spot_imgspot_img

Global Statistics

All countries
265,764,339
Confirmed
Updated on December 5, 2021 2:48 PM
All countries
237,704,151
Recovered
Updated on December 5, 2021 2:48 PM
All countries
5,265,963
Deaths
Updated on December 5, 2021 2:48 PM
spot_img

adityapur-Municipal council- पार्षद की शिकायत के बाद सामुदायिक भवन में लटका ताला, दुर्गा मंदिर में कैंप लगाकर स्वास्थ्य कर्मियों ने दी वैक्सीन, वैक्सीन के लिए लाइन में लगी युवती बेहोश, पार्षद के खिलाफ रोष

Advertisement


आदित्यपुरः सरायकेला जिले के आदित्यपुर नगर निगम के वार्ड पांच के सनकी पार्षद की वजह से जिले में सबसे ज्यादा वैक्सीन का रिकॉर्ड बनानेवाला सेंटर पर ताला लटक गया है. रविवार को वैक्सीन लेने पहुंचे लोगों को मायूसी हाथ लगी और मजबूर होकर धूप में वैक्सीन लेने घण्टों अपनी बारी आने की आस में खड़े रहे. वैसे चिलचिलाती धूप के बीच अपनी बारी के इंतजार में खड़ी एक युवती बेहोश होकर गिर पड़ी जिसे आनन-फानन में परिजन घर ले गए. पार्षद की मनमानी से लोगों में नाराजगी देखी गई.(नीचे भी पढे)

Advertisement
Advertisement

गौरतलब है, कि आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र के वार्ड 5 स्थित दुर्गा पूजा मैदान के सामुदायिक भवन में हर दिन दो से ढाई सौ लोगों को कोविड-19 का वैक्सीन दिया जाता है. यही कारण है कि जिले का सर्वाधिक वैक्सीन देने वाला सेंटर यह बना हुआ है. इधर स्थानीय पार्षद सिद्धनाथ सिंह यादव द्वारा नगर निगम में उक्त सामुदायिक भवन में अनैतिक कार्य होने की शिकायत दर्ज कराई गई, जिसके बाद नगर निगम प्रशासन की ओर से शनिवार देर शाम सामुदायिक भवन में तालाबंदी कर दी गई. (नीचे भी पढे)

Advertisement

इधर रविवार को वैक्सीन देने पहुंचे स्वास्थ्य कर्मियों ने जब देखा, कि सामुदायिक भवन में ताला लटका हुआ है, तो बगल के ही दुर्गा मंदिर में कैंप लगा दी. वहीं वैक्सीन लेने पहुंचे लोग पार्षद की बेरुखी और तुगलकी फरमान के कारण धूप में खड़े होकर अपनी बारी आने का इंतजार करते नजर आए. यहां वैक्सीन देने पहुंची महिला स्वास्थ्य कर्मियों एवं वैक्सीन लेने पहुंच रही महिलाओं के लिए शौचालय का प्रबंध नहीं होने से खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा. इसको लेकर नगर निगम प्रशासन के आला अधिकारियों ने कुछ भी बताने से इंकार कर दिया. (नीचे भी पढे)

Advertisement

स्थानीय लोगों ने बताया, कि जब इस संबंध में नगर निगम प्रशासन से जानकारी ली गई तो, उन्होंने बताया कि पार्षद द्वारा शिकायत मिलने के बाद उक्त केंद्र को बंद किया गया है, हालांकि इसका कोई लिखित आदेश नगर निगम प्रशासन उपलब्ध नहीं करा सका. आपको बता दें, कि इससे पूर्व भी पार्षद द्वारा सामुदायिक भवन का बिजली का कनेक्शन कटवाया गया था, जिसे स्थानीय लोगों द्वारा विभागीय पदाधिकारियों से बात कर जुड़वाया गया था. (नीचे भी पढे)

Advertisement

अब इसके पीछे का कारण क्या है, यह तो पार्षद, नगर निगम प्रशासन अथवा स्थानीय जनता ही बता सकती है. स्थानीय लोगों ने बताया कि पार्षद से संपर्क किया गया मगर उन्होंने फोन नहीं उठाया, नगर निगम के सिटी मैनेजर ने पार्षद से संपर्क करने की बात कही. आखिर केंद्र सरकार के कोरोना के खिलाफ जारी देशव्यापी जंग में एक जिम्मेदार पद पर बैठे जनप्रतिनिधि, नगर निगम प्रशासन की बेरुखी क्यों ?

Advertisement
Advertisement
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM
IMG-20200108-WA0007-808x566
WhatsApp Image 2020-06-13 at 7.45.22 PM (1)
WhatsApp_Image_2020-03-18_at_12.03.14_PM_1024x512
previous arrow
next arrow

Leave a Reply

spot_img

Must Read

Related Articles

Don`t copy text!