spot_img

jharkhand-congress-state-incharge-झारखंड कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडेय पहुंच गये कोतवाली थाना, डीएसपी को कहा-कैसे कर दिया हम पर आचार संहिता उल्लंघन का आरोप, फिर क्या हुआ जानें

राशिफल

रांची : झारखंड के कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय के खिलाफ रांची के कोतवाली थाना में दायर आचार संहिता उल्लंघन के मामले को लेकर खुद अविनाश पांडेय सरकार के मंत्रियों और कांग्रेस के सारे बड़े नेताओं के साथ कोतवारी थाना पहुंच गये. उनके साथ कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर, मंत्री सह विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, पूर्व सांसद डॉ अजय कुमार, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, कार्यकारी अध्यक्ष सह पूर्व विधायक बंधु तिर्की, विधायक दीपिका पांडेय सिंह समेत कई नेता मौजदू थे. यहां पहुंचकर अविनाश पांडेय ने वहां मौजूद पुलिस अधिकारी से एफआइआर के बारे में जानकारी ली और पूछा कि किन धाराओं के तहत उन पर केस किया गया है. इस मौके पर कोतवाली एरियना की डीएसपी यशोधरा मौजूद थी. उन्होंने अविनाश पांडेय से बातचीत में कहा कि उनको जो कहना है, वे लोग लिखित तौर पर दे दें, उनका पक्ष देखकर कार्रवाई की जायेगी. वरीय अधिकारियों के साथ वार्ता करने के बाद इस पर किसी तरह का कोई फैसला लिया जायेगा. वहीं, अविनाश पांडेय ने कहा कि धारा गलत लगाया गया है. निर्वाचन आयोग और जिला प्रशासन किसी के दबाव में आकर काम किया है और केस कराया है. इन लोगों ने एफआइआर का विरोध किया और कहा कि राजनीतिक दलों की बैठकों में जो बातें होती है, उस पर किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए. किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में कुछ बातें कहीं जाये तो यह माना जा सकता है, कि चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन हुआ है.
क्या है पूरा मामला :
कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडेय ने पार्टी के कार्यालय में बातचीत करते हुए कहा था कि पंचायत चुनाव जो लोग जीतेंगे, उनको पार्टी में जगह दी जायेगी. इस पर आपत्ति जताते हुए भाजपा ने राज्य निर्वाचन आयोग से शिकायत की थी और कहा था कि चुनाव होने तक कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडेय की झारखंड यात्रा पर प्रतिबंध लगा दिया जाये. चुनाव आयोग से शिकायत करने के लिए भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता कुणाल षाड़ंगी, अविनेश कुमार सिंह, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी योगेंद्र प्रताप सिंह, अधिवक्ता सुधीर श्रीवास्तव, प्रदेश मंत्री सुबोध सिंह गुड्डू, प्रदेश मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक समेत अन्य लोग आयोग के कार्यालय जाकर इसकी शिकायत की थी. इसके आधार पर चुनाव आयोग ने मामले की जांच कर कानूनी कार्रवाई करने का आदेश रांची के डीसी को दिया था. रांची डीसी के आदेश के बाद आचार संहिता उल्लंघन का केस अविनाश पांडेय और अन्य के खिलाफ कोतवाली थाना रांची में दायर कर दिया गया था.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!