spot_img
रविवार, अप्रैल 11, 2021
More
    spot_imgspot_img
    spot_img

    jharkhand-dgp-meeting-झारखंड डीजीपी एमवी राव ने जमशेदपुर में अपराधियों और नक्सलियों पर लगाम लगाने को लेकर की अहम बैठक, पुलिस पदाधिकारियों को सख्त निर्देश, सीएम हेमंत सोरेन और डीजीपी को धमकी भरा मेल भेजने पर गुस्साएं डीजीपी, कहा-हिम्मत है तो सामने आकर मुकाबला करें, जल्द पकड़े जायेंगे-video

    Advertisement
    Advertisement

    जमशेदपुर : झारखंड के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एमवी राव ने जमशेदपुर में अपराधियों और नक्सलियों पर लगाम लगाने को लेकर जमशेदपुर के एसएसपी ऑफिस में अहम बैठक की. इस बैठक में विस्तार से अपराध और नक्सलियों के बारे में चर्चा की गयी. इस दौरान अपराधियों के खिलाफ स्पीडी ट्रायल कोर्ट में शुरू कराने और संगठित अपराधिक गिरोह चलाने वाले हर तरह के अपराधियों को सीधे सलाखों के पीछे भेजने को कहा गया.

    Advertisement
    Advertisement

    अगर जरूरत पड़ी तो सीधे उनको उनकी जगह पहुंचाने की भी हिदायत जमशेदपुर के एसएसपी डॉ एम तमिल वाणनन को दिया. इस दौरान डॉ तमिल वाणनन के अलावा सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट समेत तमाम पदाधिकारी मौजूद थे. डीजीपी बनने के बाद एमवी राव पहली बार जमशेदपुर आये. उन्होंने इस बैठक के दौरान नक्सलियों को सीधे तौर पर चुनौती देते हुए अभियान चलाने का निर्देश दिया गया. डीजीपी के साथ इस मीटिंग में सीआरपीएफ के आइजी, एडीजी ऑपरेशन, कोल्हान के डीआइजी, जमशेदपुर के अलावा सरायकेला-खरसावां और पश्चिम सिंहभूम जिले के एसपी भी मौजूद थे. पूरे कोल्हान में इस तरह का अभियान चलाने को कहा गया.

    Advertisement

    घाटशिला अनुमंडल के पश्चिम बंगाल के सीमा क्षेत्र में लगातार हो रहे अपराधिक घटनाओं पर विस्तार से चर्चा की गयी. इस चर्चा के दौरान यह बताया गया कि झारखंड पुलिस नक्सलियों और अपराधियों पर नकेल कसने को लेकर ईनाम भी घोषित की गयी है. पुलिस और जनता के बीच समन्वय स्थापित करते हुए काम करने का दिशा-निर्देश दिया गया.

    Advertisement

    इस दौरान डीजीपी ने मुख्यमंत्री और उनको धमकी भरा ई-मेल भेजने पर भी कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की और कहा कि ऐसे लोग एकदम कायर है, जो सीधे तौर पर मुकाबला नहीं कर पाते है. उनमें अगर हिम्मत है तो सामने आकर मुकाबला करें. उन्होंने यह भी कहा कि फेक इ-मेल बनाने वाले भी पकड़े जायेंगे, वैसे लोग बचने वाले नहीं है.

    Advertisement

    इससे पहले डीजीपी पूरे दल बल के साथ पश्चिम सिंहभूम जिला गये थे. वहां से लौटते वक्त वे जमशेदपुर में रुके. हेलीकॉप्टर से पूरी टीम यहां आयी थी ताकि नक्सलियों का मनोबल तोड़ा जा सके और पुलिस का मनोबल को और ऊंचा किया जा सके. इस दौरान उनको गारद की सलामी सोनारी एयरपोर्ट पर भी दी गयी.

    Advertisement

    Advertisement
    Advertisement

    Leave a Reply

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    spot_imgspot_img

    Must Read

    Related Articles

    Don`t copy text!