spot_img
शनिवार, अप्रैल 17, 2021
More
    spot_imgspot_img
    spot_img

    Saraikela-Adityapur-crime : सरायकेला एसपी की नसीहत को गंभीरता से नहीं लेने पर हुई सुजय नंदी की हत्या, क्या और भी हैं निशाने पर !

    Advertisement
    Advertisement

    सरायकेला : सरायकेला-खरसावां पुलिस कप्तान मोहम्मद अर्शी ने बीते छह जून को ही आदित्यपुर ऑटो क्लस्टर में साफ कर दिया था कि जिले के कई सफेदपोश, कारोबारी और उद्यमी अपराधियों के निशाने पर हैं. ग़ौरतलब है कि उन्होंने यह अलर्ट उस वक्त जारी किया था जब जिला पुलिस ने अंतर राज्यीय कुख्यात सरगना जल्ला फिरोज और कलीम गिरोह के आपस में सामंजस्य स्थापित कर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना को डिकोड करते हुए आदित्यपुर इलाके के मुस्लिम बस्ती एच रोड से सरगना जल्ला फिरोज और कलीम को एक मोटरसाइकिल से जाने के क्रम में दबोचा गया था और इनके पास से लोडेड दो पिस्टल और कई राउंड जिंदा कारतूस बरामद किया गया था. जिनकी निशानदेही पर मोहम्मद इरशाद, मोहम्मद दानिश और मोहम्मद को कपाली के डेमडूबी इलाके से गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने इनके पास से भी दो देसी कट्टा भी बरामद किया था. उस वक्त एसपी ने बताया था कि दोनों गिरोह लॉक डाउन के दौरान आपस में मिल गए थे और किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे थे. उन्होंने बताया कि इनकी मंशा किसी नेता, सामाजिक कार्यकर्ता या उद्यमी की हत्या करने की थी. (नीचे भी पढ़ें)

    Advertisement
    Advertisement

    हालांकि उस वक्त उन्होंने किसी के नाम का खुलासा नहीं किया था. वहीं उस अलर्ट के बाद भी आदित्यपुर पुलिस ने या तो मामले को गंभीरता से नहीं लिया या लगातार सफलता के मद में चूर जिला पुलिस के आलाधिकारी का ध्यान अपने ही अलर्ट से भटक गया. बुधवार की घटना से इस बात का संकेत साफ है. जहां दिनदहाड़े बेखौफ अपराधियों ने अपराध की दुनिया से कारोबारी बने सप्लायर सुजय नंदी की गोली मारकर हत्या कर दी. हालांकि इसके पीछे जमशेदपुर के घाघीडीह जेल में सजा काट रहे कुख्यात अपराधी कृष्णा गोप के हाथ होने की आशंका जताई जा रही है. कृष्णा और सुजय के बीच पुरानी रंजिश बताई जा रही है. बताया जाता है कि कृष्णा ने साल 2018 में सुजय पर जानलेवा हमला किया था, जिसमें सुजय बाल- बाल बच गया था. उस मामले में सुजय की गवाही होनेवाली थी. बालू कारोबारी और अपराधी दीपक मुंडा हत्याकांड के अलावे कई मामलों में कृष्णा गोप सलाखों के पीछे सजा काट रहा है. बताया जाता है कि कृष्णा जेल से ही गिरोह को संचालित कर रहा है. आदित्यपुर नगर निगम के डिप्टी मेयर अमित उर्फ बॉबी सिंह भी कृष्णा गोप के निशाने पर हैं ऐसा माना जा रहा है. वहीं बुधवार की घटना में प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार पुलिस अपराधियों को पकड़ने में नाकाम रही, जबकि अपराधियों को स्थानीय लोगों ने एक घर में बंद कर काफी देर तक रखा था. (नीचे भी पढ़ें)

    Advertisement

    वहीं पुलिस के वरीय अधिकारियों ने बताया कि घटना के वक्त ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी जब तक घटनास्थल पर पहुंचते तबतक अपराधी घर की दीवार फांदकर भागने में सफल रहे. पुलिस के वरीय अधिकारियों ने जल्द ही मामले का खुलासा करने का दावा किया है. वैसे जानकारों एवं क्रिमिनल एक्टिविटी पर नजर रखनेवालों के अनुसार आदित्यपुर थाना पुलिस पर एसपी के अलर्ट को गंभीरता से नहीं लेने को इस घटना के पीछे का कारण मान रहे हैं. हालांकि सुजय नंदी की हत्या के बाद आदित्यपुर की जनता आक्रोशित हो उठी थी और टाटा-कांड्रा मुख्य मार्ग पर लगभग दो घण्टों तक आवागमन पूरी तरह से ठप्प कर दिया था. वैसे बाद में डिप्टी मेयर बॉबी सिंह की मौजुदगी में सरायकेला एसडीपीओ एवं गम्हरिया सीओ के 24 घंटे के भीतर अपराधियों की गिरफ्तारी, फास्ट ट्रैक कोर्ट में मामले की सुनवाई, परिजनों को सुरक्षा और उचित सरकारी मुवावजा दिलाने के आश्वासन के बाद सड़क जाम हटा लिया गया था.

    Advertisement

    Advertisement
    Advertisement

    Leave a Reply

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

    spot_imgspot_img

    Must Read

    Related Articles

    Don`t copy text!