spot_img

jharkhand-ED-raid-on-IAS-झारखंड की आइएएस पूजा सिंघल के 20 ठिकानों पर चल रही छापामारी में अब तक 300 करोड़ रुपये के निवेश का पता चला, 25 करोड़ से अधिक कैश बरामद, मशीने नोट गिनने के लिए लगायी गयी, ससुर गिरफ्तार, सीए से पूछताछ, कई राजनेताओं के साथ ”पैसों का गठजोड़” का खुलासा

राशिफल

पूजा सिंघल और उनके पति की तस्वीर.

रांची : झारखंड की खान और उद्योग सचिव आइएएस पूजा सिंघल के आवास समेत 20 ठिकानों पर चल रही इडी (प्रवर्तन निदेशालय-enforcement-directorate) की छापामारी में सनसनीखेज खुलासा हुआ है. अब तक करीब 300 करोड़ से अधिक के निवेश और अन्य जानकारी हाथ लगी है. अभी तफ्तीश जारी है. बताया जाता है कि सचिव पूजा सिंघल के रांची स्थित आवास से 25 करोड़ रुपये नगद बरामद किये गये है, जिसकी गिनती के लिए नोट गिनने वाले मशीन हाथ लगे है. इसके अलावा इडी की टीम रांची, धनबाद, खूंटी, राजस्थान के जयपुर, हरियामा के परीदाबाद व गुरुग्राम, पश्चिम बंगाल के कोलकाता, बिहार के मुजफ्फरपुर के अलावा दिल्ली के एनसीआर में छापामारी की जार ही है. रांची के कांके रोड के चांदनी चौक स्थित पंचवटी रेसिडेंसी के ब्लॉक नंबर नौ स्थित मकान, बरियातू स्थित उनके पति कारोबारी अभिषेक झा के पल्स अस्पताल में छापामारी की गयी है. आइएएस अधिकारी पूजा सिंघल के सरकारी आवास पर भी छापामारी की गयी है. इस मामले में इडी से भी संपर्क किया गया, लेकिन अधिकारिक तौर पर कोई जानकारी देने को विभागीय अधिकारी तैयार नहीं हुए जबकि पूजा सिंघल मोबाइल रिसीव नहीं की, जिस कारण बातचीत नहीं हो पायी. आपको बता दें कि आइएएस पूजा सिंघल के पति अभिषेक झा का अपना पैतृक आवास मुजफ्फरपुर में है. आइएएस अधिकारी राहुल पुरवार के साथ उनकी पहली शादी हुई थी, जिसके बाद उनका तलाक हो गया था और फिर उन्होंने अभिषेक झा से शादी की थी. अभिषेक झा के ठिकानें पर भी छापामारी की जा रही है. (नीचे देखे पूरी खबर)

धनबाद के एक खनन कंपनी में भी छापामारी की जा रही है. बताया जाता है कि इडी को आइएएस पूजा सिंघल के अलावा कुछ राजनेताओं के पैसे के लेनदेन की भी जानकारी मिली है. आपको बता दें कि पूजा सिंघल मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की करीबी आइएएस में से एक है जबकि उससे पहले वे पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास की भी करीबी थी. आपको बता दें कि मनरेगा घोटाले के अलावा खनन घोटाले से संबंधित मामले की जांच को लेकर यह कार्रवाई की गयी है. इस मामले में जूनियर इंजीनियर राम बिनोद प्रसाद सिन्हा को पहले गिरफ्तार किया जा चुका है. राम बिनोद प्रसाद सिन्हा ने अपनी गवाही में कही थी कि खूंटी में पदस्थापन के दौरान डीसी ऑफिस तक पैसे पहुंचाये जाते थे. खूंटी जिले में मनरेगा में 18.06 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ था, जिसमें पूजा सिंघल आरोपी थी. (नीचे देखे पूरी खबर)

पूजा सिंघल पर चतरा और पलामू में भी डीसी रहते हुए घोटाला करने का आरोप है. यह भी आरोप है कि पूजा सिंघल डीसी रहते हुए एनजीओ को मनरेगा के तहत 6 करोड़ रुपये का एडवांस राशि दे दिया. यह राशि मूसली की खेती के लिए दी गयी थी जबकि इस तरह का कोई कार्य वहां नहीं हुग़ा था, जिसकी जांच अभी जारी है. पलामू जिले की डीसी रहते हुए पूजा सिंघल पर आरोप है कि उन्होंने करीब 83 एकड़ वन भूमि को निजी कंपनी को खनन के लिए ट्रांस्फर कर दिये थे. यह कठौतिया कोल माइंस से जुड़ा मामला है. दूसरी ओर, मधुबनी के पास से पूजा सिंघल के ससुर कामेश्वर झा को भी गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है. पूजा सिंघल के रांची निवासी सीए से भी पुलिस पूछताछ कर रही है, जहां से कई नयी जानकारियां सामने आयी है. राजनेताओं, आइएएस अधिकारियों के गठजोड़ का खुलासा इस छापामारी में हुआ है.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!