टाटा स्टील अपनी यूनाइटेड किंगडम के बिजनेस को करेगी बंद, 400 नौकरियां जायेंगी, नये सिर से एक प्लांट चालू करने में लगेंगे 433 करोड़, कंपनी ने बंद करने का लिया फैसला

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : टाटा स्टील की ओर से यूनाइटेड किंगडम स्थित अपने प्लांट को बंद करने की घोषणा कर दी है. इससे करीब 400 लोगों की नौकरियां जायेंगी. कंपनी की ओर से यह तय किया गया है कि घाटे में चल रही साउथ वेल्स की ऑर्ब इलेक्ट्रिकल स्टील्स साइट को बंद करेगी. कंपनी की ओर से काफी प्रयास किया गया कि इस प्लांट को संचालित किया जाता रहे, लेकिन इसको संचालित करना अब संभव नहीं है, जिस कारण इसको अब बंद किया जा रहा है. इंडियन स्टॉक एक्सचेंज को भी कंपनी की ओर से जानकारी दी गयी है. टाटा स्टील की ओर से ऐसे पांच सेक्टर को बेचने के लिए पेशकश की थी, जो यूरोप में नन कोर बिजनेस में आती थी. मई 2018 में ही इसको बेचने के लिए प्रस्ताव लाया गया था, लेकिन इसके खरीददार नहीं आये, जिस कारण अब कंपनी इसको संचालित नहीं कर सकती है. एक एजेंसी से बातचीत में टाटा स्टील यूरोप (जिसको पहले कोरस कहा जाता था) उसके सीइओ हेनरिक एडम ने बताया कि यूरोपीय स्टील बाजार काफी चुनौतियों से गुज रही है. ऐसे में इतने घाटे में ऑर्ब इलेक्ट्रिकल स्टील को संचालित करना संभव नहीं है. इसको मुनाफा में आने की भी कोई संभावना नहीं है. अगर कंपनी इसको संचालित करती है तो कंपनी को अतिरिक्त 50 मिलियन पाउंड यानी भारतीय रुपये में 433 करोड़ 71 लाख 76 हजार 140 रुपये का अतिरिक्त निवेश करना पड़ेगा, जो अभी संभव नहीं है. इसके अलावा टाटा स्टील अपने यूरोपीय प्लांट के कॉजेंट पावर को जापान के जेएफइ शोजी ट्रेड कारपोरेशन को बेचने जा रही है. इसके अलावा नन कोर पिटनेस के वलवर हैम्पटन इंजीनियरिंग स्टील्स सर्विस सेंटर को भी कंपनी बेचेगी, जिससे करीब 26 नौकरियां जा सकती है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement