spot_img

jamshedpur-road-accident-बिष्टुपुर लाइट सिग्नल गोलचक्कर के पास सड़क हादसा, मानगो के व्यक्ति की मौत, दो साल पहले भाई की भी हो चुकी है संदेहास्पद मौत, धक्का मारने वाली गाड़ी का घटनास्थल से मिला नंबर प्लेट, भाजपा नेता पहुंचे मृतक के घर, कहा-मुआवजा नहीं तो नहीं होगा अंतिम संस्कार

राशिफल

मृतक सुरेंद्र तिवारी.

जमशेदपुर : जमशेदपुर के बिष्टुपुर लाइट सिग्नल गोलचक्कर पर बीती रात करीब 1.30 बजे हुए सड़क हादसे में मानगो सुभाष कॉलोनी निवासी सुरेंद्र तिवारी की मौत हो गयी. वे करीब 48 साल के थे. देर रात हुए हादसे की जानकारी तत्काल वहां से गुजर रहे एक व्यक्ति ने पुलिस को दी, जिसके बाद पुलिस ने उनको अस्पताल पहुंचाया, तब तक उनकी मौत हो गयी थी. इसकी जानकारी घरवालों को जब मिली तो घर में मातम पसर गया. चीख पुकार मच गयी. घरवाले बदहवास होकर सीधे टीएमएच पहुंचे. इसके बाद लोगों का तांता लग गया. सुरेंद्र तिवारी जमशेदपुर के पत्रकार अमित तिवारी के भाई है. मृतक सुरेंद्र तिवारी मानगो के ही दादा ट्रांस्पोर्ट कंपनी में काम करते थे. बताया जाता है कि वे ट्रांस्पोर्ट की गाड़ी की बुकिंग कराकर और उसको गंतव्य की ओर भेजकर वापस घर लौट रहे थे. रात करीब डेढ़ बजे किसी चार पहिया वाहन ने उनको जोरदार टक्कर मारी. टक्कर ऐसी जोरदार थी कि उनके हर अंग के हिस्से टूट चुके थे. लहुलुहान हालत में वे सड़क पर पड़े थे. देर रात का वक्त था, जिस कारण एक व्यक्ति गाड़ी से वहां से गुजर रहा था, जिसने पुलिस को सूचित किया. पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और उनको उठाकर अस्पताल पहुंचाया, जहां उनकी मौत हो गयी थी.
दो साल पहले छोटे भाई की हो चुकी है संदेहास्पद मौत, मृतक के परिवार पर टूटा दुख का पहाड़
बताया जाता है कि मृतक मानगो सुभाष कॉलोनी निवासी सुरेंद्र तिवारी के परिवार पर दुख का पहाड़ टूट गया है. उनकी पत्नी के अलावा एक बेटा और एक बेटी है. वे ही कमाने वाले थे, जिनकी सड़क हादसे में मौत हो गयी. बताया जाता है कि दो साल पहले उनके अपने छोटे भाई की जमशेदपुर के साकची स्थित मोतीलाल स्कूल के पीछे मौत हो गयी थी. यह मौत संदेहास्पद थी. उनका शव स्कूल के पीछे के नाले से बरामद किया गया था.
जिस गाड़ी ने धक्का मारा, उसका नंबर प्लेट मिला, सीसीटीवी से पता चलेगा घटना कैसे घटी
बताया जाता है कि गाड़ी ने जो धक्का मारा है, उसका नंबर प्लेट भी सड़क पर मिला है. पुलिस अब सीसीटीवी से पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर घटना कैसे घटी है. पुलिस सीसीटीवी से सारी जांच कर रही है और नंबर प्लेट के माध्यम से यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि गाड़ी किसकी है. (नीचे देखे पूरी खबर)

मृतक के परिजनों से मिलने पहुंचे भाजपा नेता विकास सिंह, विजय तिवारी और अन्य.

मृतक के परिजनों को मुआवजा नहीं मिला तो शव नहीं उठेगा : भाजपा नेता
घटना की सूचना मिलने के बाद भाजपा नेता विकास सिंह, विजय तिवारी और कंहैया ओझा समेत कई लोग पहुंचे. सारे शोकाकुल परिवार से वे लोग मिले. परिवार को सांत्वना दिया. विकास सिंह ने कहा है कि सुरेंद्र तिवारी की मौत काम के दौरान हुई है. सरकारी मुआवजा हिट एंड रन का तो मिलना ही चाहिए, ऊपर से ट्रांस्पोर्ट कंपनी की ओर से मुआवजा देना होगा. अगर मुआवजा नहीं दिया जायेगा को वे लोग शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!