Home मनोरंजन jamshedpur-artist-new-album-जमशेदपुर से देश में नाम कमाने वाले गायक प्रभजोत के एलबम भोले...

jamshedpur-artist-new-album-जमशेदपुर से देश में नाम कमाने वाले गायक प्रभजोत के एलबम भोले की दिवानी के पोस्टर का हुआ लोकार्पण, नये एलबम मचायेगा धूम

जमशेदपुर : जमशेदपुर के तार कम्पनी गुरुद्वारा हॉल में जमशेदपुर से देश में नाम कमाने वाले गायक प्रभजोत सिंह मन्नी के एलबम ‘भोले की दिवानी’ के पोस्टर का लोकार्पण हुआ. इस मौके पर मुख्य अतिथि भाजपा के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता अमरप्रीत सिंह ‘काले’ और उदघाटनकर्ता मजदूर नेता राकेश्वर पांडेय मौजूद थे. इस मौके पर विशिष्ट अतिथि के तौर पर अधिवक्ता सुधीर कुमार पप्पू मौजूद थे. तीनो ने संयुक्त रुप से पोस्टर का विमोचन किया. इस मौके पर अमरप्रीत सिंह काले ने प्रभजोत को देश के उभरते कलाकार के रुप में संबोधित किया और कहा कि उनका उज्जवल भविष्य है और वे इसी तरह कड़ी मेहनत करते रहे. इस मौके पर राकेश्वर पांडेय ने भी अपनी ओर से उनको आर्शीवाद दिया और कहा कि आने वाले दिनों में प्रभजोत जरूर देश में कलाकार बनकर उभरेंगे. प्रभजोत सिंह मन्नी ने 2004 से गाना शुरु किया, जिसने सुर तरंग की प्रतियोगिता में पहली बार फिल्मी गीत गाया, जिसमें उसे सारे झारखण्ड में प्रथम स्थान मिला और उसे राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए नई दिल्ली बुलाया गया, जहां कुमार शानू एवं श्रेया घोषाल के सामने गीत प्रस्तुत करने का अवसर मिला. इसके बाद 2006 में झारखण्ड की संगीत प्रतियोगिता में झारखण्ड आइडल का खिताब जीता. 2011 में फिर मन्नी का जीटीवी सारेगामापा की प्रतियोगिता के लिए चयन किया गया और मुंबई बुलाया गया. 2013 में उसे भोजपुरी गानो कि प्रतियोगिता सुर संग्राम में महुआ चैनल पर मालिनी अवस्थी, कल्पना पटवारी और भरत शर्मा के सामने गाने का अवसर प्राप्त हुआ. 2016 में फिर पीटीसी पंजाबी की गुरुबाणी संगीत प्रतियोगिता ‘गाओ सच्ची वाणी में पुरे झारखण्ड से प्रभजोत सिंह ‘मन्नी” का चयन किया गया. जहां पंजाब में दो महीने रहकर शब्द गुरुबाणी गायन करने का ज्ञान मिला. 5 वर्ष की उम्र में “मन्नी’ की पहली एल्बम जय मां छिन्नमस्तिके आई और दूसरी एल्बम मईया जी के मेले में 2021 में उसने यूट्यूब चैनल पर अपना लखेमनी ऑफिशियर (Lakhemanni official) चैनल बनाया, जिस पर पहले शब्द गुरुवाणी से चैनल की शुरुआत की. पहला शब्द ‘मित्तर पिआरे नू’ से की. उसके बाद भजन मुरलीघर कन्हैया, शिव की शादी, मईया तेरी ऊंची दुवरीया, लाल है झंडा बजरंग का और छठ गीत ‘कब होई दर्शन दीनानाथ’ जो की सोशल मीडिया पर काफी लोकप्रिय रहा, जिसे सुनकर उसे बिहार, उत्तर प्रदेश और झारखण्ड से काफी फोन और मैसेज आते थे और इन भजनो के माध्यम से उसे मुजफ्फरपुर, लालगंज, वैशाली, बेगुसराय और पटना में भजन प्रोग्राम करने का अवसर मिला. अभी सावन में अंधी लड़की की कहानी पर गाया हुआ भजन “भोले की दिवानी, जो कि सोशल मीडिया पर काफी लोकप्रिय हो रहा है, जिसे सुनकर भजन प्रेमियों के बहुत सारे फोन और मैसेज आ रहे है. अभी प्रभजोत सिंह ‘मन्नी द्वारा बोकारो, कोलकाता, टाटानगर और पुरुलीया में भजन के प्रोग्राम किये जाएंगे.

NO COMMENTS

Leave a Reply

Don`t copy text!