Saraikela-crime : लेबर सप्लायर राजमोहन महतो हत्याकांड में दो शूटर व आर्म्स सप्लायर गिरफ्तार, देसी कट्टा, पिस्टल समेत कार व बिना नंबर वाली बाइक जब्त

Advertisement
Advertisement

Saraikela : सरायकेला-खरसावां पुलिस ने बीते रविवार को चौका थाना अंतर्गत खूंटी गांव के समीप लेबर सप्लायर राजमोहन महतो हत्याकांड का 24 घंटों में ही खुलासा करते हुए मंगलवार को जहां राजमोहन के बिजनेस पार्टनर विदेशी महतो एवं उसके ममेरे भाई संजय महतो को सुपारी देकर हत्या कराए जाने के आरोप में गिरफ्तार कर सनसनीखेज खुलासा किया था. वहीं बुधवार को जिला पुलिस ने इस हत्याकांड में दो शूटरों कृष्णा दास और रमण प्रताप बागती के साथ घटना को अंजाम देने में शामिल हथियार सप्लायर भुवन तांती को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. पुलिस ने उनके पास से लोडेड देसी कट्टा, एक पिस्टल, घटना में प्रयुक्त बगैर नंबर वाली पल्सर बाईक, एक बोलेरो और एक मोबाईल बरामद किया है. सरायकेला एसपी ने मंगलवार को ही साफ कर दिया था कि लेबर सप्लायर की हत्या आपसी रंजिश के कारण हुई थी.

Advertisement
Advertisement

बुधवार को मामले के बाकी अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद पूरे घटनाक्रम पर प्रकाश डालते हुए एसपी मोहम्मद अर्शी ने बताया कि मृतक नरसिंह इस्पात प्राइवेट लिमिटेड कंपनी में लेबर सप्लाई करता था, जिसमें विदेशी महतो पार्टनर की भूमिका में था. 20 दिन पूर्व पैसों के लेनदेन को लेकर दोनों पार्टनर के बीच विवाद हुआ. उसके बाद विदेशी महतो ने अपने ममेरे भाई संजय महतो के साथ मिलकर राजमोहन महतो की हत्या की योजना बनाई. इसी क्रम में विदेशी महतो ने अपने ममेरे भाई संजय महतो के गांव रायडीह के हथियार सप्लायर भुवन महतो से संपर्क किया. जहां भुवन ने शूटर कृष्णा दास उर्फ अजय दास से मिलकर खूंटी के अड़की थाना क्षेत्र के बुसुडीह के शूटर रमण प्रताप बागती के साथ मिलकर डेढ़ लाख में राजमोहन महतो को रास्ते से हटाने का सौदा किया.

Advertisement

एसपी श्री अर्शी ने बताया कि घटना के दिन कांड्रा-चौका घाटी में भुवन ने दोनों शूटरों को हथियार उपलब्ध कराया, वहीं विदेशी महतो और संजय महतो ने दोनों शूटरों को बगैर नंबर वाली पल्सर बाईक उपलब्ध कराई. उसके बाद विदेशी और संजय अपने बोलेरो संख्या JH05CJ- 9413 में बेठकर रेकी करते हुए शूटरों को इसकी जानकारी दी कि राजमोहन महतो हुडिंग होटल के समीप है. जहां शूटरों ने हुडिंह होटल के समीप बैठे राजमोहन महतो को एक के बाद एक चार गोलिया मार दी थी. राजमोहन की टाटा मुख्य अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी थी. फिलहाल सरायकेला-खरसावां पुलिस ने चौका हत्याकांड मामले से जुड़े सभी अपराधकर्मियों को सलाखो के पीछे भेज दिया है.

Advertisement

Advertisement
Advertisement

Leave a Reply