spot_img

jharkhand-health-department-रांची और जमशेदपुर में होगा जीनोम सीक्वेंसिंग टेस्टिंग, कोरोना के नये वेरिएंट की हो सकेगी जांच, रिम्स के शासी परिषद की बैठक में कई मुद्दों पर बनी सहमति

राशिफल

रांची : झारखंड हाईकोर्ट के निर्देश के बाद रिम्स के 53वीं शासी परिषद की आपात बैठक आयोजित हुी. शासी परिषद के अध्यक्ष और स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता की अध्यक्षता में यह बैठक हुई. इसमें जन औषधी केंद्र का संचालन करने वाली एजेंसी के नाम को फाइनल किया गया. इसके अलावा रिम्स के प्रोफेशरों के प्रोमोशन पर भी फैसला लिया गया. इस दौरान यह भी तय किया गया कि राज्य में कोरोना के नये वेरिएंट ओमीक्रॉन की जांच के लिए जीनोम सीक्वेंसिंग मशीन की खरीद की जायेगी. मंत्री ने मीटिंग के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि जमशेदपुर के एमजीएम अस्पताल और रांची के रिम्स अस्पताल में जीनोम सीक्वेंसिंग मशीन खरीदी जायेगी. वर्तमान में इसके टेस्टिंग के लिए ओड़िशा के भुवनेश्वर स्थित आइएलएस लैब भेजा जाता है. इसके जरिये यह पता लगाया जाता है कि कौन सा वेरिएंट के कोरोना का हमला हुआ है. इस बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह, रिम्स के डायरेक्टर डॉ कामेश्वर प्रसाद, चिकित्सा अधीक्षक डॉ विवेक कश्यप, कांके के विधायक समरी लाल समेत अन्य लोग मौजूद थे. इस बैठक में 128 स्लाइस सिटी स्कैन मशीन की खरीददारी, कैंसर मरीजों की सेकाइ के लिए लीनियर एक्सीलेटर मशीन की खरीददारी, कोरोना के नये वेरिएंट की जांच के लिए सिस्टम विकसित करने, कार्यबल को बढ़ाने की मंजूरी, दो साइंटिस्ट, दो टेक्नीशियन और एक फैकल्टी का भी चयन को मंजूरी दी गयी. रिम्स में सफई और सुरक्षा के लिए काम करने वाली एजेंसियों के लिए नया प्रावधान जुर्माना का भी होगा. एजेंसी के काम में गड़बड़ी पाये जाने पर पहले 5 फीसदी और बाद में 10 फीसदी की राशि की कटौती करने का प्रस्ताव पारित किया गया. इसके अलावा रिसर्च और पढ़ाने के काम में टीचिंग एक्सीलेंस अवार्ड देने का फैसला लिया गया, जिसके लिए तीन-तीन फैकल्टी का नाम फाइनल होगा, जिसके तहत 50 हजार, 25 हजार और 10 हजार रुपये का पुरस्कार दिया जायेगा.

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!