jamshedpur-police-success-कदमा से गिरफ्तार अपराधी भानु मांझी की गिरफ्तारी की www.sharpbharat.com की खबर सही साबित, पुलिस ने किया खुलासा, दो और साथी गिरफ्तार, हथियार जब्त, बोकारो पुलिस भी रिमांड पर लेगी-video

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : जमशेदपुर के कदमा से गिरफ्तार भानु मांझी उर्फ जीतेन मांझी (26) की गिरफ्तारी को लेकर रविवार को http://www.sharpbharat.com की खबर सही साबित हुई है. भानु मांझी को उसके उलियान गुरुद्वारा के पास स्थित घर से गिरफ्तार किया गया था, जिसकी खबर http://www.sharpbharat.com ने रविवार को ही दे दी थी. इसकी खबर की पुष्टि करते हुए जमशेदपुर के एसएसपी डॉ एम तमिल वाणन ने संवाददाता सम्मेलन में इसका खुलासा किया. उसके साथ दो और अपराधी उलियान कदमा के रहने वाले गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी सरदार (20) और कदमा उलियान धनंजय पथ निवासी दीपक बाग को भी गिरफ्तार किया है. इन तीनों के पास से एक लोहे का पिस्तौल, एक लोहे का देशी कट्टा और दोनों का एक-एक जिंदा गोली बरामद किया है. भानु मांझी के हाथ से एक लोहे का कड़ा, एक अंगूठी और दो मोबाइल को भी पुलिस ने जब्त किया है. एसएसपी जमशेदपुर के मुताबिक, बोकारो पुलिस को भी भानु मांझी की भी तलाश थी, जिसको बोकारो पुलिस भी रिमांड पर ले जायेगी. पुलिस के मुताबिक, शहनवाज आलम के लिखित आवेदन के आधार पर उसको गिरफ्तार किया गया है.

Advertisement
Advertisement
जमशेदपुर के एसएसपी डॉ एम तमिल वाणन.

शहनवाज आलम पर 10 सितंबर को गोली चलायी गयी थी, जिसको लेकर भानु मांझी की तलाश की जा रही थी. इसी बीच भानु मांझी ने कुणाल गोराई (कदमा भाटिया बस्ती) पर भी गोली चला दी थी. इस मामले को लेकर पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय दो अरविंद कुमार के नेतृत्व में एक टीम बनायी गयी थी. उक्त टीम में कदमा थाना प्रभारी रंजीत कुमार को भी शामिल किया गया था. इस दौरान पुलिस ने छापामारी कर सबसे पहले उलियान गुरुद्वारा के पास से भानु मां झी को गिरफ्तार किया. उसके बाद उसकी निशानदेही पर उसके दो और साथी को गिरफ्तार किया गया. उससे गहन पूछताछ की गयी, जिसके बाद उनकी निशानदेही पर हथियारों को जब्त किया गया है. इनको पकड़ने वालों में डीएसपी अरविंद कुमार और थानेदार रंजीत कुमार के अलावा पुलिस पदाधिकारी चंद्रशेखर रजक, हर्षवर्धन कुमार सिंह, विकास कुमार, अनिल कुमार, बसंती टुडू, मुकेश कुमार टुडू, संतोष कुमार सिंह, प्रमोद कुमार मांझी समेत अन्य पदाधिकाकरी शामिल थे. भानु मांझी के खिलाफ कदमा थाना क्षेत्र में ही छह अलग-अलग मुकदमा दायर है, जिसमें आर्म्स एक्ट के अलावा लूट, छिनतई, रंगदारी और हत्या का प्रयास का मामला दर्ज है. उसके अलावा उसके खिलाफ झारखंड के बोकारो जिले के माराफारी थाना क्षेत्र का एक मामला दर्ज है, जिसमें उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा दायर है. एक हत्याकांड में भानु मांझी की तलाश बोकारो की पुलिस कर रही थी. जमशेदपुर के एसएसपी ने बताया कि स्पीडी ट्रायल के जरिये भानु मांझी और अन्य अपराधियों को कड़ी सजा दिलाने का काम जमशेदपुर पुलिस करेगी.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply