west-singhbhum-पश्चिम सिंहभूम के सोनुआ जंगल में नक्सली व पुलिस के बीच मुठभेड़, एक उग्रवादी गिरफ्तार, उग्रवादियों के तीन हथियार भी लगी पुलिस की हाथ, पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप भाग निकलने हुआ सफल

Advertisement
Advertisement
जब्त किया गया सामान.

रामगोपाल जेना/संतोष वर्मा
चाईबासा : पश्चिमी सिंहभूम जिले के पोड़ाहाट जंगलों में एक बार फिर सोनुआ थाना क्षेत्र के ग्राम उदलकम-बोबोंगा के केड़ाबेड़ा जंगल के पहाड़ी क्षेत्र में सोमवार को पुलिस व पीएलएफआई उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ हुई. मुठभेड़ के दौरान दोनो ओर से फायरिंग हुई, लेकिन हर बार की तरह इस बार भी पुलिस को भारी पड़ता देख कई उग्रवादी भाग निकले. पुलिस ने वहां एक नक्सली को पकड़ने में कामयाबी पायी जबकि तीन हथियार समेत भारी मात्रा में गोला बारूद और नक्सली सामानों को जब्त करने में भी पुलिस को सफलता मिली. पश्चिम सिंहभूम पुलिस को इस बात कि खबर मिली थी कि क्षेत्र में पीएलएफआई उग्रवादी संगठन के मुखिया क्षेत्र में अपने साथियों के साथ बैठक करने वाले है. इसी सूचना के आलोक में इन उग्रवादियों की खोज में चाईबासा पुलिस एवं सीआरपीएफ 60 बीएन की संयुक्त टीम द्वारा सर्च अभियान चलाया गया. अभियान के दौरान शाम लगभग पांच बजे प्रतिबंधित संगठन पीएलएफआई उग्रवादियों के साथ मुठभेड़ हुआ जिसमें प्रारंभिक सर्च अभियान के दौरान तीन हथियार, मैगजीन, जिंदा राउण्ड, खोखा, आठ पीठु बैग, सोलर लाईट एक, चाटाई, मोबाईल फोन, चार्जर, वर्दी, नक्सली साहित्य, नक्सली द्वारा लेवी वसूले जाने वाले पर्ची, दैनिक उपयोग के काफी सामान इत्यादि बरामद हुए हैं . साथ ही एक नक्सली भी घटनास्थल से गिरफ्तार हुआ है. इस अभियान के दौरान पीएलएफआइ प्रमुख दिनेश गोप भागने में सफल रहा. अभियान दल में राजु डी नायक, प्रणव आनन्द झा, अपर पुलिस अधीक्षक ( अभियान ) बिरेन्द्र कुमार, सहायक समादेष्टा सीआरपीएफ 60 बीएन क्वैट पंकज राय, सहायक समादेष्टा सीआरपीएफ 60 बीएनएफ कोय 5 कुलदीप कुमार, सोनुआ थाना प्रभारी व सशस्त्र बल शामिल थे.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement

Leave a Reply