पूर्वी सिंहभूम : नक्सल पर लगाम लगाने के लिए थानेदारों को किया गया सतर्क, गांवों में अभियान

Advertisement
Advertisement
सांकेतिक तस्वीर.

जमशेदपुर : पूर्वी सिंहभूम जिले से नक्सल को समाप्त करने के लिए जिला पुलिस की ओर से एक विशेष अभियान शुरू किया गया है. इस अभियान के तहत सबसे पहले एसएसपी में नक्सल प्रभावित क्षेत्र के सभी थानेदारों को सतर्क कर दिया है. साथ ही थानेदारों को अपने थाना क्षेत्र में विशेष अभियान भी चलाने के लिए कहा है. इस क्रम में अभियान को भी शुरू कर दिया गया है. खासकर पटमदा, घाटशिला, डुमरिया, पोटका, कमलपुर, बोड़ाम आदि क्षेत्र नक्सल प्रभावित है. 2 दिनों पूर्व की बात करें तो पटमदा थाना प्रभारी राजेश कुमार ने नक्सलियों के खिलाफ अभियान चलाते हुए जोडसा गांव पहुंचे हुए थे. उन्हें सूचना मिली थी कि जोड़सा में नक्सली गतिविधियां जारी है. इसके बाद वे दल बल के साथ वहां पहुंचे थे और वहां के लोगों से नक्सलियों के बारे में पूछताछ की. इस दौरान गांव के लोगों ने साफ कहा कि उन्होंने सचिन को नहीं देखा है. वह कब इस गांव में आया था, उन्हें इसकी जानकारी नहीं है. गांव के लोगों ने साफ कहा कि उन्हें अपने काम धंधा से ही फुर्सत नहीं है. नक्सलियों की जानकारी कैसे रखेंगे.

Advertisement
Advertisement

नक्सल प्रभावित गांवों का भी हो रहा विकास
जिला पुलिस, जिला प्रशासन और स्थानीय प्रखंड के सहयोग से नक्सल प्रभावित गांव का भी अब विकास होने लगा है. नक्सल प्रभावित कोई भी ऐसा गांव नहीं बचा हुआ है जहां पर विकास की किरण नहीं पहुंची है. सभी गांवों में सड़क, शौचालय, स्कूल और पानी की सुविधा दे दी गई है. जिस गांव में बिजली की सुविधा नहीं थी वहां पर बिजली भी पहुंचाने का काम किया गया है. जो इक्का-दुक्का गांव बचा हुआ है. उसे भी बिजली की सुविधा देने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है. जिला प्रशासन गांव के लोगों को यह बताना चाह रहा है कि उनके गांव का भी विकास होगा. लोग मुख्यधारा से भी जुड़ सकते हैं. लेकिन उन्हें हथियार रखना होगा. खुद को सरेंडर करना होगा.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement