viral-fever-home-remedies- बदलते मौसम से वायरल फीवर के शिकार हो रहे बच्चे व बुजुर्ग, आजमायें ये पांच उपचार, जल्द मिलेगी निजात

राशिफल

जमशेदपुर : इन दिनों मौसम के मिजाज में उतार-चढ़ाव के कारण आये दिन लोग वायरल फीवर की चपेट में आ रहे हैं. इसका शिकार केवल बच्चे ही नहीं बल्कि बुजुर्ग व अन्य लोग भी हो रहे हैं. मौसम में बदलाव के कारण शरीर का इम्यून सिस्टम थोड़ा कमजोर हो जाता है. इस कारण इन दिनों वायरल फीवर की चपेट में ज्यादातर बच्चें व बुजुर्ग आते हैं. वायरल फीवर आम फीवर की तहत ही होता है. इन दिनों आम बुखार होने से भी लोगों में कोरोना का भय हो जाता है. वायरल में ज्यादातर बुखार, गले में दर्द, खांसी, सर्दी, आखों में लालीमा व थकान के शिकार होते हैं. जो लोग इस वायरल फीवर का शिकार हो रहे है उन्हें घरले नुस्खे का प्रयोग करना चाहिए. अगर घरेलू नुस्खे से ठीक नहीं हुए तो डॉक्टरों की भी सलाह आवश्यक लें. वायरल फीवर होने पर सबसे पहले अपना कमरा अलग कर लें. (नीचे भी पढ़ें)

ऐसे करें उपचार-
तुलसी के पत्ते का काढ़ा : एक लीटर पीनी में आधे से एक चम्मच लौंग पाउडर के साथ 15 से 20 तुलसी के पत्तों को एक साथ पानी में डालकर उबाल लें. इस पानी को तब तक उबालें जब तक घटकर पानी आधा न हो जाये. फिर इसका सेवन करें.
धनिया की चाय : धनिया के बीज शरीर को विटामिन देते हैं. वहीं इसमें पॉयथोन्यूटियंटस होते है. इसे तैयार करने के लिए एक कप पानी में एक चम्मच धनिया का बीज डालें. फिर उसे खौलने दें. खौलने के बाद उसमें थोड़ा सा दूध और स्वाद अनुसार चीनी डालकर उबाल आने दें. उबाल आने के बाद उसे छान लें और पी जायें. इससे वायल फीवर से काफी आराम मिलेगा और दो से तीन दिन में आप पूरी तरह ठीक हो जायेंगे.
चावल का स्टार्च : वायरल फीवर में पौराणिक समय से ही चावल का स्टार्च काफी लाभदायक सिद्ध हुआ है. इसे तैयार करने के लिए एक पतीले में आधा भाग चावल का और आधा भाग पानी डालकर चावल के आधा पकने दें. इसके बाद पानी को चावल से अलग कर ले. फिर उसे गरम-गरम पिये.
मेथी का पानी : वायरल फीवर में मेथी के बीज बेहद लाभकारी होते हैं और भारत वर्ष में मेथी के बीज हमारे घर में बेहद आसानी से रसोई घर में उपलब्ध होता है. रात के समय आधा कप पानी में एक बड़ा चम्मच मेथी के बीज के भिगोएं. इसके बाद सुबह उठते ही इसे पी लें.
सूखा अदरक : अदरक भी स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है. इसलिए इसका प्रयोग बेहद फलदायी है. इसे तैयार करने के लिए एक कप पानी में दो मध्यम आकार के सूखे अदरक और सोंठ का पाउडर डालकर कर कुछ देर तक उबालें. फिर उसमें हल्दी, काली मिर्च, चीनी डालें. मिश्रण को ठंडा होने पर पी लें. इस उपचार का प्रयोग दिन में तीन बार करें.

Must Read

Related Articles