकी हत्या की गयी थी. आपको बता दें कि 13 जनवरी की रात आजादनगर कुली रोड कोयला टाल के बाद मोहम्मद शब्बीर की लड़कों ने पिटाई कर दी थी और गोली मारकर घायल कर दिया था. बाद में इलाज के दौरान उनकी रविवार को मौत हो गयी थी. (नीचे देखे परिजनों का हंगामा का वीडियो और पूरी खबर)

पुलिस की जीप को आरोपियों के परिजनों ने रोका, छुड़ाने का प्रयास किया, हंगामा
जमशेदपुर के एसएसपी ऑफिस में सारे आरोपियों को पकड़कर लाया गया था. इन सारे आरोपियों के परिजन एसएसपी ऑफिस पहुंच गये. इन लोगों ने पुलिस की जीप को रोक दिया. जिस पुलिस जीप से आरोपियों को जेल ले जाया जा रहा था, उसी जीप के आगे महिलाएं खड़ी हो गयी और हंगामा करने लगी. इन लोगों का कहना है कि बेवजह आरोपियों को फंसाया गया है. वे लोग निर्दोष है. माहौल की जानकारी मिलते ही सिटी एसपी के शंकर नीचे उतरे और लोगों को समझाया. इसके बाद आरोपियों को वहां से ले जाया गया.

Must Read

Related Articles