Jamshedpur-Odiya-Samaj : फिल्म “दमन” के प्रदर्शन से शहर का ओड़िया समाज खुश, 31 साल बाद शहर के किसी हॉल में लगी ओड़िया फिल्म, आदिवासी गांवों में मलेरिया उन्मूलन पर बनी है फिल्म

राशिफल

जमशेदपुर : जमशेदपुर के ओड़िया भाषियों को करीब 31 वर्ष बाद रविवार को शहर में ओड़ीया भाषा में बनी फिल्म देखने का मौका मिला. उन्हें यह मौका मिला ओड़िया में बनी ‘दमन’ फिल्म के प्रदर्शन से, जिसका आज जमशेदपुर सहित पूरे देश में प्रदर्शन शुरू हुआ. शहर वासी निरंजन महापात्र उर्फ नीरू भाई के प्रयासों से जमशेदपुर में प्रदर्शित हो रही इस फिल्म ‘दमन‘ में पश्चिम ओड़िशा के 8 जिलों के दुर्गम वन प्रांतों में निवास करने वाले जनजातीय लोगों को मलेरिया से निजात दिलाने के डॉक्टरों एवं पारामेडिकल टीम के अथक प्रयासों को दर्शाया गया है. (नीचे भी पढ़ें)

यह फिल्म रविवार को ओड़िशा के 51 सिनेमाघरों के अलावा पूरे देश के 15 सिनेमाघरों में एक साथ प्रदर्शित की गई, जिसमें जनजाति बहुल क्षेत्रों के ग्रामीणों को मलेरिया उन्मूलन के प्रति जागरूक करने की कोशिश को थीम बनाया गया है. बताते चलें कि इससे पूर्व जमशेदपुर के ओड़िया भाषियों को करीब 31 साल पूर्व अप्रैल 1991 में ओड़िया भाषा की फिल्म ‘मानिनी’ शहर के सिनेमाघर में देखने को मिली थी. निरंजन नायक के साथ ओड़िया समाज के अनेक गणमान्य लोगों ने समाज के अधिक से अधिक लोगों को दमन फिल्म देखने के लिए प्रेरित करने का काम किया.

Must Read

Related Articles