spot_img

adityapur-issue-आदित्युपर के शिवपुरी कॉलोनी में भाजपा-विहिप नेताओं के बीच विवाद गहराया, विहिप के समर्थन में उतरी ब्रम्हाकुमारी संस्था और पार्षद, बिल्डर के साथ खड़े भाजपा नेता और उनके पिता

राशिफल

सरायकेला : सरायकेला-खरसावां जिले के आदित्यपुर थाना अंतर्गत शिवपुरी कॉलोनी स्थित मदर्स प्राइड विद्यालय के शिक्षक संजय दुबे ने अपने पड़ोसियों के खिलाफ सार्वजनिक रास्ता और पानी निकास का रास्ता अवरुद्ध किए जाने का विरोध करने पर पड़ोसी अजय कुमार सिंह सहदेव प्रधान एवं उनके पुत्र भाजपा नेता किशन प्रधान पर जान से मारने की धमकी दिए जाने का आरोप लगाया है. वैसे इस संबंध में उनके द्वारा आदित्यपुर थाने को भी लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है. इधर शुक्रवार को शिक्षक के समर्थन में पड़ोस में ही स्थित ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विद्यापीठ संस्थान भी आ गई है. साथ ही स्थानीय वार्ड पार्षद ने भी इस मामले में अजय कुमार सिंह, सहदेव प्रधान एवं भाजपा नेता किशन प्रधान को दोषी ठहराया है. ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विद्यापीठ ने भी शुक्रवार को अजय कुमार सिंह, सहदेव प्रधान एवं भाजपा नेता किशन प्रधान पर जबरन रास्ता और नाली को लेकर विवाद पैदा करने और संस्थान में शिक्षा ग्रहण करने आने वाले साधकों को परेशान करने का आरोप लगाया है. संस्थान की ओर से बताया गया, कि इसको लेकर कई बार आदित्यपुर थाना को अवगत कराया गया है, बावजूद इसके अजय कुमार सिंह, सहदेव प्रधान एवं उनके पुत्र भाजपा नेता किशन प्रधान द्वारा आए दिन किसी न किसी बात को लेकर विवाद पैदा किया जाता रहा है. अश्लील भाषाओं का प्रयोग एवं साधना के वक्त जबरन तेज आवाज में गाड़ी का हॉर्न बजाकर साधकों को परेशान किया जाता है. संस्थान की ओर से बताया गया, कि जिस रास्ते को लेकर अजय सिंह द्वारा विवाद पैदा किया जा रहा है, दरअसल वह रास्ता उनका है ही नहीं. वह रास्ता शिक्षक संजय दुबे, ब्रह्म कुमारी ईश्वरीय संस्थान एवं सहदेव प्रधान का है. सहदेव प्रधान द्वारा अजय कुमार सिंह को रास्ता मुहैया कराया गया है, लेकिन अजय कुमार सिंह एवं सहदेव प्रधान उस रास्ते को अपना निजी बताते हुए शिक्षक संजय दुबे एवं संस्थान में आने- जाने वाले साधकों का मार्ग अवरुद्ध किया जा रहा है. वही पार्षद ममता बेज ने बताया, कि इनके विवाद को लेकर जब चारों पक्षों को समझाया गया तो दो पक्ष यानी अजय सिंह एवं सहदेव प्रधान नहीं माने और जबरन शिक्षक एवं ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय संस्थान के साथ उलझ पड़े. जबकि यह विवाद पुराना है, और एसडीओ कोर्ट से फैसला शिक्षक के पक्ष में आया है. कुल मिलाकर इस पूरे मामले में दिन प्रतिदिन विवाद गहराता ही जा रहा है. अगर जल्द ही स्थानीय पुलिस एवं प्रशासन पहल नहीं करती है, तो निश्चित तौर पर आने वाले दिनों में मामला हिंसक रूप ले सकता है.

[metaslider id=15963 cssclass=””]

WhatsApp Image 2022-04-29 at 12.21.12 PM
WhatsApp-Image-2022-03-29-at-6.49.43-PM-1
Shiv Yog Physiotherapy And Yoga Classes
spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!