इंडक्शन प्लांट बंद होने और ऑटो सेक्टर मंदी में झारखंड सरकार की निष्क्रियता के खिलाफ मौन पदयात्रा

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : जेबीएनएल द्वारा एचटीएसएस उपभोक्ताओं के बिजली दरों में की गई 38% की वृद्धि के कारण बंद पड़े कोल्हान के लगभग 25 इंडक्शन फर्नेस एवं ऑटो सेक्टर में आई मंदी को लेकर राजद चरणबद्ध तरीके से आंदोलन कर रही है. जहां बंदी के कगार पर आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र की लगभग 800 इकाइयों को चालू कराने में राजद ने झारखंड सरकार को निष्क्रिय बताया.

Advertisement
Advertisement

वहीं आज सरकार के खिलाफ राजद के प्रदेश महासचिव पुरेन्द्र नारायण सिंह के नेतृत्व में शेर-ए-पंजाब चौक आदित्यपु में मौन पदयात्रा किया गया. इस दौरान पदयात्रा में उपस्थित लोगों ने हाथों में स्लोगन लिखा हुआ तख्ती लेकर शेरे पंजाब से निकलकर आकाशवाणी चौक, और आकाशवाणी चौक से होते हुए शेर-ए-पंजाब चौक पहुंचे. मौन पदयात्रा में शामिल लोग एचटीएसएस उपभोक्ताओं के बिजली दरों में बढ़ोत्तरी वापस लेने, एचटीएसएस उपभोक्ताओं को एक अप्रैल 2019 से सब्सिडी देनी, टाटा मोटर्स स्थानीय उद्योगों को ऑर्डर देने, उद्योग विरोधी रघुवर सरकार इस्तीफा से इस्तीफा देने, संबंधी पोस्टर अपने हाथों में लिए चल रहे थे.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

इधर मौन पदयात्रा के उपरांत अपने संबोधन में पुरेंद्र नारायण सिंह ने कहा कि जेबीवीएनएल पुराने दर पर इंडक्शन फर्नेस और फाउंड्री उद्योगों सहित एचटीएसएस उपभोक्ताओं को विद्युत आपूर्ति करें. साथ ही सरकार ₹1.25 प्रति यूनिट सब्सिडी को 1 अप्रैल 2019 से लागू करे. इसके अलावे जेबीवीएनएल डीवीसी के दर पर एचटीएसएस उपभोक्ताओं को विद्युत आपूर्ति करें, या सरकार डीवीसी को कोल्हान में विद्युत आपूर्ति का लाइसेंस दे.

Advertisement


इसके अलावे ऑटो सेक्टर में आई मंदी के चलते आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र की लगभग 800 इकाइयों के बंदी के कगार पर पहुंचने और करीब 1 लाख मजदूरों के रोजी-रोटी की समस्या के निदान हेतु सरकार टाटा मोटर्स से स्थानीय कंपनी को ऑर्डर देने के लिए वार्ता करने के अलावा
मंदी के दौरान बैठाए गए मजदूरों को क्षतिपूर्ति भत्ता दिए जाने की मांग उन्होंने की. इधर मौन पदयात्रा कार्यक्रम में
अयोध्या गिरी, विमल दास, प्रमोद गुप्ता, अरविंद कुमार राय, संतोष यादव, अक्षय लाल पंडित, अधिवक्ता संजय कुमार, छविनाथ प्रसाद, रघुनाथ प्रसाद सिंह, समरेश कुमार, मिथिलेश झा, विजेंद्र कुमार, डॉक्टर लक्ष्मण ठाकुर, अशोक शर्मा, विजय कुमार, सकला मार्डी, संजय कुमार शर्मा सहित सैकड़ों लोग शामिल रहे.

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement