टाटा स्टील के क्वार्टर का फिक्सअप होना और हुआ आसान, 3 फीसदी ही घटेगा अतिरिक्त निर्माण का मूल्य

Advertisement
Advertisement

जमशेदपुर : टाटा स्टील के कर्मचारियों का क्वार्टर का फिक्सअप होना अब और आसान हो गया है. मंगलवार को मैनेजमेंट और यूनियन के बीच हुई बैठक में इस पर फैसला लिया गया. इसके तहत टाटा स्टील के कर्मचारी अगर अपने क्वार्टर में गैराज या अन्य तरह का अतिरिक्त निर्माण कराते है तो उसके मूल्य में जो गिरावट होगी उसकी राशि सिर्फ 3 फीसदी ही रहेगी, जबकि अब तक 5 फीसदी क्वार्टर के अतिरिक्त निर्माण में घाटा होकर वैल्यूएशन लगाया जाने का प्रावधान तय किया गया था. इससे कर्मचारियों को काफी नुकसान हो रहा था. अगर कोई कर्मचारी को वर्ष 2002 में क्वार्टर मिलता है तो वह कुछ अतिरिक्त निर्माण एक लाख रुपए तक का कराता था तो जब 2019 में उक्त कर्मचारी क्वार्टर छोड़ देता है तो 17 साल उसके एक साल में हर साल 5 फीसदी घटाकर उक्त कर्मचारी को अतिरिक्त निर्माण का पैसा कंपनी देगी. लेकिन इससे कर्मचारियों को काफी नुकसान होता था. काफी कर्मचारियों का तो क्वार्टर छोड़ने पर एक भी पैसा नही मिलता था. ऐसे में कर्मचारियों के हित को मैनेजमेंट के पास यूनियन ने उठाया, जिसके आधार पर मंगलवार को फैसला हुआ और यह 5 फीसदी घटकर 3 फीसदी कर दिया गया.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement