spot_img

jamshedpur-ranchi-highway-accident-टाटा-रांची में हुई दुर्घटना के बाद कदमा में मातम, मरने वालों की संख्या बढ़कर 3 हुई, मरने वाले में एक इकलौता बेटा, बहन को शादी के बाद विदा कर रांची से लौट रहा भाई दुनिया से हो गया विदा, इस घटना और घटना से जुड़ी दर्दनाक पहलु को जानने के लिए पढ़िये डिटेल रिपोर्ट

राशिफल

घटना के पहले उसी कार के साथ सुमित ने ली थी तस्वीर, जो दुर्घटनाग्रस्त हुई.

जमशेदपुर : झारखंड के रांची जिले के नामकुम थाना क्षेत्र के जामचुंआ के पास खड़ी ट्रक में टक्कर होने से दो युवकों की मौत हो गई थी जबकि एक की मौत रिम्स में इलाज के दौरान हुई. मृतकों में टाटा स्टील से सेवानिवृत कर्मचारी राजेश कुमार का इकलौता बेटा राहुल कुमार सिंह है जबकि दूसरा जुगसलाई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत जनरल फिजिशियन डॉ महेंद्र प्रसाद का इकलौता बेटा सुमित कुमार शामिल है. वहीं एक अन्य की भी मौत हुई है. टाटा स्टील से सेवानिवृत्त कर्मचारी राजेश कुमार की बेटी ऋृतु की दिल्ली के रहने वाले विपुल गर्ग के साथ बुधवार को एनएच-33 स्थित गोल्डन लीफ रिसोर्ट में शादी हुई थी.

दुर्घटना में मृत राहुल कुमार और वह कार, जो उनके लिए मौत की गाड़ी बनी.

शादी के बाद रात दो बजे राजेश कुमार ने अपनी बेटी ऋतु को विदा किया. विदाई के बाद राहुल अपने तीन दोस्तों के साथ अपनी बहन को छोड़ने रांची एयरपोर्ट गया था. वहीं दिल्ली से बस से आई बारात बस से ही लौट गई. सभी को रांची एयरपोर्ट पर छोड़ने के बाद चारों जमशेदपुर वापस लौट रहे थे. नामकुम के पास खड़ी ट्रक में उनकी कार टकरा गई. मिली जानकारी के अनुसार कुछ दिनों पहले बेंगलुरु की एक आइटी कंपनी में उसकी नौकरी लगी है. बहन की शादी को लेकर वह जमशेदपुर आया था.

दुर्घटना के बाद कार का हाल.

वहीं सुमित अरका जैन युनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था. मरने वाले सारे कदमा के रानीकूदर का रहने वाला है. राहुल कुमार रानीकूदर रोड नंबर तीन का रहने वाला है जबकि सुमित कुमार कदमा रानीकूदर रोड नंबर दो का रहने वाला है. तीसरा भी वहीं का रहने वाला है. बहन नयी दिल्ली के लिए रवाना हो गयी है और बहन को जानकारी तक नहीं दिया गया है कि इस तरह का हादसा हुआ है. जानकारों के मुताबिक, वे लोग लौटते वक्त ही सड़क हादसे के शिकार हो गये. बताया जाता है कि जो गाड़ी चला रहे थे, उनकी आंख लग गयी, जिस कारण वे लोग खड़ी गाड़ी के अंदर घुस गये और उनकी मौत हो गयी. गाड़ी इतनी तेज थी कि ट्रक के पीछे से गाड़ी को बाहर निकालने के लिए करीब दो घंटे का वक्त लग गया, जिसके बाद शव को बाहर निकाला जा सका. कटर की मदद लेकर शव को बाहर निकाला जा सका. इस घटना के कुछ दिनों पहले ही इन युवकों ने उसी गाड़ी के साथ फोटो भी खिंचाई थी, जो दुर्घटना की शिकार हो गयी.

[metaslider id=15963 cssclass=””]
WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
[adsforwp id="129451"]

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!